अंतरराष्ट्रीय

Previous12345678Next
Posted Date : 18-Nov-2017
  • एथेंस, 18 नवम्बर । ग्रीस में भारी बारिश के बाद बाढ़ से मची तबाही कारण  करीब 16 लोग मारे गए। इसके अलावा देश में बाढ़ से काफी नुकसान हुआ है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मंदरा, निया पेरामोस और मेगारा जैसे औद्योगिक शहर सबसे अधिक प्रभावित हुए। मृतकों में कई बुजुर्ग शामिल हैं, जिनके शव उनके घरों से बरामद किए गए। रिपोर्ट में कहा गया कि तेजी से बहकर आए लाल कीचड़ से सड़कों पर बाढ़ जैसी स्थिति बन गई।
    प्रधानमंत्री एलेक्सिस सिप्रास ने आपदा के मद्देनजर राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। मंदरा की मेयर यियाना क्रूकॉकी ने राष्ट्रीय प्रसारक ईआरटी को बताया, सब कुछ खो गया है। आपदा बहुत बड़ी है। ईआरटी ने बताया कि करीब 37 घायलों को अस्पताल ले जाया गया है और कई अभी भी लापता हैं। पिछले एक सप्ताह से खराब मौसम ग्रीस को प्रभावित कर रहा है लेकिन भारी बारिश से अचानक रातों-रात बाढ़ आ गई जिसे लेकर  लोग तैयार नहीं थे।(पंजाब केसरी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 18-Nov-2017
  • ह्यूस्टन, 18 नवम्बर। अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश के खिलाफ सात महिलाओं द्वारा अनुचित तरीके से छूने के आरोप लगाए जाने के बावजूद उनके खिलाफ मामला चलने की संभावना कम ही है। यदि इन मामलों पर मुकदमा चलता तो इन मामलों में उनके खिलाफ जुर्माना लगाया जा सकता था या कारावास की सजा हो सकती थी।
    एक मामले को छोड़कर बाकी सभी मामले देश के कानूनों के तहत मुकदमा चलाने के लिए अयोग्य हैं जिनके मुताबिक किसी अपराध के होने के बाद मुकदमा चलाने की एक निर्धारित समय-सीमा होती है और कई वकीलों का कहना है कि बुश को दोषी ठहराना मुश्किल हो सकता है। बुश वस्कुलर पार्किंसोनिज्म बीमारी से पीडि़त हैं।
    अभिनेत्री जोर्डाना ग्रोलनिक ने बुश पर आरोप लगाए थे कि उन्होंने पिछले साल उन्हें पीछे से गलत तरीके से छुआ जबकि उस समय उनकी पत्नी पास में खड़ी थीं। उन्होंने बताया कि वह इसकी शिकायत करने की कोई योजना नहीं बना रही हैं।
    यही एकमात्र मामला है जिसमें मामला दर्ज कराने की अवधि अब भी खत्म नहीं हुई। इसके अलावा अन्य सभी घटनाओं को घटे हुए 10 साल से भी ज्यादा का वक्त हो गया है। बुश ने अपने प्रवक्ता के माध्यम से कई बार इस बाबत माफी मांगी है। (एनडीटीवी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 18-Nov-2017
  • नई दिल्ली, 18 नवम्बर। सात विम्बल्डन खिताब जीतने वाली टेनिस स्टार सेरेना विलियम्स गुरुवार को अरबपति दोस्त और सोशल न्यूज वेबसाइट रेडिट के सह-संस्थापक एलेक्शिज ओहानियन से शादी की, 36 व्रषीय सेरेना और 34 वर्षीय एलेक्शिज काफी समय से साथ रह रहे हैं और 11 हफ्ते पहले ही वो एक बेटी के माता-पिता बने हैं।
    शादी न्यू ऑर्लियंस में हुई, जिसमें जानीमानी हस्तियों ने शिरकत की। सूत्रों के अनुसार सेरेना और एलेक्शिज शादी पर पैसा खर्च करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। कहा जा रहा है कि शादी पर करीब सात करोड़ रुपय खर्च किए गए।
    इसके पहले सेरेना बुल्गारिया के 25 साल के टेनिस खिलाड़ी ग्रिगोर दिमित्रोव को डेट कर रही थीं लेकिन ये अफेयर ज्यादा समय नहीं चला। दिमित्रोव इन दिनों 30 वर्षीय रुसी टेनिस स्टार मारिया शारापोवा को डेट कर रहे हैं। (डेलीमेल)

    ...
  •  


Posted Date : 17-Nov-2017
  • कैलिफोर्निया, 17 नवम्बर। अमरीका के कैलिफोर्निया प्रांत में 21 साल के एक सिख छात्र की हत्या कर दी गई है। खबरों के मुताबिक इस छात्र का नाम धर्मप्रीत सिंह जस्सर है। हथियारबंद लुटेरों ने मादेरा नाम के एक कस्बे में एक किराना स्टोर पर उसे गोली मार दी। स्थानीय दैनिक समाचार पत्र फ्रेशनोबी के मुताबिक धर्मप्रीत सिंह किराना स्टोर पर ही काम करता था। जिस वक्त लूट के इरादे से लुटेरों ने स्टोर पर हमला किया तब वह ड्यूटी पर था। बताया जाता है कि वह कैश काउंटर के पीछे छिप गया था। लेकिन नगदी और अन्य सामान लूटकर भागते लुटेरों की उस पर नजर पड़ गई और उन्होंने उसे गोली मार दी। यह घटना बुधवार को हुई और पुलिस को इसकी सूचना एक ग्राहक ने उस वक्त दी जब उसने स्टोर में जस्सर का शव पड़ा हुआ देखा। जस्सर स्टूडेंट वीजा पर तीन साल पहले पढ़ाई के लिए पंजाब से अमरीका आया था।
    खबर के अनुसार स्टोर में घुसे लुटेरों में एक भारतीय मूल का व्यक्ति भी था। उसकी पहचान अमरजीत सिंह अठवाल (22 साल) के रूप में हुई है। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के ओर से घटना से जुड़े सीसीटीवी फुटेज फेसबुक पर पोस्ट किए गए हैं। साथ ही बताया गया है, जांच से अब तक पता चला है कि रात करीब 10.50 पर दो हथियारबंद लुटेरे स्टोर में घुसे थे। उन्होंने वहां से नगदी और सिगरेट के दो बड़े बक्से चुराए। साथ ही गोलियां भी चलाईं जिनमें से एक स्टोर के कर्मचारी (जस्सर) को लगी और उसकी मौत हो गई। (सत्याग्रह)

