राजनीति

Posted Date : 11-Dec-2017
  • 2000 बाइकों के साथ निकले हार्दिक
    अहमदाबाद, 11 दिसंबर। गुजरात विधानसभा चुनाव में दूसरे चरण के मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के रोड शो रद्द कर दिए गए हैं। दोनों नेताओं को अहमदाबाद में रोड शो करने थे, लेकिन प्रशासन ने इसकी इजाजत देने से इंकार कर दिया।
    पीएम मोदी और राहुल गांधी के अलावा पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को भी रोड शो करने की परमिशन नहीं दी। बावजूद इसके हार्दिक ने रोड शो किया। बड़ी संख्या में कार और बाइक सवारों के साथ हार्दिक ने अहमदाबाद में रोड शो किया। हार्दिक के रोड शो 2 हजार से ज्यादा बाइकों पर उनके समर्थक शामिल हुए। 
    स्थानीय प्रशासन ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए ये फैसला लिया था। प्रशासन का मानना है कि अहमदाबाद में रोड शो से कानून व्यवस्था की समस्या पैदा हो सकती है, जिसके चलते पीएम मोदी, राहुल गांधी और हार्दिक पटेल की अपील खारिज कर दी गई।
    पुलिस कमिश्नर अनूप कुमार सिंह ने बताया कि कांग्रेस और बीजेपी की तरफ से कल के लिए रोड शो की इजाजत मांगी गई थी। लेकिन सुरक्षा कारणों के उन्हें परमिशन नहीं दी गई।
    हालांकि, पीएम मोदी को अहमदाबाद में रोड शो की परमिशन नहीं मिली, लेकिन वो अपनी प्रस्तावित रैली को संबोधित कर सकेंगे। पीएम मोदी को शाम करीब 7 बजे अहमदाबाद में साबरमती रिवर फ्रंट पर रैली करनी है। वहीं, दूसरी तरफ हार्दिक पटेल को भी रोड शो रद्द कर कार से चुनाव प्रचार करने की परमिशन दी गई थी। हार्दिक को 4-5 गाडिय़ों के साथ चुनाव प्रचार की इजाजत दी गई थी। लेकिन वो बड़े काफिले के साथ अहमदाबाद की सड़कों पर उतरे।  (आज तक)

     

    ...
  •  


Posted Date : 11-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 11 दिसंबर। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात को लेकर एक के बाद एक सवाल पूछ रहे हैं। आज राहुल ने पीएम नरेंद्र मोदी से 13वां सवाल पूछा है। इस सवाल में राहुल ने पीएम को मौनसाहब कहकर तंज कसा और पूछा कि उन्होंने किसके अच्छे दिन के लिए बनाई सरकार। 
    राहुल ने लिखा कि कहते थे देंगे जवाबदेह सरकार, किया लोकपाल क्यों दरकिनार? जीएसपीसी, बिजली-मेट्रो घोटाले, शाह-जादा पर चुप्पी हर बार, मित्रों की जेब भरने को हैं बेकरार, लंबी है लिस्ट और मौनसाहब से है जवाब की दरकार, किसके अच्छे दिन के लिए बनाई सरकार?
    राहुल पिछले तीन दिनों से रोज सुबह पीएम मोदी से गुजरात से संबंधित एक सवाल पूछते हैं। कांग्रेस ने गुजरात चुनाव को लेकर यह नई रणनीति बनाई है। राहुल रोज नए सवाल के साथ आकड़ें भी रख रहे हैं। 
    फिलाहल भाजपा और मोदी की तरफ से इस पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। देखना होगा कि भाजपा किस अंदाज में राहुल पर पलटवार करती है।(पंजाब केसरी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 11-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 11 दिसंबर। बॉलीवुड अभिनेता से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा अक्सर अपने बयानों से अपनी ही पार्टी बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरते रहते हैं। एक बार फिर शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। पाकिस्तान और कांग्रेस के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने भी गुजरात चुनाव में पाकिस्तान का हाथ होने वाले पीएम मोदी के बयान पर उन्हें जवाब दिया है। 
    शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा- माननीय सर, किसी भी तरह चुनाव जीतो, क्या यह जरूरी है कि रोजाना राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ नए, अनसुलझे और अविश्वसनीय कहानियों का समर्थन किया जाए? अब उन्हें पाकिस्तान उच्चायुक्त और जनरल से जोड़ रहे हैं? अविश्वसनीय। अपने अगले ट्वीट में सिन्हा ने लिखा- बजाए नए ट्विस्ट एंड टर्न और कहानियों के सीधा अपने वादों पर जाएं जो हमने किए थे, जैसे कि हाउसिंग डिवेलपमेंट, युवाओं को रोजगार देना, स्वास्थ्य और विकास मॉडल। माहौल को साम्प्रदायिक बनाना बंद करें और वापस स्वस्थ राजनीति और स्वस्थ चुनावों में वापस जाएं। जय हिंद।
    बिना कोई सबूत जारी किए रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पालनपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए आरोप लगाया था कि पाकिस्तान गुजरात चुनाव में दखलअंदाजी कर रहा है। (जनसत्ता)

     

