छत्तीसगढ़

  • दरभा क्षेत्र के 10 माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण
    दरभा क्षेत्र के 10 माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण

    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    जगदलपुर, 22 सितम्बर। माओवादियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत पुलिस द्वारा अंदरूनी क्षेत्रों में जन जागरण कम्युनिटी पुलिसिंग के कार्यक्रमों के आयोजनों से प्रभावित होकर बस्तर के दरभा डिवीजन के 10 माओवादियों ने शुक्रवार को स्थानीय पुलिस समन्वयक केंद्र में  डीआईजी सुंदरराज पी, बस्तर कलेक्टर धनंजय देवांगन, जिला पंचायत सीईओ रितेश अग्रवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लखन पटले, आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त गायत्री नेताम एवं अन्य पुलिस अधिकारियों की उपस्थिति में आत्मसमर्पण किया।  
    आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों में दरभा डिवीजन कमेटी अंतर्गत ग्राम ऐलंगनार के दो जनमलेशिया सदस्य ग्राम जीरम के एक जनमिलिशिया सदस्य, एक जनताना सरकार सदस्य एवं ग्राम कलेपाल के एक जनमिलिशया सदस्य एक जीएनएम सदस्य, ग्राम कुडुमखोदरा के तीन जन मलेशिया सदस्य तथा थाना मारडूम क्षेत्रांतर्गत ग्राम धर्माबेडा के एक जनमिलिशिया सदस्य शामिल हैं।  
    इन सभी लोगों को दरभा क्षेत्र के कटेकल्याण एरिया कमेटी सदस्य महंगु निवासी मुंदेनार और मारडूम क्षेत्र के जनमिलिशिया सदस्य विलास एवं हेमलाल कोर्राम ने संगठन में सम्मिलित किया था। यह सभी 2014-15 से गांव में रहकर नक्सलियों के लिए चावल दाल इक_ा करते थे। मीटिंग के समय ग्रामवासियों को ले जाते थे और माओवादी को क्षेत्र में रास्ता दिखाने तथा गांव में पुलिस के पहुंचने या अन्य गतिविधियों की जानकारी माओवादियों तक पहुंचाने का कार्य करते थे। 
    उक्त जानकारी देते हुए डीआईजी दंतेवाड़ा क्षेत्र के सुंदरराज पी ने बताया कि पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियान से जनता में विश्वास जागी है जिससे इन अंदरुनी क्षेत्रों में विकास का रास्ता भी खुल गया है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों का विश्वास भी पुलिस जीत रही है। पत्रकारवार्ता के दौरान उपस्थित कलेक्टर धनंजय देवांगन ने माओवादी विचारधारा को त्याग कर समाज की मुख्यधारा से जुडऩे वाले आत्मसमर्पित नक्सलियों को शुभकामना देते हुए कहा कि सरकार द्वारा दी जा रही पुनर्वास नीति का पूरा लाभ उन्हें दिया जाएगा। आत्मसमर्पण समर्पण के दौरान कलेक्टर द्वारा आत्मसमर्पित नक्सली संगठन के सदस्यों को 10 -10 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि के रूप में प्रदान किया गया। 
    आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों में थाना दरभा क्षेत्र के ग्राम एलंगनार से जन मलेशिया सदस्य लखमु मोर्य चांदामेटा जनताना सरकार सदस्य देऊ नाग जीरम जान सदस्य लखमा कवासी और देव लखनऊ चौकी क्षेत्र के ग्राम कृपालपुर जन मिलिशिया सदस्य फ गनु और सीएनएन सदस्य बामन पुरानी ग्राम कुडुम खोदरा के जनमिलिशिया के सदस्य लक्ष्मण मरकाम, गुड्डू कश्यप और कमलु मरकाम के साथ थाना मारडूम क्षेत्र के ग्राम धर्माबेड़ा पटेल पारा के जनमिलिशिया सदस्य भगचंद उर्फ खूटी शामिल है।