     

    ...
  •  


Posted Date : 16-Nov-2017
  • लंदन, 16 नवम्बर। कहते हैं मां बनना महिलाओं के लिए एक सुखद एहसास होता है लेकिन शायद सबके लिए नहीं। ब्रिटेन में एक दंपत्ति ने अपने नवजात बच्चे को सिर्फ 4 दिन के अंदर भूख से तड़पा-तड़पा कर मार डाला। इतना ही नहीं, इस दंपत्ति ने बच्चे को मरने के बाद जूते के डिब्बे में डालकर दफना दिया और इसकी वजह आपको हक्का-बक्का छोड़ देगी। 
    मामले की सुनवाई मैंचेस्टर क्राउन कोर्ट में चल रही है। हालांकि, दंपत्ति ने अपने बच्चे की हत्या के आरोप से इंकार कर दिया है। कोर्ट में सुनवाई के दौरान बताया गया कि बॉल्टन शहर में रहने वाले 35 वर्षीय ऐंथनी क्लार्क और उनकी 25 वर्षीय पत्नी कैथरीन डेविस ने बीते साल एक लड़के को जन्म दिया लेकिन इसके 4 दिन बाद ही बच्चे को भूखा रखकर उसे मार दिया गया। 
    इस जोड़े ने बच्चे को जूते के बक्से में डालकर उसे सेलोटेप से चिपका दिया और फिर रात के समय उसे कब्रिस्तान में दफना दिया। आरोप है कि डेविस ने अपनी प्रेग्नेंसी के समय एक डायरी लिखी थी जिसमें उसने लिखा था, प्रेग्नेंसी ने मुझे परेशान कर दिया है और मुझे भद्दा और मोटा बना दिया है। कोर्ट में बताया गया कि इस दंपत्ति ने बच्चे के जन्म के बारे में कभी किसी को बताया तक नहीं और उसके जिंदा रहते हुए ही घर छोड़कर कहीं और चले गए। 
    दूसरी तरफ आरोपी डेविस ने बताया कि उसने बच्चे को स्तनपान कराने की कोशिश की थी लेकिन वह करवा नहीं पाई और उन दोनों के पास बच्चे को खिलाने-पिलाने, कपड़े देने तक के लिए पैसे नहीं थे। कोर्ट में पेश की गई डेविस की डायरी में बच्चे के लिए लिखा है, तुम मुझे स्पेशल फील कराते हो जबकि मोटापा मुझे भद्दा लगता है। मुझे बेबी बंप से नफरत है।
    बच्चे की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से हालांकि मौत की सही वजह पता नहीं लग सकी है लेकिन डॉक्टर्स ने माना कि बच्चा कुपोषित था। बॉल्टन न्यूज के मुताबिक, क्लार्क ने बताया कि बच्चा सोते हुए मर गया जबकि डेविस ने कहा कि बच्चे को जन्म के समय से ही कई परेशानियां थी।  (नवभारत टाईम्स)

     

    ...
  •  


Posted Date : 16-Nov-2017
  • प्योंगयांग, 16 नवम्बर। उत्तर कोरिया और अमरीका के नेताओं के बीच जुबानी जंग खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। अब उत्तर कोरिया की तरफ से कहा गया है कि उनके नेता किम जोंग-उन का अपमान करने के लिए डॉनल्ड ट्रंप को फांसी दे देनी चाहिए। इतना ही नहीं ट्रंप के कोरियाई सीमा के पास का दौरा रद्द करने को लेकर उत्तर कोरिया ने उन्हें कायर भी बताया है। सत्ताधारी पार्टी के अखबार ने डॉनल्ड ट्रंप के खिलाफ लेख छापा है। 
    अखबार रोदोंग शिनमुन के संपादकीय में खासतौर पर बीते हफ्ते ट्रंप के दक्षिण कोरियाई दौरे के लिए गुस्सा व्यक्त किया गया है। ट्रंप ने सोल में अपने भाषण में उत्तर कोरिया की क्रूर तानाशाही को लेकर काफी कुछ कहा था। ट्रंप अपने 5 देशों के एशियाई दौरे के तहत दक्षिण कोरिया आए थे। 
    संपादकीय में लिखा है, सबसे बड़ा अपराध, जिसके लिए ट्रंप को माफ नहीं किया जा सकता, वह है हमारे सर्वोच्च नेता का अपमान करना। ट्रंप को पता होना चाहिए कि वह एक ऐसे अपराधी हैं जिसे कोरियाई लोग मौत की सजा देंगे। 