    ...
  •  


Posted Date : 11-Dec-2017
  • नागपुर, 11 दिसंबर । बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने हिंदू धर्म छोडऩे की धमकी दी है। मायावती ने रविवार को कहा कि अगर आरएसएस और भारतीय जनता पार्टी दलित और पिछड़े वर्ग पर अत्याचार नहीं रोकते हैं तो वो अपने समर्थकों के साथ मिलकर बौद्ध बन जाएंगी।
    नागपुर में बसपा की एक सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, साल 1935 में डॉ.आंबेडकर ने कहा था कि उनका जन्म हिंदू परिवार में हुआ लेकिन वो हिंदू के रूप में इस दुनिया से जाएंगे नहीं। उन्होंने हिंदू धार्मिक नेताओं को सुधार के लिए 21 साल का वक्त दिया था।
    उन्होंने आगे कहा, मैं चेतावनी देती हूं कि अगर भाजपा और आरएसएस नहीं सुधरे तो मैं भी अपने करोड़ों समर्थकों के साथ बौद्ध धर्म अपना लूंगी।(द हिंदू)

    ...
  •  


Posted Date : 10-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 10 दिसंबर। देश की जानी मानी महिला प्रोफेसर और लेखिका मधु पूर्णिमा किश्वर ने अपने ट्विटर हैंडल से कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की एक आपत्तिजनक तस्वीर पोस्ट की है। इस तस्वीर को पोस्ट करते हुए इस मधु ने कुछ ऐसी बातें भी लिखी हैं जो विवाद का कारण बन सकता है। मधु सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटीज (सीएसडीएस), दिल्ली में आधारित और सीएसडीएस पर आधारित इंडिक स्टडीज प्रोजेक्ट की निदेशक हैं। इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य भारतीय सैद्धांतिकता में धर्म और संस्कृतियों के अध्ययन को बढ़ावा देना है। मधु किश्वर ने अब तक 12 डॉक्यूमेंट्री बनाई हैं और बॉलीवुड पर एक किताब लिख रही हैं। वो जेएनयू की छात्रा रह चुकी हैं। मधु किश्वर ने राहुल गांधी की जो फोटो पोस्ट की है उसमें उन्हें फोटोशॉप की मदद से मुसलमानों द्वारा पहनी जाने वाली जालीदार टोपी, जनेऊ, रुद्राक्ष की माला के साथ ही इसाइयों के क्रॉस के लॉकेट को पहने हुए दिखाया गया है। मधु किश्वर ने इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा- परफेक्ट एक्जाम्पल ऑफ ना घर का, ना घाट का.. जालिम राजनीति अच्छे भले इंसान को बंदर बना देती है।
    मधु किश्वर के इस ट्वीट पर लोग अपनी तीखी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। लोग लिख रहे हैं कि सभी धर्मों का आदर करने को आप जैसों की नजर में 'ना घर का ना घाट काÓ कहते होंगे। ऐसी सोच की खिल्ली उड़ाना आजकल फैशन के खिलाफ है, पर यही देश को तरक्की की तरफ ले जा सकता है। वहीं कुछ ने लिखा कि शर्म आती है कि एक प्रोफेसर इस तरह की बात कर रही हैं। कुछ लोग ये भी लिख रहे हैं कि आप पीएम मोदी के बारे में कुछ नहीं लिख सकते लेकिन राहुल गांधी के बारे में कितना भी घटिया लिख लो। (एजेंसी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 10-Dec-2017
  • अहमदाबाद, 10 दिसंबर। गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के प्रचार के लिए मैदान में उतरे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज डाकोर के प्रसिद्ध रणछोडज़ी मंदिर के दर्शन किए। गुजरात में आज उनकी चार रैलियां हैं। गुजरात के चुनाव में राहुल गांधी का मंदिर जाना एक चुनावी मुद्दा बन चुका है। माना जा रहा है कि राहुल गांधी का मंदिर में जाने के पीछे कांग्रेस की संतुष्टिकरण की छवि तोडऩा है। 
