सोशल मीडिया

चलो बुलावा आया है, एक दिन में वैष्णो देवी ने सिर्फ 50 हजार को बुलाया है

Posted Date : 14-Nov-2017



नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल (एनजीटी) ने जम्मू-कश्मीर स्थित वैष्णो देवी के दर्शन के लिए आने वाले लोगों की संख्या सीमित कर दी है। अब रोजाना केवल 50 हजार लोग ही दर्शन कर सकेंगे। एनजीटी ने कहा है कि मंदिर का मौजूदा ढांचा 50 हजार से ज्यादा लोगों का भार नहीं उठा सकता और ज्यादा भीड़ से वहां नुकसान पहुंच सकता है। इस खबर पर सोशल मीडिया में कई लोगों ने एनजीटी को आड़े हाथों लिया है और इसे हिंदू धर्म के खिलाफ बताया है। ट्विटर हैंडल गप्पिस्थानरेडियो पर सवाल उठाया गया है, नवरात्रि के समय वैष्णो देवी (मंदिर) में क्या होता है? तब 50 हजार की सीमा लागू नहीं होगी। कटरा फट पड़ेगा अगर वहां तीर्थ यात्रियों को रोका गया। क्या एनजीटी में कोई व्यवहारिक व्यक्ति नहीं है? हालांकि इस फैसले का समर्थन करने वालों की भी यहां कमी नहीं है। मनोज कुमार का ट्वीट है, जो लोग कभी वैष्णो देवी के दर्शन करने नहीं गए, वे ही एनजीटी के निर्देशों का विरोध कर रहे हैं। वहां पैदल यात्रियों, खच्चर और बैटरी से चलने वाली कारों के चक्कर में भारी अफरा-तफरी मची रहती है।
गुजरात के युवा नेता और पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के प्रमुख हार्दिक पटेल का एक कथित सेक्स वीडियो भी आज सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इसके बहाने भाजपा समर्थकों ने हार्दिक को कटघरे में खड़ा किया है। वहीं दूसरी तरफ एक बड़े तबके ने इस युवा नेता का बचाव इस तर्क के आधार पर किया है कि यह सहमति से सेक्स का मामला है और अगर वीडियो सही है तो इसमें हार्दिक की निजता का उल्लंघन हुआ है। वरिष्ठ टीवी पत्रकार अजित अंजुम ने फेसबुक पर लिखा है, चाहे हार्दिक पटेल हों या कोई और, मेरी राय हमेशा यही रहेगी जब तक सीडी वाली लड़की शिकायत न करे, तब तक यह निजी मामला है।
सोशल मीडिया में इन दोनों खबरों पर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं-
राजाराम एम- धार्मिक स्वतंत्रता के लिहाज से वैष्णो देवी में भक्तों की संख्या को सीमित करने का एनजीटी का फैसला असंवैधानिक है। लोगों को ऐसे गैरकानूनी फैसलों की अनदेखी करनी चाहिए!
अभिषेक मिश्रा- मां वैष्णो देवी के बजाय यह दिल्ली पर ध्यान देने का वक्त है, लेकिन इस मामले में एनजीटी असफल हो गया है।
चुस्की चाबू- चलो बुलावा आया है। एक दिन में वैष्णो देवी ने सिर्फ 50 हजार को बुलाया है।
कंवल चड्ढा- भाजपा ने गुजरात में हार्दिक पटेल की एक सेक्स सीडी रिलीज की है। भारत की हवा के मुकाबले राजनीति ज्यादा प्रदूषित हो गई है।
हार्दिक पंड्या- तो हार्दिक पटेल की सेक्स लाइफ है। लेकिन यह मुद्दा क्यों है और इसका हार्दिक के राजनीतिक करियर से क्या संबंध है? (सत्याग्रह)




Related Post

Comments