    राष्ट्रपति बनने के बाद से ही डॉनल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के नेता पर निजी हमले भी जारी रखे हैं। अपने एशियाई दौरे के आखिरी दिन ट्रंप ने हनोई से एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने किम जोंग-उन की लंबाई और वजन को लेकर ताना दिया था। 
    ट्रंप ने ट्वीट किया, किम जोंग-उन मुझे बूढ़ा कहकर मेरा अपमान क्यों करेंगे, जबकि मैं उन्हें कभी छोटा और मोटा नहीं कहूंगा? अखबार ने ट्रंप के इसी ट्वीट के जवाब में संपादकीय लिखा है। संपादकीय में दोनों कोरियाई देशों को बांटने वाले इलाके में ट्रंप के दौरे के रद्द होने पर भी चुटकी ली गई है। जब भी कोई वरिष्ठ अमरीकी अधिकारी दक्षिण कोरिया जाता है तो इस क्षेत्र का दौरा करता है लेकिन ट्रंप का हेलिकॉप्टर खराब मौसम की वजह सिर्फ 5 मिनट में ही वापस लौट गया। हालांकि, अखबार ने खराब मौसम की दलील को खारिज किया है और लिखा है, मौसम नहीं, बल्कि वे हमारे सैनिकों की घूरती आंखों का सामना करने से डर रहे थे। (एएफपी)

