सोशल मीडिया

सोनियाजी के रिटायरमेंट के बाद अब कांग्रेस के पास भाजपा से ज्यादा काबिल मार्गदर्शक मंडल होगा!

Posted Date : 16-Dec-2017



राहुल गांधी के कांग्रेस का अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद जैसी कि अटकलें लग रही थीं, आज कांग्रेस पार्टी की वर्तमान अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने पद से रिटायर होने की बात कह दी है। सोनिया गांधी शुक्रवार को शुरू हुए संसद के शीतकालीन सत्र को लेकर पत्रकारों से बात कर रही थीं और यहां इस सवाल पर कि पार्टी की कमान राहुल गांधी हाथ में आने के बाद उनकी भूमिका क्या होगी, उन्होंने कहा, मेरा काम अब सेवानिवृत्त होना है। न्यूज चैनलों और वेबसाइटों पर यह खबर आने के बाद फेसबुक और ट्विटर पर सोनिया गांधी लगातार ट्रेंड कर रही हैं।
यहां कांग्रेस समर्थकों ने करीब दो दशक तक पार्टी का नेतृत्व करने के लिए सोनिया गांधी का आभार जताते हुए टिप्पणियां की हैं। इसके अलावा कई लोगों ने यहां उनके कार्यकाल में कांग्रेस द्वारा अर्जित सफलताओं का भी जिक्र किया है। न्यूज वेबसाइट द क्विंट के संस्थापक राघव बहल का ऐसा ही ट्वीट है, सोनिया गांधी के कार्यकाल की दो चीजें सबसे उल्लेखनीय रहीं- 1. उनके रहते 1999, 2004 और 2009 (एक दुर्लभ चुनावी उपलब्धि) के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की सीटें बढ़ीं, 2. अपने ऊपर ओछे से ओछे राजनीतिक हमलों पर भी उन्होंने आपा नहीं खोया और गरिमा बनाए रखी...।
हालांकि सोनिया गांधी के रिटायरमेंट वाले बयान पर पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सफाई दी है कि वे कांग्रेस के अध्यक्ष पद से रिटायर हो रही हैं, राजनीति से नहीं। सोशल मीडिया में इस ट्वीट का जिक्र करते हुए भी ढेरों प्रतिक्रियाएं आई हैं और लोगों ने सोनिया गांधी के 'रिटायरमेंटÓ पर सवाल उठाए हैं। ट्विटर हैंडल  सेकबी पर टिप्पणी है, क्या रिटायरमेंट की उनकी छिपी हुई भूमिका वह तो नहीं होगी जहां वे लोगों को अपनी उंगलियों पर नचाती रहेंगी।
सोशल मीडिया में सोनिया गांधी के इस बयान पर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं-
भाड़ में जा- सोनिया गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष पद से उसी तरह रिटायर हो रही हैं जैसे उन्होंने 2004 और 2009 में ज्यादा काबिल मनमोहन सिंह के लिए प्रधानमंत्री के पद का त्याग किया था।
जया- सोनिया गांधी का रिटायरमेंट तो 2014 में ही हो गया था, ऐलान बस अब किया गया है।
अकुल शुक्ला- कांग्रेस के तीन अध्यक्ष एक ही तस्वीर में- इंदिरा गांधी, सोनिया गांधी, राहुल गांधी। (गोद में प्रियंका गांधी हैं)
सारा अली खान-सोनिया गांधी के रिटायर होने के लिए बचा ही क्या था? कर्नाटक के अलावा लगभग सभी राज्य तो उनके हाथ से निकल चुके हैं...।
शकुनि मामा- सोनियाजी के रिटायरमेंट के बाद अब कम से कम कांग्रेस के पास भाजपा से ज्यादा काबिल मार्गदर्शक मंडल तो होगा ही।
सागर- यहां तक कि सोनिया गांधी भी रिटायर हो रही हैं लेकिन अडवानी जी ने अभी तक उम्मीद नहीं छोड़ी है। (सत्याग्रह)




Related Post

Comments