खेल

'ये आंकड़ें' अजिंक्य रहाणे को रोहित शर्मा से बेहतर दावेदार बना रहे

Posted Date : 09-Jan-2018



नई दिल्ली, 9 जनवरी: केपटाउन टेस्ट में भारतीय बल्लेबाज़ी पूरी तरह से फ़्लॉप साबित हुई एक हार्दिक पांड्या की पारी को छोड़ कोई मुख्य बल्लेबाज़ कुछ खास नहीं कर सका. ऐसे में टीम के उपकप्तान और विदेशी जमी पर भारत के सबसे सफल बल्लेबाजों में से एक अजिंक्य रहाणे को ड्रॉप कर रोहित शर्मा के चयन पर सवाल उठना लाजमी था. रोहित केपटाउन टेस्ट उछाल भरी पिच पर दोनो पारियों में असहज दिखे और मैच की 2 पारियों में कुल 21 रन ही जोड़ सके लेकिन कप्तान का कहना है कि चयन मौजूदा फॉर्म पर हुआ. भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने कहा, 'हमने मौजूदा फॉर्म के साथ जाने का फैसला किया. रोहित ने पिछले 3 टेस्ट में बेहतरीन प्रदर्शन किया और वो श्रीलंका सीरीज़ में अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे'

वैसे दोनो खिलाड़ियों की तुलना करें तो रहाणे बेहद आगे दिखाई देते हैं. रोहित शर्मा ने विदेशी ज़मीं पर खेले 15 टेस्ट मैचों में 653 रन 25.11 की औसत से बनाए हैं. वहीं खासतौर पर दक्षिण में किए गए देखें तो वह 3 टेस्ट की 6 पारियों में महज 66 रन ही जोड़ सके हैं. मात्र 11 रन की औसत से. इसकी तुलना में अजिंक्य रहाणे के रिकॉर्ड को देखें तो  उन्होंने विदेशी जमीं पर खेले 24 टेस्ट में 1,817 रन 53.44 की औसत से बनाए हैं. इसमें 6 शतक और 9 अर्धशतक शामिल हैं. वहीं दक्षिण अफ्रीका में खेले 2 टेस्ट में उन्होंने 209 रन 69.66 की औसत से बनाए हैं. इसके बावजूद इस प्रदर्शन को नजरअंदाज कर अजिंक्य रहाणे को ड्रॉप कर दिया गया

कप्तान विराट कोहली कहते हैं, 'ये सभी बातें हाइंडसाइट में मैच के बाद देखी जा सकती हैं. और सोचा जा सकता है कि ऐसा होता तो क्या होता. यह फैसला लिया जा सकता था, लेकिन हमने इस कॉम्बिनेशन के साथ जाने का फैसला मौजूदा फॉर्म को देखते हुए किया' बता दें कि श्रीलंका के खिलाफ रहाणे ने 3 टेस्ट की 5 पारियों में महज 17 रन बनाए थे. लेकिन उस प्रदर्शन के विदेशी जमी पर क्या मायने हैं? ठीक उसी तरह जब भारत के फ्लैट ट्रैक पर शतक और दोहरे शतक बनाने वाले बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीका के उछाल और स्विंग लेते हालात में फिसड्डी साबित हो रहे हैं.

वास्तव में विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट पर दूसरे टेस्ट में अजिंक्य रहाणे को खिलाने को लेकर बहुत ही ज्यादा दबाव है. अब देखने की बात यह होगी कि क्या विराट केपटाउन टेस्ट की टीम के साथ ही मैदान पर उतरेंगे, या फिर फाइनल इलेवन में कोई बदलाव होगा. (ndtv)




Related Post

Comments