    हालांकि वह सोमनाथ के दर्शन के दौरान विवादों में भी फंस चुके हैं। बीजेपी का आरोप था कि राहुल ने गैर-हिंदू वाले रजिस्टर में दस्तखत क्यों है। इसके बाद कांग्रेस को राहुल की जनेऊधारण करने वाली फोटो जारी करनी पड़ गई थी।
    गुजरात में पहले चरण का चुनाव शनिवार हो गया है और अब दूसरे चरण का चुनाव 14 दिसंबर को होना है। इस बार 93 सीटों के लिए मतदान होगा।   (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 10-Dec-2017
  • लखनऊ, 10 दिसंबर। समाजवादी पार्टी  के संरक्षक मुलायम सिंह यादव का कहना है कि प्रधानमंत्री के लिए नीच शब्द का इस्तेमाल करने वाले कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर को पार्टी से निष्कासित कर दिया जाना चाहिए। मुलायम ने कहा, कांग्रेस नेता द्वारा प्रधानमंत्री के लिए नीच शब्द का इस्तेमाल करना निश्चित तौर पर गलत है। इस तरह की भाषा बोलने वाले व्यक्ति को न केवल निलंबित कर दिया जाना चाहिए, बल्कि उसे पार्टी से भी निष्कासित कर दिया जाना चाहिए।
    उन्होंने कहा कि देश की राजनीति में बहुत बड़ा अन्तर आया है। पहले की राजनीति और अब की राजनीति मे बड़ा बदलाव हुआ है। सकारात्मक राजनीति लुप्त हो गयी है। एक दूसरे पर कीचड़ उछालना आम बात हो गयी है। मुलायम ने एक सवाल के जवाब में कहा कि देश में जो हालात चल रहे हैं और जिस तरह से सरकार चल रही है, सरकार के कामकाज को लेकर एक बड़े आन्दोलन की जरूरत है। आगे आने वाले समय में आन्दोलन चलाया जाएगा।
    उत्तर प्रदेश सरकार के कामकाज को लेकर मुलायम ने कहा कि इस सरकार में सभी परेशान हैं चाहे किसान, कामगार, मजदूर, कारोबारी हो या सरकारी कर्मचारी हो, सब परेशान हैं। विकास कार्य ठप है। हमने अपनी सरकार में पांच चीजों सड़क, शिक्षा,  स्वास्थ्य, पानी, बिजली को प्राथमिकता पर रखा था। इससे नौजवानों को रोजगार भी मिला था और प्रदेश में विकास भी हुआ था। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • अहमदाबाद, 9 दिसंबर। गुजरात में आज पहले चरण के चुनाव में 89 सीटों पर वोटिंग हो रही है। हार्दिक पटेल की पाटीदार अमानत आंदोलन समिति के वरिष्ठ नेता दिनेश बंभानिया ने आरोप लगाया है कि आंदोलन के नेता का कांग्रेस पार्टी को समर्थन देना उनके बीच किसी प्रकार की 'फिक्सिंगÓ की ओर इशारा करता है।
    बंभानिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी यह स्पष्ट नहीं कर रही है कि अगर वह सत्ता में आती है तो वह पाटीदार समुदाय को किस प्रकार से आरक्षण देगी और उन्हें समझ में नहीं आ रहा है कि पटेल उन्हें समर्थन क्यों दे रहे हैं।
    उन्होंने कहा, चुनाव घोषणापत्र में कांग्रेस ने स्पष्ट नहीं किया है कि गुजरात में सत्ता में आने के बाद वह हमें ओबीसी कोटा में किस प्रकार से आरक्षण देगी। इससे पता चलता है कि कांग्रेस कभी हमें आरक्षण देना ही नहीं चाहती थी। इसके बावजूद वह कांग्रेस के पक्ष में रैलियां कर रहे हैं।
    उन्होंने कहा, यह स्पष्ट नहीं है कि हमें ओबीसी कोटा में किस प्रकार से आरक्षण मिलेगा। हार्दिक इस विषय पर मौन हैं। मुझे इसमें फिक्सिंग नजर आ रही है। हमारी लड़ाई किसी पार्टी को सत्ता में लाने के लिए नहीं थी। कम से कम मैं तो किसी पार्टी का एजेंट बनने के लिए तैयार नहीं हूं। हार्दिक को आंदोलन का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए। (भाषा)