    ...
  •  


Posted Date : 16-Nov-2017
  • न्यूयॉर्क, 16 नवम्बर । अमरीका के न्यूयॉर्क में जीसस क्राइस्ट की कई सदियों पुरानी पेंटिंग को करीब 2940 करोड़ रुपये में खरीदा गया है। ईसा मसीह की इस 500 साल पुरानी पेंटिंग का नाम साल्वाडोर मुंडी (दुनिया के संरक्षक) है जिसे लियोनार्दो द विंची ने बनाया था। इस पेंटिंग की नीलामी ने दुनिया में अब तक सबसे महंगी कलाकृति बनने का रिकॉर्ड बनाया है।
    मशहूर कलाकार लियोनार्दो द विंची ने साल 1519 में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। दुनिया में इस समय उनकी 20 से कम पेंटिंग मौजूद हैं। लगभग तीन हजार करोड़ रुपये देकर खरीदा गया है। हालांकि पेंटिंग खरीदने वाले का नाम गुप्त रखा गया है।
    न्यूयॉर्क में नीलामी के दौरान खरीददार ने 20 मिनट तक टेलीफोन पर बात करते हुए इस पेंटिंग के लिए 40 करोड़ डॉलर की अंतिम बोली लगाई। फीस के साथ इसकी कीमत करीब 45 करोड़ डॉलर हो गई। कभी इस पेंटिंग को मात्र 60 डॉलर में नीलाम किया गया था। तब ये माना जा रहा था कि ये पेंटिंग दा विंची (बाकी पेजï 5 पर)
    के किसी शिष्य ने बनाई है। बीबीसी संवाददाता विंसेंट डॉद कहते हैं कि अब तक ये आम सहमति नहीं बनी है कि ये लियोनार्दो द विंची की पेंटिंग है।
    एक क्रिटिक कहते हैं कि पेंटिंग की सतह पर अब तक इतनी बार काम हो चुका है कि ये एक ही समय में नई और पुरानी लगती है। वल्चर डॉट कॉम पर जेनी साल्ट्ज लिखती हैं कि अगर कोई निजी संग्रहकर्ता इस पेंटिंग को खरीदकर अपने अपार्टमेंट और स्टोर में रखता है तो ये उसके लिए ठीक है।
    माना जाता है कि ये पेंटिंग 15वीं सदी में इंग्लैंड के राजा चार्ल्स प्रथम की संपत्ति थी। चार साल पहले रूसी संग्रहकर्ता दमित्री ई रयाबोलोव्लेव ने इस पेंटिंग को 12.7 करोड़ डॉलर में खरीदा था। उन्नीसवीं सदी की पेंटिग और अन्य कलाकृतियों के क्षेत्र में विशेषज्ञ डॉ टिम हंटर इस पेंटिंग को 21वीं सदी की सबसे बड़ी खोज बताते हैं।(बीबीसी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 15-Nov-2017
  • कैलिफोर्निया, 15 नवम्बर । ग्रामीण उत्तरी कैलिफोर्निया के एक प्राथमिक विद्यालय सहित कई इलाकों में एक बंदूकधारी द्वारा की गई गोलीबारी में 5 लोगों की मौत हो गई और करीब एक दर्जन अन्य लोग घायल हुए है। पुलिस ने हमलावर को मार गिराया है। दो अस्पतालों ने बताया कि वे सात लोगों का इलाज कर रहे हैं। इनमें कम से कम तीन बच्चे शामिल हैं।
    तेहामा काउंटी सहायक शेरिफ फिल जॉनस्टन ने बताया कि अधिकारियों के पास घायलों का सही आंकड़ा मौजूद नहीं है क्योंकि बंदूकधारी ने कम्युनिटी में कई जगह गोलीबारी की है। जॉनस्टन ने बताया कि हमलावर को पुलिस ने मार गिराया है। उसने स्थानीय समायनुसार सुबह आठ बजे गोलीबारी शुरू की थी। हमलावर ने एक प्राथमिक विद्यालय सहित, रांचो तहमा रिजर्व सहित कई घरों और कम्युनिटी के कई इलाकों में गोलीबारी की।
    उन्होंने बताया कि मृतकों में बच्चें शामिल नहीं हैं और हमले के पीछे के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। घटना के पीछे पारिवारिक विवाद और पड़ोसियों से वाद-विवाद भी कारण हो सकता है। जॉन्सटन ने कहा कि हम शुरू से इस बात को लेकर स्पष्ट थे कि हमलावर एक है, जो बिना सोचे समझे लोगों को निशाना बना रहा है।
    उन्होंने बताया कि स्कूल पर हुई गोलीबारी में एक बच्चा गोली लगने के कारण घायल हो गया। एक अन्य बच्चा जो अपनी मां के साथ जा रहा था वह भी घायल हुआ है, उसकी मां की हालत गंभीर है। जॉन्सटन ने कहा कि हमलावर की पहचान अभी नहीं हो पाई है। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Nov-2017
  • पैरिस, 15 नवम्बर । क्या किसी अडल्ट के साथ सेक्स की सहमति देने के लिए 13 साल की उम्र पर्याप्त है फ्रांस में आजकल इसी सवाल की चर्चा है। फ्रांस की सरकार ने पहली बार सहमति से संबंध बनाने की उम्र निर्धारित करने की तैयारी की है। इस संबंध में फ्रांस की जस्टिस मिनिस्टर निकोल के बयान पर विरोध शुरू हो गया है। मिनिस्टर ने बयान दिया है कि यौन सहमति के लिए कानूनी तौर पर 13 साल की न्यूनतम आयु विचारयोग्य है। 
    मंत्री के इस बयान के बाद नारीवादियों समेत कुछ संगठनों ने प्रदर्शन किया है। दरअसल हालिया हफ्तों में दो बार फ्रांस की अदालतों ने 11 वर्षीय लड़कियों के साथ सेक्स करने के बाद पुरुषों पर रेप का केस चलाने से इसलिए इंकार कर दिया क्योंकि इसे जबरन साबित नहीं किया जा सका। ऐसे में फ्रांस की सरकार एक विधेयक लाने की तैयारी में है जिसमें एक निश्चित उम्र से कम के बच्चे के साथ सेक्स स्वत: जबरन समझा जाएगा।  
    प्रदर्शनकारियों की मांग है कि सहमति से संबंध की उम्र 15 साल होनी चाहिए। हालांकि जस्टिस मिनिस्टर ने यह भी कहा था कि जजों के पास अलग परिस्थितियों में इस आकलन की भी क्षमता होनी चाहिए कि संबंध के लिए सहमति देने लिए किसी की उम्र पर्याप्त थी या नहीं। फ्रांस में 15 साल से कम उम्र के साथ यौन संबंध बनाना पहले से ही अवैध है। हालांकि रेप का केस तभी बन सकता है जब इसे जबरन साबित कर दिया जाए। (एपी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 15-Nov-2017
  • ऑस्ट्रेलिया, 15 नवम्बर । ऑस्ट्रेलिया में समलैंगिक विवाह के प्रस्ताव को जनता ने भारी समर्थन दिया है। इसके बाद संभावना जताई जा रही है कि ऑस्ट्रेलिया की संसद जल्द ही इस सिलसिले में पेश किए जाने वाले विधेयक को मंजूरी दे देगी। ऐसा होने के बाद ऑस्ट्रेलिया दुनिया का 26वां देश होगा जहां समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता मिल जाएगी।