 

राजनीति

  • महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन, शिवसेना सांसद हिरासत में


    मुंबई, 23 सितंबर। पेट्रोल के बढ़ते दामों के खिलाफ शिवसेना ने आज मुंबई में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस दौरान शिवसेना के दो सांसद- अरविंद सावंत, अनिल देसाई सहित कई पार्टी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। शिवसेना इससे पहले भी पेट्रोल के बढ़ते दामों के खिलाफ प्रदर्शन कर चुकी है। 
    शिवसेना एलपीची सिलेंडर की कीमत बढऩे पर भी भाजपा पर निशाना साध चुका है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामनाÓ में लिखा था कि पीएम मोदी बुलेट ट्रेन खरीदकर अपने सपने पूरे करने में लगे हैं लेकिन आम आदमी अपने दो पहिया के लिए दो लीटर पेट्रोल भी नहीं खरीद सकता। पिछले कुछ दिनों में पेट्रोल के दामों में बढ़ोतरी हुई थी। विपक्ष के साथ-साथ आम लोगों ने भी इसके खिलाफ प्रदर्शन किए। वहीं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आज कहा कि पेट्रोल के दाम अब नीचे आने शुरू भी हो गए हैं। प्रधान ने कहा कि सभी राज्यों को देखना चाहिए कि अब आम जनता पर इसका बोझ ना पड़े।  (पंजाब केसरी)

मनोरंजन

  • न्यूटन आंखें खोलने वाली फिल्म-अमिताभ

    राजकुमार राव अभिनीत न्यूटन  90वें अकादमी पुरस्कार (ऑस्कर) में भारत की आधिकारिक फिल्म होगी। फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव सुपर्ण सेन के मुताबिक चयन समिति ने 26 फिल्मों में से न्यूटन को आम सहमति से ऑस्कर में भेजने के लिए चुना है। इसे बेस्ट फॉरेन फिल्म कैटेगरी के लिए भेजा जाएगा। यह खबर आने के साथ ही न्यूटन सोशल मीडिया पर लगातार ट्रेंड कर रही है। लोगों ने इस खबर को पूरे उत्साह के साथ शेयर किया है और उम्मीद जताई है कि फिल्म ऑस्कर जीतने में सफल रहेगी।
    ट्विटर पर इसकी जानकारी देते हुए अभिनेता राजकुमार राव ने लिखा है, यह खबर साझा करते हुए मैं बहुत खुश हूं कि न्यूटन इस साल भारत की तरफ से ऑस्कर में आधिकारिक प्रविष्टि होगी। पूरी टीम को बधाई। इस ट्वीट को हजारों लोगों ने लाइक और रीट्वीट किया है और इसके साथ राजकुमार राव को बधाई दी है। फिल्म निर्माता-निर्देशक हंसल मेहता का ट्वीट है, .... बीते लंबे अरसे को देखें तो उसमें यह फेडरेशन द्वारा चुनी गई सर्वश्रेष्ठ फिल्म है। न्यूटन आज ही रिलीज हुई है। फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन ने इसे देखने का अनुभव ट्विटर पर शेयर किया है, ....न्यूटन कई मायनों में आंखें खोलने वाली है...

     

स्थायी स्तंभ

खेल

  • सहवाग ने इस ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज की तुलना ‘नील नितिन मुकेश’ से की, कमेंटेटर भी रह गए दंग

