मनोरंजन

Toilet Ek Prem Katha Review: जानिए, फर्स्ट शो देखने के बाद क्या रहा लोगों का रिएक्शन


देश भर की 3000 स्क्रीन्स पर रिलीज की गई अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर की फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ को पब्लिक से अच्छा रिएक्शन मिल रहा है। फिल्म की कहानी और बाकी चीजों को लेकर पब्लिक की तरफ से मिल रहा रिएक्शन पॉजिटिव है। माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर इस फिल्म की लोग खूब तारीफें कर रहे हैं। सेकेंड हाफ और क्लाइमैक्स की तुलना में फिल्म के फर्स्ट हाफ को लोग ज्यादा पसंद कर रहे हैं। दर्शकों का कहना है कि फिल्म का फर्स्ट हाफ बहुत एंटरटेनिंग है और दूसरे हाफ में असल में सोशल मैसेज देने की कोशिश की गई है। भारत के अलावा बाकी देशों में 590 स्क्रीन्स पर रिलीज की गई इस फिल्म के लिए ट्विटर पर यूजर सचिन कुमार ने लिखा- बस अभी टॉयलेट एक प्रेम कथा देख कर उठा हूं… डियर अक्की और बाकी लोग जिन्होंने यह फिल्म बनाई है, नेशनल अवॉर्ड आपकी तरफ बढ़ रहा है।
एक अन्य यूजर ने लिखा- जो शख्स अक्षय कुमार से नफरत करता हो उसके अलावा कोई माई का लाल इस फिल्म को बुरा नहीं बता सकता। मनोरंजन की गारंटी है। यूजर इंद्रजीत सिंह ने लिखा- पहला हाफ शानदार है, मजेदार सीन्स से लबरेज, दूर दूर तक कोई बोरियत नहीं.. अक्षय और भूमि अपनी फुल फॉर्म में हैं। बता दें कि ज्यादातर लोग फिल्म के फर्स्ट हाफ से बहुत खुश हैं, सेकेंड हाफ से जहां कुछ लोग निराश हैं वहीं कुछ लोग इसे सोशल मैसेज के साथ एक अच्छा कॉम्बिनेशन बता रहे हैं। फिल्म की कहानी एक वास्तविक घटना पर आधारित है जिसमें एक शख्स की पत्नी ससुराल में टॉयलेट नहीं होने पर अपने पति को छोड़ कर मायके चली जाती है।
फिल्म के प्रमोशन के लिए अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। कहानी की बात करें तो केशव यानि अक्षय कुमार को जया यानि भूमि पेडनेकर से प्यार हो जाता है और कुछ मुश्किलों के बाद दोनों शादी कर लेते हैं। शादी के अगले दिन जया को यह अहसास होता है कि केशव के घर में टॉयलेट नहीं है और इस वजह से महिलाओं को आधी रात में खुले में शौच करने के लिए जाना पड़ता है। इसके बाद वह उनसे रूठ कर चली जाती हैं जिसके बाद अक्षय कुमार यह शपथ लेते हैं कि वह गांव में टॉयलेट बनवा कर ही दम लेंगे। (जनसत्ता)
 

 


Related Post

Comments