    सरकार की ओर से इस मसले पर जनमत संग्रह सा एक सर्वे कराया गया था। इसमें 61.6 फीसदी लोगों ने समलैंगिक विवाह के पक्ष में राय दी है जबकि 38.4 फीसदी लोगों ने इसका विरोध किया है। लगभग 80 प्रतिशत लोगों ने इस सर्वे में हिस्सा लिया था। मुख्य सांख्यिकी अधिकारी ने बुधवार को जैसे ही इन नतीजों की घोषणा की पूरे देश में जश्न शुरू हो गया। लोग सड़कों पर शादी की वेशभूषा में खुशियां मनाते देखे जा रहे हैं।
    इन नतीजों पर ऑस्ट्रेलिया के ओलंपियन तैराक इयान थोर्प ने कहा, यह हमारे लिए बड़ी राहत की बात है। इयान थोर्प के बारे में तीन साल पहले ही खुलासा हुआ था कि वे समलैंगिक हैं। इन नतीजों पर अमरीका की टीवी एंकर एलन डी जेनरिस ने ट्वीट किया, ऑस्ट्रेलिया के लिए आज का दिन गे-डे है। डी जेनरिस ने ऑस्ट्रेलिया की अभिनेत्री पोर्शिया डी रोसी से शादी की है। इन दोनों की शादी अमरीका में हुई थी।
    खबरों के मुताबिक ऑस्ट्रेलियाई सरकार सर्वे के नतीजे मानने को बाध्य नहीं है। लेकिन प्रधानमंत्री मैलकम टर्नबुल ने कहा है, यह (नतीजा) बहुत स्पष्ट है। लाखों लोगों ने वैवाहिक समानता के अधिकार के समर्थन में राय दी है। उन्होंने प्रतिबद्धता के लिए वोट किया है। प्रेम के लिए वोट किया है। निष्पक्षता के लिए वोट किया है। टर्नबुल की प्रतिक्रिया के बाद माना जा रहा है कि सत्ताधारी दल में विरोध की आवाजों के बावजूद सरकार समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता देने वाला कानून संसद में जल्द पेश करेगी। संसद इसे इसी साल पारित भी कर सकती है। (इकॉनॉमिक टाईम्स)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Nov-2017
  • ढाका, 15 नवम्बर। बांग्लादेश में फेसबुक पर कथित रूप से एक भड़काऊ पोस्ट डालने वाले एक हिंदू व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके इस पोस्ट के कारण चार दिन पहले अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के लोगों से 30 से ज्यादा घरों में आग लगा दी गयी थी। देश के गृह मंत्री ने यह जानकारी दी। रंगपुर जिला पुलिस की एक विशेष टीम ने आरोपी टीटू चंद्र रॉय को उसके परिजन के घर से गिरफ्तार किया जहां वह छिपा हुआ था। रंगपुर जिले के हिंसाग्रस्त ठाकुरपुर गांव का दौरा करने वाले गृह मंत्री असदुज्जमां खान कमाल ने हिंदुओं को सुरक्षा का आश्वासन देते हुए कहा कि बांग्लादेश के लोगों की राजनीतिक मान्यता चाहे कुछ भी हो, वे आपके साथ हैं।
    कमाल ने कहा, यह हिंसा एक साजिश है और इस तरह की घटनाएं पूर्व में भी हुई हैं लेकिन कोई भी साजिशकर्ता न्याय की जद से बच नहीं सकता। दोषी इस बार भी न्याय की पकड़ से बच नहीं पाएंगे। 
    उन्होंने कहा, रॉय को गिरफ्तार कर लिया गया है और दोषी पाए जाने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। देश के सबसे बड़े इस्लामी दल जमात ए इस्लामी के कार्यकर्ताओं ने पोस्ट से धार्मिक भावनाएं आहत होने की बात कहते हुए शुक्रवार को जमकर उत्पात मचाया था। इस्लामी दल पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया के नेतृत्व वाली विपक्षी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) की प्रमुख सहयोगी है।
    पुलिस के दंगाइयों पर गोलीबारी करने पर कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गयी। पुलिस ने हिंसा के बाद 124 लोगों को गिरफ्तार किया।  (एनडीटीवी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 15-Nov-2017
  • हरारे, 15 नवम्बर। जिम्बाब्वे में बढ़ते राजनीतिक संकट के बीच राष्ट्रीय प्रसारक जेडबीसी के मुख्यालय पर सैनिकों ने कब्जा कर लिया है। राजधानी हरारे में विस्फोट की खबरें भी मिलीं हैं लेकिन इसका कारण स्पष्ट नहीं है। वहीं, इससे पहले दक्षिण अफ्रीका में देश के राजदूत ने तख्तापलट की खबरों को खारिज कर दिया था।
    जिम्बाब्वे की सत्तारूढ़ पार्टी ने देश के सेना प्रमुख द्वारा संभावित सैन्य हस्तक्षेप की चेतावनी देने के बाद राजद्रोह करने का आरोप लगाया था। जनरल कॉन्स्टेंटिनो चिवेंगा ने राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे द्वारा उप राष्ट्रपति को बर्खास्त करने के बाद चुनौती दी थी। वहीं, तनाव मंगलवार से बढ़ा है जब बख्तरबंद वाहन हरारे के बाहर की सड़कों पर तैनात कर दिए गए थे और इनका यहां तैनात होने का उद्देश्य भी स्पष्ट नहीं था। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि राष्ट्रपति रोबर्ट मुगाबे के शासन की महत्वपूर्ण समर्थक रही सेना और 93 वर्षीय नेता के बीच तनाव गहरा गया है और बुधवार तड़के बोरोडाले में लंबे समय तक गोलीबारी हुई।
    मुगाबे की जेडएएनयू-पीएफ पार्टी ने सेना प्रमुख जनरल कांन्सटैनटिनो चिवेंगा पर मंगलवार को राजद्रोह संबंधी आचरण का आरोप लगाया। इस विवाद ने मुगाबे के लिए ऐसे समय में बड़ी परीक्षा की घड़ी पैदा कर दी है, जब पहले कह वहां हालात खराब चल रहे हैं। चिवेंगा ने मांग की है कि मुगाबे उपराष्ट्रपति एमरसन मनांगाग्वा की पिछले सप्ताह की गई बर्खास्तगी को वापस लें।
    जेडएएनयू-पीएफ ने कहा कि चिवेंगा का रुख स्पष्ट रूप से राष्ट्रीय शांति को बाधित करने वाला है।।। और यह उनकी ओर से राजद्रोह संबंधी आचरण की ओर इशारा करता है क्योंकि इसका मकसद विद्रोह को भड़काना है। मनांगाग्वा को बर्खास्त किए जाने से पहले उनका मुगाबे की पत्नी ग्रेस (52) से कई बार टकराव हुआ था। ग्रेस को अगले राष्ट्रपति के लिए मनांगाग्वा का प्रतिद्वंद्वी माना जा रहा है।
    हालात खराब होने के मद्देनजर हरारे में अमरीकी दूतावास ने अपने नागरिकों को चेताया है कि जारी राजनीतिक अस्थिरता के कारण वे शरण ले लें। चिवेंगा ने संभावित सैन्य हस्तक्षेप की चेतावनी दी थी। इसके मद्देनजर हरारे के बाहर सशस्त्र वाहनों ने निवासियों को चिंतित कर दिया है। इस संबंध में टिप्पणी के लिए सेना के प्रवक्ता से बात नहीं हो पाई। (एजेंसियां)