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 9 दिसंबर। कांगेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पिछले दो महीनों से बदले-बदले नजर आ रहे हैं। गुजरात चुनाव में प्रचार के लिए जाने वाले राहुल को कभी लोगों के साथ सेल्फी लेते तो कभी रेस्टोरेंट में आम लोगों के बीच खाने खाते देखा गया। लेकिन उनका नया रूप दिल्ली एयरपोर्ट पर भी देखने को मिला जब वह लाइन में लगकर फ्लाइट तक ले जाने वाली बस में बैठे।
    दरअसल राहुल गांधी को दूसरे चरण के चुनावी प्रचार के लिए गुजरात रवाना हुए हैं, जहां उन्हें वडनगर, पाटन जिले के हारिज, बनासकांठा के कनोडर और वीजापुर में रैलियां करनी हैं। इसके लिए वो दिल्ली से रवाना हुए तो बोर्डिंग पास लेने के बाद वह बस में बैठने के लिए आम लोगों के साथ लाइन में खड़े दिखे।
    फोटो में देखा जा सकता है कि राहुल लाइन में लगकर फोन पर बात कर रहे हैं और पीठ पर उनका काला बैग हमेशा की तरह टंगा हुआ है। राहुल के अपने साथ खड़ा देखकर यहां कुछ लोग उनके साथ सेल्फी भी लेते देखे गए। हालांकि राहुल के चारों तरफ एसपीजी के कमांडो थे, जो उनकी सुरक्षा का जिम्मा संभाल रहे थे।
    इससे पहले भी राहुल गांधी जनता से अपना जुड़ाव दिखा चुके हैं। भरूच के एक रोड शो मतंशा नाम की एक लड़की के साथ सेल्फी क्लिक की थी। भरूच में राहुल गांधी के रोड शो के दौरान अप्रत्याशित रूप से एक लड़की ने राहुल की वैन पर चढ़कर उन्हें फूल गिफ्ट किए और उनके साथ सेल्फी ली। यही नहीं राहुल गांधी ने गुजरात में कांग्रेस के प्रचार के दौरान आदिवासी इलाके में जाकर उन लोगों के साथ पारंपरिक वेशभूषा में डांस भी किया था।
    राहुल गांधी अपनी नुक्कड़ सभाओं के दौरान भी किसी आम जगह बैठकर चाय की चुस्कियां लेते कैमरे में कैद हुए और सूरत में कपड़ा मिल में कारीगरों के साथ कपड़ा बनाने का हुनर में समझते दिखे और कारीगरों की समस्याओं को सुना।  (आज तक)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 9 दिसंबर। गुजरात के महिसागर में आज पीएम नरेंद्र मोदी ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि आज पूरे देश में कांग्रेस कहीं भी नहीं बची है। हर राज्य से कांग्रेस विदा हो गई है। उन्होंने कहा कि हताशा में कांग्रेस मुझे गाली दे रही है। मुझे गाली देने वालों पर वोट से चोट कीजिए। कांग्रेस को पूरे देश में नकार दिया गया है, गुजरात भी कांग्रेस को नकार देगा और उन्हें उनकी राजनीति की सजा मिलेगी।
    मोदी ने कहा कि यूथ कांग्रेस के नेता सलमान निजामी इन दिनों पार्टी के लिए प्रचार कर रहे हैं। वह ट्विटर पर राहुल के पिता और दादी के बारे में लिखते हैं। मोदी के मुताबिक, सलमान निजामी उनसे पूछते हैं कि मोदी तुम्हारी मां कौन है, तुम्हारे पिता कौन हैं? मोदी बोले, ऐसी भाषा लोग दुश्मनों के लिए भी इस्तेमाल नहीं करते। मोदी ने यह भी कहा कि निजामी वो शख्स हैं, जो आजाद कश्मीर की हिमायत करते हैं, भारतीय सेना को रेपिस्ट बताते हैं। पीएम के मुताबिक, निजामी यह भी कहते हैं कि हर घर से अफजल निकलेगा।
    उधर, कांग्रेस ने सलमान निजामी से यह कहकर पल्ला झाड़ा कि वह पार्टी के सदस्य ही नहीं हैं। कांग्रेस नेता और राज्य सभा सांसद राजीव शुक्ला ने कहा, सलमान निजामी कौन हैं, हम यह नहीं जानते। वह कांग्रेस में किसी पद पर नहीं हैं। हम भी बयान दे सकते हैं कि किसी रामलाल ने ऐसा कहा है।   (पंजाब केसरी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 9 दिसंबर । गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए आज मतदान हो रहा है। भाजपा को गुजरात में घेरने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष हर रोज पीएम नरेंद्र मोदी से एक सवाल पूछते हैं और 22 साल का हिसाब मांगते हैं। राहुल ट्विटर पर मोदी से सवाल पूछते हैं। वे अब तक मोदी से 10 सवाल पूछ चुके हैं। पीएम और भाजपा की तरफ से सवालों का जवाब नहीं मिलने पर राहुल ने आज एक बार फिर ट्वीट करके निशाना साधा।
    राहुल ने ट्वीट करके पूछा कि क्या भाषण ही शासन हो गया है। राहुल ने ट्वीट किया, मैं केवल इतना पूछूंगा-क्या कारण है इस बार प्रधानमंत्रीजी के भाषणों में 'विकासÓ गुम है? मैंने गुजरात के रिपोर्ट कार्ड से 10 सवाल पूछे, उनका भी जवाब नहीं। पहले चरण का प्रचार खत्म होने तक घोषणा पत्र नहीं। तो क्या अब भाषण ही शासन है? (पंजाब केसरी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • पटना, 9 दिसंबर । बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ईडी द्वारा राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की संपत्ति जब्त करने पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद यादव अब बच नहीं पाएंगे। उनके पूरा परिवार को अपने गुनाहों का परिणाम भुगतना होगा।
    मोदी ने कहा कि विभिन्न जांच एजेंसियों द्वारा अब तक लालू प्रसाद यादव की एक दर्जन से ज्यादा बेनामी संपत्ति को जब्त किया जा चुका है। ईडी आगे की कार्रवाई करते हुए इस संपत्ति को नीलाम भी कर सकती है। उन्होंने कहा कि लालू को जवाब देना होगा कि इस संपत्ति के मालिक वह कैसे बने। 
    उपमुख्यमंत्री ने लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर उनको लगता है कि यह उनके खिलाफ रची जा रही एक साजिश है तो वह इसके खिलाफ कोर्ट में जाएं। सबके सामने यह जवाब दें कि वह इस संपत्ति के मालिक कैसे बने।  (पंजाब केसरी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 9 दिसंबर। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के जन्मदिन पर दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय को खूब सजाया गया। वहीं 10 जनपथ स्थित कांग्रेस अध्यक्ष के आवास के बाहर पर जश्न का माहौल दिखा।
    कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को शुभकामनाएं दी गईं। इस मौके पर कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति से लेकर 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय तक तिरंगा यात्रा निकलने जा रही है।
