सोशल मीडिया

राहुल गांधी के फिल्म देखने पर मचा घमासान

Posted Date : 20-Dec-2017



गुजरात और हिमाचल प्रदेश में चुनाव हारने के बाद राहुल गांधी फिल्म देखने गए। ये दावा किया है टाईम्स नाऊ टीवी चैनल ने। चैनल ने एक टाइमलाइन बनाकर बताया कि सोमवार शाम को जब प्रधानमंत्री मोदी चुनावी नतीजों का विश्लेषण कर रहे थे, तब राहुल गांधी एक सिनेमा हॉल में हॉलीवुड की फिल्म स्टार वॉर्स देख रहे थे। चैनल का दावा है कि उनकी टीम उस सिनेमा हॉल में पूछताछ करके आई है और उन्हें मालूम है कि राहुल गांधी चार दोस्तों के साथ जे पंक्ति में पॉश सोफा सीट पर बैठकर शाम का शो देख रहे थे।
चैनल ने ट्विटर पर इसका एलान करके एक हैशटैग आर यू सीरियस राहुल भी चलाया जिस पर प्रतिक्रियाओं की झड़ी लग गई। बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने तो एक के बाद एक तीन ट्वीट किए।
पहले ट्वीट में अमित मालवीय ने कहा कि इतने ही गंभीर हैं राहुल गांधी राजनीति को लेकर- गुजरात में कांग्रेस के हारने के बाद जब उन्हें मीडिया और अपने कैडर से बात करनी चाहिए थी, वे फिल्म देख रहे थे। बिल्कुल 26/11 के बाद पार्टी करने की तरह! जनता से किए वादों के ऊपर निजी अवकाश को तरजीह?
लेकिन इस ट्वीट में हिमाचल का जिक्र नहीं था। ऐसे में तुरंत ही दूसरा ट्वीट आया, और गुजरात को भी छोडि़ए, कांग्रेस हिमाचल में भी हार गई और राहुल गांधी स्टार वॉर्स देखने में व्यस्त रहे!
दो घंटे बाद तीसरा ट्वीट करके अमित मालवीय ने कहा कि अगर राहुल गांधी फिल्म छोड़कर गुजरात में (हिमाचल तो घोर पराजय थी) अपनी पार्टी के प्रदर्शन का विश्लेषण कर लेते तो उन्हें पता होता कि सौराष्ट्र में, जहां उनकी पार्टी ने ज्यादा सीटें जीती हैं, वहां भी बीजेपी को ज्यादा वोट मिले हैं। (कांग्रेस के 45.5 फीसदी के मुकाबले 45.9फीसदी) 
अमित मालवीय की ट्वीट के बाद यह हैशटैग ट्रेंड करने लगा। जिसके जवाब में टाईम्स नाऊ से नाराज लोगों ने आर यू सीरियस टाईम्स नाऊ हैशटैग शुरू किया।
कांग्रेस की सोशल मीडिया प्रभारी दिव्य स्पंदन उर्फ राम्या ने स्टार वॉर्स के ही एक पात्र का जिक्र करते हुए ट्वीट किया कि कैसा हो अगर मैं आपको बताऊं कि टाईम्स नाऊ पर सिथ के डार्क लॉर्ड ने कब्जा जमा लिया है?
स्टार वॉर्स सिरीज में सिथ बुरे लोगों का समुदाय है और डार्क लॉर्ड उनके नेता।
सैमसेज नाम के एक हैंडल ने टाईम्स नाऊ से पूछा कि राहुल गांधी राष्ट्रगान के लिए खड़े हुए? उन्होंने पॉपकॉर्न खाए या नैचोज? बाथरूम कितनी बार गए?
वरिष्ठ पत्रकार प्रीतीश नंदी ने पूछा कि मुझे समझ नहीं आ रहा कि राहुल गांधी के स्टार वॉर्स देखने से ये टीवी एंकर परेशान क्यों है? क्या यह भी कोई विनाशकारी हरकत है?
पत्रकार स्वाति चतुर्वेदी ने पूछा कि क्या फिल्म देखना भी देशद्रोह है? समस्या क्या है? क्या स्टार वॉर्स भी पद्मावती की तरह हिट लिस्ट में थी? क्या यही पत्रकारिता है? वाकई?
वरिष्ठ फिल्म कॉलमनिस्टअन्ना एमएम वेट्टिकैड ने कहा कि हमें ये बताने के लिए शुक्रिया टाईम्स नाऊ कि अब सिनेमा हॉल में फिल्म देखना भी निंदा करने लायक काम हो गया है। तुम्हें ज्यादा पसंद आता अगर राहुल गांधी कर्नाटक के विधायकों की तरह अपने मोबाइल फोन पर पॉर्न देखते?
इनविसिबल नाम के ट्विटर हैंडल ने नरेंद्र मोदी की मार्च 2013 की ट्वीट को रिट्वीट किया जिसमें नरेंद्र मोदी ने बताया था कि वे गुजरात के सारे विधायकों और उनके परिवारों को अहमदाबाद के आईमैक्स थ्रीडी थियेटर में मूवी दिखाने ले जा रहे हैं।
सर रविंद्र जडेजा नाम के पैरोडी अकाउंट ने पूछा कि एक राष्ट्रीय चैनल राहुल गांधी के फिल्म देखने को प्राइम टाइम की बहस का मुद्दा बना रहा है। वाकई टाईम्स नाऊ? और भी महत्वपूर्ण मुद्दे हैं। (बीबीसी)




Related Post

Comments