छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

मुठभेड़ में ढेर सरिता बीजापुर की

Posted Date : 07-Dec-2017

गढ़चिरौली में पहली बार एक साथ सात नक्सली मारे गए
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 7 दिसंबर। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर की सीमा गढ़चिरौली पुलिस ने नक्सल मोर्चे में अब तक एकमुश्त 7 नक्सलियों को ढेर कर सबसे बड़ी कामयाबी हासिल की। इससे पहले 2013 में गोंविदगांव में जवानों ने 6 नक्सलियों को मार गिराया था। 
बुधवार को एक साथ 7 नक्सलियों को ढेर कर सुरक्षा बलों ने पिछले पखवाड़ेभर से बार्डर के गांवोंं में ग्रामीणों की हत्या और जवानों की शहादत की बढ़ती घटना को रोकने अपनी ताकत को दिखाया।  इन दिनों नक्सलग्रस्त राज्यों की सरहद की गांवों को नक्सलियों ने अपनी पनाहगाह के रूप में चुना है। कल भी सिरोंचा के कन्नेल के जंगल में नक्सलियों के शीर्ष नेताओं की मौजूदगी की सूचना पर फोर्स ने धावा बोला। जिसमें पुलिस को उम्मीद से अधिक सफलता मिली।
मिली जानकारी के अनुसार मारे सभी सात नक्सलियों पर करीब 26 लाख रुपये का इनाम घोषित था। बताया जाता है कि मारे गए नक्सली में आयतु उर्फ कंगा अहेरी नक्सल दलम का कमांडर था। उस पर सर्वाधिक 8 लाख रुपये का इनाम था। 
इसी तरह पांच महिलाओं सरिता कावडे (बीजापुर छत्तीसगढ़) दो लाख, छैला पर दो लाख, अखिला पर चार लाख, सुनिता कोडापे पर छह लाख तथा चंदू पर छह लाख रुपए का इनाम घोषित था। मारी गई एक महिला नक्सली की शिनाख्ती नहीं हुई है। 
इधर सीमावर्ती गांवों में पुलिस-नक्सली के बीच मुठभेड़ की बढ़ती घटनाओं ने ग्रामीणों को दहशत में ला दिया है। बताया गया है कि हाल ही में आम ग्रामीणों की ताबड़तोड़ हत्या करने और जवानों पर हमला करने की बढ़ती घटना को रोकने के लिए महाराष्ट्र पुलिस ने काम्बिंग आपरेशन चलाया हुआ है। जिस वजह से पुलिस ने  सीधे नक्सलियों के ठिकानों पर धावा बोलना शुरू किया है। यही कारण है कि कल महाराष्ट्र पुलिस को पहली बार एकमुश्त 7 नक्सलियों को मारने में कामयाबी मिली। 




Related Post

Comments