     

    ...
  •  


Posted Date : 14-Nov-2017
  • पाकिस्तान के पंजाब प्रांत से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां एक 14 सेल के नाबालिग को एक मुर्गी के साथ दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लाहौर से लगभग 200 किलोमीटर दूर हफीजाबाद के रहने वाले मनसाब अली ने पुलिस थाने में अपने पड़ोसी अंसार हुसैन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई है। मनसाब का कहना है कि उसके पड़ोसी अंसार ने उसकी मुर्गी के साथ दुष्कर्म कर उसे मारा डाला। मनसाब की तरफ से दो चश्मदीद भी थाने पहुंचे थे। मनसाब की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी अंसार को गिरफ्तार कर लिया है। पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने आरोपी का मेडिकल परिक्षण कराया जिसके बाद इस बात की पुष्टि हो गई कि उसने मुर्गी के साथ दुष्क्रम किया जिसके चलते मुर्गी की मौत हो गई।
    मेडिकल परिक्षण सामने आने के बाद आरोपी अंसार ने भी अपना गुनाह कुबूल कर लिया है। अंसार ने पुलिस को बताया कि उसने ऐसा अपने सेक्सुअल फ्रस्टेशन के चलते किया। (जनसत्ता)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Nov-2017
  • ईरान, 14 नवम्बर। ईरान-इराक में आए भूकंप में मरने वालों की संख्या 396 तक पहुंच गई है। यहां रविवार शाम को 7.3 तीव्रता का भूकंप आया था। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे का कहना है कि इस बार भूकंप का केंद्र इराकी कस्बे हलाब्जा से दक्षिण-पश्चिम में 32 किलोमीटर दूर स्थित था। इस भूकंप के प्रत्यक्षदर्शियों ने बीबीसी को अपनी आपबीती सुनाई।
    खुसरो सारपोल-ए जहाब के पास एक गांव में रहते हैं। यह इलाका इराक सीमा के पास है और भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित रहा है।
    खुसरो बताते हैं, मेरी बहनों और पिता पर दीवार गिर गई। मुझे उन्हें घर से बाहर खींच कर लाना पड़ा। मेरी मां को चोटें आ गई थीं। मेरी आंटी, कजन और उनके बच्चों की मौत हो गई।
    पूरा गांव तबाह हो गया। कब्रें तक टूट गईं और उनमें से लाशें बाहर आ गईं। यहां पानी नहीं है। लोग नदी के पानी के इस्तेमाल कर रहे हैं। हमारे पास खाने को कुछ नहीं है। हमें पानी और गर्म कपड़ों की जरूरत है।
    आमिर भी सारपोल-ए जहाब में रहते हैं। उन्होंने बताया, 30 प्रतिशत तक शहर तबाह हो गया है। मेयर सोशल हाउसिंग बिल्डिंग पूरी तरह नष्ट हो चुकी है। शहर की 30 प्रतिशत इमारतें ढह गई हैं। उन्होंने कहा, लोगों को खाने और पानी की जरूरत है। बचाव दल शहर में है लेकिन मुझे लगता है मरने वालों की संख्या अभी और बढ़ेगी।
    मेहरदाद के रिश्तेदार उनके घर नष्ट होने के बाद करमनशाह प्रांत में टेंट में रह रहे हैं।

     उन्होंने बताया, मैं अपने रिश्तेदारों के लिए खाना और टेंट का इंतजाम करने करमनशाह में भूकंप के केंद्र के पास स्थित गांवों में गया था। सभी गांव गायब हो गए हैं। लोगों के पास पर्याप्त खाना और पानी नहीं है और उन्हें टेंट की जरूरत है।
    सलाह करमानशाह के सलास-ए बाबजानी जिले में रहते हैं। उन्होंने बताया, हम भूकंप के केंद्र के नजदीक हैं। लोग अपने घरों से बाहर रह रहे हैं। सलाह ने कहा, यहां बस कुछ ही टेंट हैं और 50 से 80 प्रतिशत घर बर्बाद हो चुके हें। यहां खाना और दवाई नहीं है। (बीबीसी)