    वहीं गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के प्रचार में व्यस्त पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी अपनी मां को जन्मदिन की शुभकामनाएं देने और उनका आशीर्वाद लेने दिल्ली पहुंचे हैं। रॉबर्ट वाड्रा ने भी सोनिया को जन्मदिन पर अच्छे स्वास्थ्य की शुभकामनाएं दी हैं। वाड्रा ने सोनिया के लिए लिखा, आप मेरे लिए मां से कम नहीं हैं। आपने हमेशा बेहतर सलाह दी है और बहुत प्यार दिया है।
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट में उनके दीर्घायु होने और स्वस्थ जीवन की कामना की। वहीं लालू प्रसाद यादव ने भी ट्वीट करके सोनिया गांधी को बधाई दी है और कहा है कि समर्पण, त्याग, बलिदान और विषम परिस्थितियों में असीम साहस का परिचय देने वाली मैडम सोनिया गांधीजी को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।
    इटली के विसेन्जा में जन्मी सोनिया गांधी 9 दिसंबर 1946 को जन्मीं सोनिया गांधी भारत की पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के साथ 1968 में परिणय सूत्र में बंधी थीं। वहीं अपने पति के निधन के 7 साल बाद वर्ष 1998 में उन्होंने कांग्रेस की कमान संभाली थी।  (न्यूज 18)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • अहमदाबाद, 9 दिसंबर। गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले दौर के मतदान को लेकर वोटरों में काफी उत्साह देखा जा रहा है। पहले चरण में सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात की 89 सीटों पर मतदान हो रहा है। वोटिंग सुबह 8 बजे शुरू हुई और यह शाम 5 बजे खत्म होगी। विभिन्न मतदान केंद्रों पर वोटरों की लंबी-लंबी कतारें देखी गईं। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने राजकोट में मतदान किया। वह राजकोट पश्चिम सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। बीजेपी के गुजरात प्रमुख जीतू वघानी ने भावनगर में अपना वोट डाला। पहली बार वोटिंग करने वाले युवाओं में काफी जोश दिखा। भरूच में एक जोड़े ने अपनी शादी के समारोह से पहले पोलिंग बूथ जाकर मतदान किया। क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा ने राजकोट में रवि विद्यालय पोलिंग बूथ पर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सूरत में सुबह से ही वोट डालने के लिए लोग बड़ी तादाद में मतदान केंद्रों पर पहुंचे, जिनमें बुजुर्गों और महिलाएं की संख्या भी काफी अधिक थी।
    गुजरात चुनाव के पहले दौर में कुल 24,689 मतदान केंद्रों पर वोटिंग हो रही है। पहले चरण के चुनाव के लिए कुल 977 उम्मीदवार मैदान में हैं। इस चुनाव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई के तौर पर देखा जा रहा है, जबकि जल्द ही कांग्रेस प्रमुख बनने जा रहे राहुल गांधी के लिए यह चुनाव उनके नेतृत्व की परीक्षा है। अयोध्या में राम मंदिर, राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने की तैयारी और उनके मंदिर दर्शन सहित विभिन्न मुद्दों के साथ चुनाव प्रचार वक्त-वक्त पर बदलता रहा और कई बार यह निजी हमलों के रूप में भी नजर आया।
    सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में पीएम मोदी ने करीब 15 रैलियों को संबोधित किया, जबकि राहुल गांधी ने वहां सात से ज्यादा दिन बिताए और कई सभाओं को संबोधित किया।  (एनडीटीवी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 9 दिसंबर । गुजरात में शनिवार को पहले चरण का मतदान हो रहा है। सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात की 89 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। लेकिन इससे ठीक पहले बड़ी तादाद में राज्य के विभिन्न हिस्सों में अप्रवासी भारतीयों की सक्रियता भी चर्चा का विषय बनी हुई है। ये लोग भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने में जुटे हैं।
    भाजपा सूत्रों के मुताबिक, गुजरात में सक्रिय अप्रवासी भारतीयों में कई तो ऐसे भी हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से निजी तौर पर परिचित हैं। वह भी तब से जब वे प्रदेश के मुख्यमंत्री हुआ करते थे। या फिर इससे भी पहले से। इन अप्रवासियों में डॉक्टर, फार्मासिस्ट, कारोबारी, तकनीक के क्षेत्र में काम करने वाले सभी शामिल हैं। ऐसे ही एक सर्जन हैं 51 वर्षीय जशुभाई पटेल। अमरीका के कैलीफोर्निया में रहते हैं लेकिन उनका पैतृक घर वडनगर (यह नरेंद्र मोदी का विधानसभा क्षेत्र हुआ करता था) में हैं। इसीलिए खास चुनाव के मौके पर गुजरात आए हुए हैं।
    जशुभाई पाटीदार समुदाय से हैं और खासतौर पर इसी समुदाय के लोगों से संपर्क कर रहे हैं। उन्हें बता रहे हैं, अन्य समूहों-संगठनों के बहकावे में न आएं। प्रधानमंत्री मोदी के हाथ मजबूत करें। क्योंकि उन्होंने पूरी दुनिया में देश को नई पहचान दी है। मुख्यमंत्री के तौर पर गुजरात को भी उन्होंने जातिगत राजनीति और विकासहीनता की बदहाली से बाहर निकाला है। जशुभाई बताते हैं, मैं मोदी को तब से जानता हूं जब वे आरएसएस प्रचारक हुआ करते थे। उन्होंने अपने लिए आज तक कुछ नहीं किया। गरीबों का कल्याण और विकास हमेशा उनका लक्ष्य रहा है।
    भरत भाई कैंसर विशेषज्ञ हैं। बतौर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वैश्विक मंच पर पहला मेगा शो (न्यूयॉर्क के मेडिसन स्क्वायर पर) आयोजित करने में इन्होंने भी भूमिका निभाई थी। अब गुजरात में मोदी और उनकी भाजपा के लिए सक्रिय हैं। वासुदेव पटेल टॉक्सीकोलॉजिस्ट हैं। अटलांटा में रहते हैं। वे कहते हैं, हमने इसलिए देश छोड़ा था, क्योंकि यहां तरक्की के मौके नहीं थे। लेकिन नरेंद्र भाई स्थिति बदलने की कोशिश कर रहे हैं। यही वे मतदाताओं को समझा रहे हैं। लॉस एंजेलिस के कारोबारी रामजी पटेल और न्यू जर्सी के फार्मासिस्ट दिनेश भाई जैसे कई अन्य एनआरआई भी यही कर रहे हैं। (इकॉनॉमिक टाईम्स)
     