    ...
  •  


Posted Date : 13-Nov-2017
  • ढाका, 13 नवम्बर । बांग्लादेश में रंगपुर जिले के गंगाचारा में एक हिन्दू गांव में पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। पुलिस का कहना है कि एक फेसबुक पोस्ट के कारण इस हिन्दू गांव पर लोगों ने हमला कर दिया था। उस फेसबुक पोस्ट को आपत्तिजनक बताया जा रहा है।
    पुलिस का कहना है कि तितु रॉय के घर पर लोगों ने हमला किया था, जिन पर धार्मिक भावना भड़काने का आरोप हैं। जब लोगों ने हमला किया तो गंगाचारा के ठकुराती गांव में तितु रॉय नहीं थे। तितु रॉय की फेसबुक पोस्ट को लेकर यहां लंबे समय से तनाव है।
    इस फेसबुक पोस्ट को लेकर हाल ही में इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलजी एक्ट के तहत मुकदमा किया गया है। स्थानीय पुलिस का कहना है कि रॉय को गिरफ्तार किया जाएगा।
    डीआईजी ने कहा कि जुम्मे की नमाज के बाद कुछ स्थानीय लोगों ने गांव पर धावा बोल दिया। इन लोगों ने सड़क को भी बंद कर दिया था। हिन्दुओं के घर जलाने की कोशिश की गई तो पुलिस को गोली चलानी पड़ी।
    पुलिस का कहना है कि इसमें कुछ लोग जख्मी भी हुए हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि अब हालात नियंत्रण में हैं। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच चल रही है और तितु रॉय को गिरफ़्तार करने के लिए सुरक्षा बलों को नारायणगंज भेजा गया है।
    हाल के वर्षों में फेसबुक पोस्ट को लेकर अल्पसंख्यक गांवों पर हमले बढ़े हैं। साल 2012 में एक बौद्ध भिक्षु पर हमला किया गया था। उस बौद्ध भिक्षु को जला दिया गया था। पिछले साल भी एक हिन्दू गांव पर हमला किया गया था।
    वहीं बांग्लादेश के अहम अखबार ढाका ट्रिब्यून का कहना है कि इस मामले में 30 से ज्यादा घरों में तोडफ़ोड़ और लूटपाट की गई। ट्रिब्यून के मुताबिक लूटपाट के बाद घरों को जला दिया गया। इस अखबार का कहना है कि एक व्यक्ति के मारे जाने के बाद भीड़ हिंसक हो गई और हिन्दू घरों में तोडफ़ोड़ पर आमादा हो गई। ट्रिब्यून का कहना है कि इस मामले में 53 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। (बीबीसी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 13-Nov-2017
  • मनीला, 13 नवम्बर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आसियान शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए तीन दिनों के फिलीपींस दौरे पर हैं। फिलीपींस में मोदी ने अपने नाम पर रखे खेत की मिट्टी खोदी। 
    मोदी के फिलीपींस दौरे का आज दूसरा दिन है। पीएम नरेंद्र मोदी आसियान-भारत और पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिये फिलीपींस के तीन दिन की यात्रा पर हैं। अपनी इस यात्रा के दौरान मोदी आतंकवाद और उग्रवाद की बढ़ती चुनौतियों से निपटने के लिये एक वैश्विक दृष्टिकोण तय किए जाने की भारत की मांग दोहराने के साथ क्षेत्रीय व्यापार बढ़ाने के लिये कदम उठाने पर जोर दे सकते हैं।
    मंगलवार को आसियान शिखर सम्मेलन के दौरान विवादास्पद दक्षिण चीन सागर क्षेत्र में चीनी की आक्रामक सैन्य गतिविधियों, उत्तर कोरिया के परमाणु मिसाइल परीक्षणों और क्षेत्रीय सुरक्षा परिवेश जैसे मुद्दों पर भी चर्चा होगी। सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, जापान के पीएम शिंजो आबे, ऑस्ट्रेलिया के पीएम मैकुलम टर्नबुल और रूस के पीएम दिमित्री मेतवेदेव और कुछ अन्य देशों के नेताओं के साथ अलग से द्विपक्षीय मुलाकातें कर सकते हैं।
    10 प्रमुख देशों का संगठन दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन (आसियान) की बैठक में भाग लेने के लिये म्यांमार की नेता आंग सान सू की, 
    कंबोडिया के पीएम हुन सेन, मलेशिया के पीएम नजीब रज्जाक, सिंगापुर के पीएम ली सिएन लूंग और न्यूजीलैंड की पीएम जे आरडेर्न पहले ही मनीला पहुंच चुके हैं।
    आसियान शिखर सम्मेलन में व्यापार और निवेश से जुड़े मुद्दों पर अधिक जोर दिये जाने की संभावना है। पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में नेताओं के समुद्री सुरक्षा, आतंकवाद, अप्रसार और पलायन जैसे मुद्दों पर गहन विचार-विमर्श होगा। दस आसियान सदस्य देशों के अलावा पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भारत, चीन, जापान, कोरियन रिपब्लिक ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अमरीका और रूस शामिल हो रहे हैं।
    मोदी आसियान-भारत और पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलनों को मंगलवार को संबोधित करेंगे। वह आसियान की 50वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित विशेष कार्यक्रम में भी भाग लेंगे। कट्टरता से मुकाबला करने के लिये अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित करने के भारत के प्रस्ताव पर भी चर्चा होने की संभावना है। भारत इसके लिये तारीख तय करना चाहता है।
    पीएम मोदी आसियान व्यापार और निवेश शिखर सम्मेलन के साथ-साथ क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी (आरसीईपी) के नेताओं की बैठक में भी भाग लेंगे। आरसीईपी में 10 सदस्यीय आसियान के अलावा भारत, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड शामिल हैं। यह समूह मुक्त व्यापार समझौते के लिये बातचीत कर रहा है।
    फिलीपींस की अपनी पहली यात्रा के दौरान मोदी भारतीय समुदाय द्वारा आयोजित स्वागत समारोह में शामिल होंगे और अंतरराष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान (आईआरआरआई) और महावीर फिलिपीन फाउंडेशन भी जाएंगे। (एबीपी न्यूज)

     

    ...
  •  


Posted Date : 13-Nov-2017
  • लंदन, 13 नवम्बर । ब्रिटेन के एक स्कूल में अब एडमिशन फॉर्म से मां-पिता के नाम का कॉलम हटा दिया जाएगा। इस स्कूल को आदेश दिया गया है कि दाखिला फॉर्म से मां और पिता का नाम हटा दिया जाए। दरअसल, एक व्यक्ति ने अधिकारियों से शिकायत की थी कि इनका इस्तेमाल एक दूसरे से अलग रह रहे दंपत्ति और समलैंगिक माता पिता के खिलाफ भेदभावपूर्ण है।
    दक्षिण पश्चिम लंदन के वांड्सवर्थ में स्थित होली घोस्ट रोमन कैथोलिक प्राइमरी स्कूल अब तक लोगों से एक फार्म भरने को कहता था जिसमें मां/ अभिभावक और पिता/ अभिभावक के नाम के लिए ही सिर्फ खाली जगह रहती थी।
    खबर के मुताबिक एक स्थानीय माता पिता यह मामला स्कूल के मामलों का निर्णय करने वाली एक संस्था के पास लेकर गए थे, जिसने पाया कि स्कूल ने ब्रिटेन के सरकारी स्कूल दाखिला संहिता का उल्लंघन किया है। इसके बाद स्कूल को अपने दाखिला फार्म से मां और पिता का नाम हटाने का आदेश दिया गया। (द संडे टाईम्स)

     