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • प्रशांत कनौजिया

    महाराष्ट्र में भाजपा के सांसद नाना पटोले ने लोकसभा से शुक्रवार को दिल्ली में इस्तीफा दे दिया है। साल 2014 में नागपुर की भंडारा गोंदिया सीट से पूर्व केंद्रीय मंत्री और राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल को हराकर पहली बार सांसद बने थे।

    मीडिया में आई खबरों के मुताबिक पटोले केंद्र और महाराष्ट्र सरकार की किसानों को लेकर भूमिका पर काफी वक्त से नाराज चल रहे थे। पटोले ने शुक्रवार को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन से मिलकर सदन से इस्तीफा दे दिया।
    पटोले ने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने से पहले जनता से वादा किया था कि अगर सत्ता मिली तो स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करेंगे, लेकिन केंद्र सरकार ने खुद सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर कहा है कि वे स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू नहीं कर सकते। ये तो देश की जनता और किसानों के साथ धोखा है।
    पटोले ने कुछ महीनों पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए कहा था कि वे सवाल सुनना पसंद नहीं करते और ऐसा करने पर वो नाराज हो जाते हैं और उन्हें सवाल सुनना पसंद नहीं है। वे किसानों के मुद्दों को नजरअंदाज करते आए हैं।
    पटोले ने महाराष्ट्र सरकार और भाजपा नेताओं को आड़े हाथों से लेते हुए कहा, महाराष्ट्र में किसानों की हालत बहुत ही दयनीय है और हजारों किसान और खेतिहर मजदूर जहरीले कीटनाशक से मर रहे हैं और भाजपा के नेता कहते हैं कि वे सभी किसान शराब पीकर मर रहे हैं। मैं ऐसी किसान और गरीब विरोधी सरकार और पार्टी का हिस्सा नहीं बना रह सकता।
    मीडिया में आई खबरों के अनुसार पटोले प्रफुल्ल पटेल की प्रधानमंत्री से नजदीकी बढऩे से नाराज थे। इस सवाल पर उन्होंने कहा, मैं किसी प्रफुल्ल पटेल से नहीं डरता। मैं लगभग डेढ़ लाख वोटों से हराकर सांसद बना था। सुप्रीम कोर्ट ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय के घोटालों की सीबीआई जांच 6 महीने में खत्म करने को कहा है। ऐसे में भाजपा नेता और प्रफुल्ल पटेल क्यों मिलते हैं ये सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश से साफ हो जाता है। मुझे किसी को बताने की जरूरत नहीं, जनता सब समझती है।
    भाजपा में आंतरिक लोकतंत्र पर सवाल उठाते हुए पटोले कहते हैं। भाजपा में बिल्कुल लोकतंत्र नहीं है। नरेंद्र मोदी और अमित शाह को सवाल सुनना पसंद नहीं है। पार्टी के नेता शत्रुघ्न सिन्हा, भोला सिंह को संसद के पटल तक पर बोलने नहीं दिया जाता। लोकसभा में चुने हुए कौन-कौन से सांसद बोलेंगे यह भी पार्टी बताती है। क्या वे संसद जनता के प्रतिनिधि नहीं है? इन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा का अपमान किया है। वे किसानों को लिए अनशन कर रहे हैं 
    (बाकी पेजï 5 पर)
    और सरकार को शर्म भी नहीं आती कि उनसे एक बार बात भी कर ले।
    पटोले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मोदी सरकार और फडणवीस सरकार के लिए गूंगी और बहरी सरकार शब्द का इस्तेमाल करते हुए कहा कि यह सरकार किसान विरोधी है। इस सरकार में किसानों की आत्महत्या की संख्या में 40 प्रतिशत बढ़ी है और सरकार को बिल्कुल फर्क नहीं पड़ता।
    उन्होंने सरकार की आर्थिक नीति पर भी हमला करते हुए कहा कि केंद्र सरकार को देश के गरीबों की हालत और जमीनी सच्चाई पता नहीं है। सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी लाकर देश में गरीबों और छोटे व्यापारियों की कमर तोड़ दी।
    रोजगार के मुद्दे पर पर पटोले कहते हैं कि जहां सरकार ने 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था उसके उलट नोटबंदी और जीएसटी से लाखों लोग बेरोजगार हो गए। ऐसा भी कहा जा रहा था कि मंत्रिमंडल में जगह न मिलने के चलते पटोले ने इस्तीफा दिया।
    इस बात पर पटोले कहते हैं, मैंने कभी भी मंत्री पद नहीं मांगा। मंत्री पद उन्हें मिलता है जो चापलूसी करते हैं और चुनाव हार जाते हैं। मैं जनता का नेता हूं और अगर जनता ने मुझे जिस काम के लिए दिल्ली भेजा था अगर वो पूरा नहीं हो रहा तो मुझे अधिकार नहीं है इस पद और इस पार्टी में बने रहने का।
    केंद्र सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए पटोले ने कहा कि सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शुरू की लेकिन उससे किसानों को नहीं बल्कि बीमा कंपनी को फायदा पहुंचा। सरकार की जितनी भी नीतियां है वो सभी बड़े-बड़े उद्योगों को फायदा पहुंचा रही है। वो दिन दूर नहीं जब यह सरकार सभी पब्लिक सेक्टर को निजी सेक्टर बना देगी और अंबानी और अडानी जैसे अमीरों को और अमीर बना देगी।
    पटोले ने कहा कि वे गुजरात चुनाव में भी प्रचार करने जाएंगे। ये पूछने पर कि वे किसके लिए प्रचार करेंगे तो उन्होंने कहा, मैं गुजरात भी प्रचार करने जाऊंगा और वहां की जनता को बताऊंगा कि प्रधानमंत्री मोदी कैसे हैं। मैं उनकी असलियत जनता के सामने रखूंगा। मैं उनकी किसान और मजदूर विरोधी नीतियों को जनता के सामने पेश करुंगा। मैं हर उस पार्टी का समर्थन करुंगा जो भाजपा को हराएगी।
    महाराष्ट्र में ओबीसी नेता के रूप में जाने जाते पटोले ने मोदी सरकार को बहुजन और दलित विरोधी बताया और कहा कि आयोग बनाने से कुछ नहीं होगा बल्कि सरकार को शोषित जातियों की जनगणना करनी होगी और तब ही उनकी सही जनसंख्या पता चलेगी तब उनके लिए काम किया जा सकता और सही योजना बनाई जा सकती है।
    नाना पटोले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात कर चुके हैं। भविष्य में किस पार्टी से जुड़ेंगे इस सवाल पर उन्होंने कहा कि वे अभी किसी पार्टी में शामिल नहीं होंगे और महाराष्ट्र की जनता के बीच में जाकर उनकी राय लेंगे और उसके बाद जनता जिस पार्टी में भेजगी उसमें जाएंगे।
    शुक्रवार शाम को नागपुर जाने से पहले पटोले महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रभारी मोहन प्रकाश से मुलाकात करेंगे और उन्होंने कहा कि भविष्य में उनकी भूमिका वो जल्द बताएंगे। मालूम हो कि पटोले पहले कांग्रेस में भी रह चुके हैं। साल 2014 लोकसभा चुनाव से पूर्व वो भाजपा में शामिल हुए थे। (द वायर)

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • अहमदाबाद, 9 दिसंबर। गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान शुरू हो चुका है। आज 89 सीटों के लिए सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में वोट डाले जा रहे हैं। जहां, सत्ताधारी भाजपा फिर अपनी सत्ता बरकरार रखने की उम्मीद लगा रही है वहीं कांग्रेस दो दशक से भी ज्यादा समय बाद सत्ता में वापसी की कोशिश में है। आज राजकोट (पश्चिम) से लड़ रहे मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और कांग्रेस के शक्तिसिंह गोहिल (मांडवी) सहित कई दिग्गजों का फैसला होगा।
    वोटर और प्रत्याशी-  इस चुनाव में करीब दो करोड़ 11 लाख मतदाता वोट डालेंगे। इनके हाथ में कुल में 977 प्रत्याशियों की किस्मत होगी। उम्मीदवारों में 57 महिलाएं हैं।
    सबसे ज्यादा और कम उम्मीदवारों वाली सीटें- सबसे ज्यादा उम्मीदवार जामनगर ग्रामीण से मैदान में हैं। यहां अलग-अलग पार्टियों के 27 प्रत्याशी हैं। सबसे कम उम्मीदवारों वाली सीट झगडिय़ा और गांडवी हैं जहां केवल तीन-तीन उम्मीदवार ही अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।
    इस चरण में भाजपा ने सबसे ज्यादा यानी सभी 89 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं। कांग्रेस के 87 प्रत्याशी मैदान में हैं। सबसे कम उम्मीदवार सीपीआई (1) के हैं।
    वोटरों के लिहाज से सबसे बड़ी विधानसभा सीट कमरेज है जहां करीब 4 लाख 28 हजार मतदाता हैं। सबसे छोटी सीट सूरत (उत्तर) है जहां करीब एक लाख 57 हजार मतदाता हैं। क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे छोटी सीट करंज (चार वर्ग किमी) है जबकि सबसे बड़ी अबदसा (6278 वर्ग किमी)
    इस चुनाव में मतदान केंद्रों की कुल संख्या 24,689 है। इनमें रखी 27,158 ईवीएम मशीनों के जरिए प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होगा।   (सत्याग्रह)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Dec-2017
  • नई दिल्ली, 9 दिसंबर । दिल्ली के नरेला में अवैध शराब पकड़वाने के आरोप में एक महिला को कुछ औरतों ने दिन दहाड़े बीच सड़क पर घसीट कर पीटा और कपड़े फाड़ दिए। इस काम में इलाके के पुरुषों ने भी औरतों का पूरा साथ दिया और पूरी घटना का वीडियो भी बनाया।
    ये दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का आरोप है। इस मामले के बाद पीडि़त महिला का एक वीडियो स्वाति मालीवाल ने ट्वीट किया, जिसमें वो रोते हुए पूरा मामला बता रही है।
    57 सेकेंड के वीडियो में पीडि़त महिला कहती हैं, मैं उस वक्त अपनी दोस्त के साथ पुलिस के पास ही जा रही थी। लेकिन रास्ते में लोगों ने रोक लिया। लोगों ने रॉड और डंडों से पिटाई की और कपड़े फाड़े। मैंने अपनी जान बचाने की कोशिश की। वहां से भागी लेकिन अपनी इज्जत नहीं बचा पाई।
    पीडि़त महिला फिलहाल दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती हैं। उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। वो शादीशुदा हैं और अपने पति के साथ दिल्ली के नरेला इलाके में रहती हैं। वो वर्षों से नशा मुक्ति के लिए काम कर रही हैं और इलाके में सक्रिया नशा मुक्ति संघ के साथ जुड़ी हुई हैं।
    इस मामले पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बीबीसी को बताया कि छह दिसंबर की रात को शिकायत मिलने पर मैं अपनी टीम के साथ नरेला में ड्रग्स और अवैध शराब के खिलाफ छापेमारी पर निकली थी। उस दौरान एक घर से हमने 350 लीटर अवैध शराब जब्त की थी। इस दौरान पीडि़ता और कुछ दूसरे वॉलेंटियर भी हमारे साथ थे। पूरे वाकये के बाद मैंने वहां के एडिशनल एसएचओ से पीडि़ता और दूसरी महिलाओं को सुरक्षा मुहैया कराने की सिफारिश की थी। स्वाति मालीवाल के कहना है कि दिल्ली पुलिस ने उनकी बात को गंभीरता से नहीं लिया और इसलिए ऐसा हुआ।
    हालांकि पूरे मामले में दिल्ली पुलिस का अपना पक्ष है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी ट्रैफिक और प्रवक्ता दीपेन्द्र पाठक का कहना है कि पीडि़ता के बयान में आधी सच्चाई है। पीडि़ता के साथ मारपीट जरूर हुई है और उस दौरान उसके कपड़े अस्त-व्यस्त हुए। लेकिन पीडि़ता को नंगा करके नहीं घूमाया गया है। ये बात झूठ है।
    दीपेन्द्र पाठक ने बताया कि पीडि़ता और उसके दो साथी दिल्ली पुलिस के ही नशा मुक्ति पंचायत की कार्यकर्ता है। पूरे मामले का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची थी। जिन लोगों ने पीडि़ता के साथ मारपीट की उनमें से 6 महिलाओं को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है।
    पीडि़त महिला से मिलने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एलएनजेपी अस्पताल पहुंचे। जिसके बाद उन्होंने दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से भी मिलने का वक्त मांगा है।
    पूरे मामले की चश्मदीद दूसरी लड़की ने नाम न लिखने की शर्त पर बताया कि उस वक्त वो उस कार्यकर्ता के साथ थीं। लेकिन इतने में उनका फोन आया और उस पर बात करने थोड़ी दूर निकल गईं। बस इसलिए बच गईं। लेकिन अब उन्हें भी फोन पर मारने की धमकियां मिल रही हैं। अब इस मामले में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने रोहिणी इलाके के डिप्टी पुलिस कमिश्नर को नोटिस भेजा है।  (बीबीसी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 08-Dec-2017
  • इलाहाबाद, 8 दिसंबर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी और समाजसेविका जशोदा बेन ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का आह्वान किया है। जशोदा बेन ने यह भी कहा कि महिलाओं को सम्मान देने से ही देश आगे बढ़ेगा। इलाहाबाद में साहू एकता मंच की ओर से आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में पहुंची जशोदा बेन के साथ उनके भाई अशोक मोदी भी थे। 
    अशोक मोदी ने भी कार्यक्रम में विचार व्यक्त किए। इस दौरान अशोक मोदी ने नरेंद्र मोदी जिंदाबाद के नारे लगवाए। साहू एकता मंच की ओर से केपी कॉलेज मैदान पर आयोजित इस समारोह में 51 जोड़ों ने एक दूसरे का साथ निभाने का संकल्प लिया। जशोदा बेन ने इस दौरान मीडिया से दूरी बनाए रखी और बात करने से इंकार कर दिया। 
    उन्होंने सामूहिक विवाह समारोह में बतौर मुख्य अतिथि दूल्हा-दुल्हन को आशीर्वाद दिया। समारोह के दौरान समाज के लोगों के साथ ही मैदान पर मौजूद हर शख्स उनसे मिलने और बात करने के लिए लालायित दिखा। (नवभारत टाईम्स)