    ...
  •  


Posted Date : 13-Nov-2017
  • सुलेमानिया/नई दिल्ली, 13 नवम्बर। ईरान-इराक में आए भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर 328 हो गई है। भूकंप का असर ईरान में अधिक है। इराक में अभी तक छह लोगों के मरने की पुष्टि हुई है। ईरान से मिल रही रिपोर्टों के अनुसार इस भूकंप में बड़ी संख्या में लोग घायल भी हुए हैं। कई शहरों और गांवों में बिजली की आपूर्ति बंद है। भूकंप प्रभावित इलाके में कुछ सड़कें यातायात के लायक नहीं रह गई हैं और इस वजह से बचाव टीमों को वहां पहुंचने में समस्या आ रही है।
    7.3 तीव्रता वाले इस भूकंप का केंद्र इराक और ईरान का सीमावर्ती इलाका है। यहां से इराक का कुर्द बहुल शहर हलाब्जा पास पड़ता है। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे का कहना है कि भूकंप का केंद्र इराकी कस्बे हलाब्जा से दक्षिण-पश्चिम में 32 किलोमीटर दूर स्थित था। इस भूकंप के झटके इसराइल और कुवैत में भी महसूस किए गए।
    ईरान के करमनशाह प्रांत में हताहतों की संख्या ज्यादा होने की आशंका जताई जा रही है। ईरान के सरकारी मीडिया के मुताबिक, भूकंप के झटके कई प्रांतों में महसूस किए गए। कुर्दिश टीवी का कहना है कि इराकी कुर्दिस्तान में कई लोग भूकंप की वजह से अपने घरों को छोड़कर भागे।  (बीबीसी)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Nov-2017
  • ऑस्ट्रेलिया, 12 नवम्बर (एनडीटीवी)। बीते सोमवार को ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले एक शख्स के घर में चोरी की घटना घटी। चोरी किए गए सामान में लैपटॉप, आईपैड, ज्वैलरी और कुछ इलैक्ट्रॉनिक्स सामान थे। लेकिन सबसे हैरान कर देने वाली खबर यह है कि चोरों ने उस घर से पालतू कुत्ते के बच्चे को भी चोरी कर लिया। यह परिवार सबसे ज्यादा परेशान इसी बात से था कि चोरों ने उनकी आठ हफ्ते की 'लैब्राडोर साशा चोरी हो गई। घटना के कुछ दिन बाद उस परिवार ने मीडिया के जरिए उन चोरों से भावनात्मक अपील करते हुए कहा कि उनकी साशा को उन्हें लौटा दें। यह खबर ऑस्ट्रेलिया में कुछ दिनों से चर्चा का केंद्र बनी हुई थी। 
    इस परिवार ने बताया कि उनकी चार साल की बेटी की सबसे अच्छी दोस्त साशा थी। यह उनके लिए काफी नुकसानदेह है कि साशा के बिना उनकी बच्ची कैसी रहेगी। इस परिवार ने मीडिया को बताया कि सोमवार को जब वे घर में आए, तो उन्होंने देखा कि घर का सामान चोरी हो चुका था। जिसके बाद सोशल मीडिया और पुलिस में उन्होंने उसे ढूंढने की गुहार लगाई और गुरुवार को साशा उन्हें घर के पीछे गार्डन में वापस मिल गई। उनका कहना है कि शायद चोर उनकी अपील की वजह से साशा को छोड़ गए हैं। 
    इस घटना पर रयान हुड ने कहा था कि हम चोरी किए गए सामान को वापस नहीं चाहते, लेकिन उन्हें उनकी साशा को लौटा दें। हुड ने बताया, हम सोचते हैं कि जो लोग भी उसे ले गए थे, उन्होंने इस भावनात्मक अपील के कारण या फिर डर के कारण साशा को वापस छोड़ गए हैं। वहीं, विक्टोरिया पुलिस ने कहा कि साशा अपनी प्यारी दोस्त के साथ जब होती है तो वह काफी प्यार से उसके साथ खेलती है और खुश रहती है। पुलिस ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि साशा की वापसी के बाद यह परिवार काफी खुश है। उन्होंने यह भी कहा कि इस घटना के बारे में पुलिस पड़ताल कर रही है और जल्द ही इन चोरों का पता भी लगा लिया जाएगा।

     

    ...
  •  


Posted Date : 12-Nov-2017
  • हनोई, 12 नवम्बर । अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी एशिया यात्रा के दौरान रविवार को कई ट्वीट करके अपने विरोधियों की निंदा की और कहा कि अमरीका-रूस संबंधों को लेकर उनके आलोचक और मूर्ख लोग राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन को कभी भी छोटा और मोटा नहीं कहेंगे। एशिया में पांच देशों के दौरे पर आए अमरीकी राष्ट्रपति वाशिंगटन से यहां आने के दौरान ट्विटर पर ज्यादातर शांत थे, लेकिन हनोई में आधिकारिक स्वागत समारोह से पहले उन्होंने कई ट्वीट किए।
    उन्होंने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अपने संबंधों, चीन द्वारा प्योंगयांग के परमाणु कार्यक्रम रोकने के प्रयासों सहित उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन को लेकर एक व्यंग्यात्मक ट्वीट किया है। रूसी नेता के साथ करीबी कामकाजी संबंध बनाने के प्रयासों की आलोचना करने वाले विरोधियों की ट्रंप ने निंदा की है। ट्रंप ने ट्वीट किया, नफरत करने वाले और मूर्ख लोगों को कब एहसास होगा कि रूस के साथ अच्छे संबंध अच्छी बात है न कि गलत। उन्होंने कहा, हमेशा राजनीति करना हमारे देश के लिए बुरा है। मैं उत्तर कोरिया, सीरिया, उक्रेन, आतंकवाद के मुद्दों को सुलझाना चाहता हूं और रूस इसमें बड़ी मदद कर सकता है।
    ट्रंप द्वारा किया गया ट्वीट उत्तर कोरिया और इसके परमाणु हथियारों की महत्वकांक्षाओं पर भी केंद्रित था। 
    उत्तर कोरिया के अधिकारियों और सरकारी मीडिया द्वारा उन्हें बूढ़ा व्यक्ति कहे जाने के बाद ट्रंप इस टिप्पणी से आहत हो गए हैं और उन्होंने इस टिप्पणी को उत्तर कोरियाई नेता द्वारा की गई निजी टिप्पणी के तौर पर लिया है।
    ट्रंप ने कहा, किम जोंग-उन ने क्यों मेरा अपमान बूढ़ा कहकर किया, जबकि मैं उन्हें कभी भी छोटा और मोटा नहीं कहूंगा। और हां, मैं उनका दोस्त बनने की काफी कोशिश करता हूं और संभव है कि ऐसा किसी दिन हो जाए।(एएफपी)

     

    ...
  •  




Previous12345678Next