    ...
  •  


Posted Date : 08-Dec-2017
  • सूरत, 8 दिसंबर । गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए कल होने वाले पहले चरण के मतदान की प्रचार समाप्त होने तक सत्तारूढ़ भाजपा की ओर से घोषणा-पत्र जारी नहीं होने पर व्यंगात्मक प्रहार करते हुए आज पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) नेता हार्दिक पटेल ने कहा कि लगता है कि उनकी फर्जी सेक्स सीडी बनाने के चक्कर में भाजपा घोषणा पत्र बनाना ही भूल गई है।  हार्दिक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के नीच शब्द का इस्तेमाल करने के प्रकरण को लेकर मोदी के पूर्व में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के लिए कथित तौर पर अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने पर भी हमला किया।  
    हार्दिक ने कहा कि सीडी बनाने के चक्कर में भाजपा घोषणा पत्र बनाना भूल गई, कल वोटिंग हैं। उन्होंने मोदी पर इस मामले में सीधा प्रहार करते हुए यह भी कहा कि गुजरात में विकास के साथ साथ चुनावी घोषणा पत्र भी लापता हैं। साहब कोई कुछ भी नहीं कहेगा कृपया आप एक बार चुनावी घोषणा पत्र में अपनी शैली में फेंक दीजिए। अय्यर प्रकरण को लेकर हार्दिक ने कहा, कांग्रेस पार्टी के नेता ने गलत शब्द का इस्तेमाल किया और पार्टी ने उसको सस्पेंड कर दिया, लेकिन अभी के प्रधानमंत्री जब मुख्यमंत्री थे तब चुनाव प्रचार में हिंदुस्तान की बहु को बार गर्ल कहते थे क्या वो ठीक था। पहले आपने सोनियाजी का अपमान किया और अब आपके ऊपर आया तो गलत लगता है। 
    हार्दिक ने कहा कि कॉलर ऊंचा कर मतदान करने जाओ तो हम हम गर्व से कह पायेंगे कि हमने दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी (भाजपा का नाम नहीं) को गिरा दिया। उन्होंने आज यहां संत मोरारी बापू की कथा में उन्हें आचार संहिता के नाम पर जाने से रोकने को लेकर भी निंदा की। (पंजाब केसरी)

     

    ...
  •