    नई दिल्ली: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोलकाता के इडेन गार्डन में खेले गए दूसरे वनडे मुकाबले में भारतीय टीम ने 50 रन से ऑस्ट्रेलिया को मात देकर सीरीज में 2-0 से बढ़त बना ली. इस मैच में भारत के लिए कुलदीप यादव ने हैट्रिक ली थी. कप्तान विराट कोहली ने इस मैच में शानदार 92 रनों की पारी खेली थी. कोहली और रहाणे के बीच 102 रनों की साझेदारी हुई, जिसकी बदौलत भारतीय टीम 252 रनों का चुनौतूपूर्ण स्कोर बना पाई. ऑस्ट्रेलिया के सामने कम दिख रहे स्कोर को भारतीय गेंदबाजों ने शानदार तरीके से बचाव किया और टीम को 50 रनों से जीत दिला दी. भारत के लिए कुलदीप यादव और भुवनेश्वर कुमार ने तीन-तीन विकेट चटकाए, जबकि चहल और पांड्या ने दो-दो विकेट झटके. इडेन गार्डन में हुए इस मैच में भारतीय टीम के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और भारतीय महिला क्रिकेट की पेस बॉलर झूलन गोस्वामी ने घंटी बजाकर मैच की शुरुआत की. सहवाग और गोस्वामी द्वारा बेल बजाते ही फैंस खुशी से झूम उठे.
    सहवाग जब खेलते थे तो अपने बल्ले के प्रहार से फैंस का मनोरंजन करते थे, लेकिन रिटायरमेंट के बाद अपने मजेदार ट्वीट और कमेंट से क्रिकेट फैंस का मनोरंजन कर रहे हैं. सहवाग द्वारा किया गया हर ट्वीट और कमेंट का अंदाज अलग और मजेदार होता है, जिसे फैंस खूब पसंद करते हैं. ऐसा ही एक मौका फिर आया जब सहवाग ने अपने कमेंट से फैंस का मनोरंजन किया. सहवाग ने इस बार ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज नाथन-कुल्टर-नाइल के बारे में एक कमेंट किया है. उन्होंने नाथन-कुल्टर-नाइल की तुलना बॉलीवुड अभिनेता नील-नीतीन मुकेश से की है. ‘नाथन-कुल्टर-नाइल के तीन नाम हैं, जैसे बॉलीवुड एक्टर नील-नीतीन-मुकेश के हैं.’ सहवाग के इस कमेंट के बाद कमेंटरी बॉक्स में मौजूद अन्य कमेंटेटर ही नहीं ट्विटर यूजर्स ने भी इस कमेंट को खूब पसंद किया और तरह-तरह के कमेंट किए. 
    कोलकाता वनडे जीतने के बाद भारतीय टीम की नजरें अब इस सीरीज में 3-0 से बढत बनाने की होगी. सीरीज का तीसरा मैच रविवार को इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेला जाएगा. खास बात यह है कि इस मैदान पर भारतीय टीम अब तक तो ना कोई टॉस हारी है और ना ही मैच. बता दें कि इसी मैदान पर वीरेंद्र सहवाग ने वनडे में 219 रन की शानदार पारी खेलकर सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड अपने नाम किया था. होल्कर स्टेडियम में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी बीते दिनों न्यूजीलैंड के खिलाफ 211 रनों की पारी खेली थी, उस मैच में रहाणे ने भी 188 रन बनाए थे.

कारोबार

  • जीएसटी लागू होने के बाद बाजार में चल रहा है कच्चे और पक्के बिल का खेल

    नई दिल्ली, 23 सितंबर। जीएसटी लागू होने के बाद जरूरी दस्तावेज जुटाने के लिए व्यापारी सीए के साथ माथापच्ची कर रहे हैं और व्यापार में लगातार घाटा उठा रहे हैं, क्योंकि बढ़े हुए टैक्स देने से बचने के लिए ग्राहक कच्चे में माल मांगता है और व्यापारी ऐसा करें तो छापे का डर रहता है। ऐसे में छोटे व्यापारी जो जीएसटी में रजिस्टर्ड नहीं हैं, वो इसका जमकर फायदा उठा रहे हैं। इस संबंध में एनडीटीवी की टीम ने कश्मीरी गेट के ऑटो पार्ट्स में चल रहे कच्चे पक्के बिल के खेल की तफ्तीश की।
    कश्मीरी गेट में एशिया की सबसे बड़ी ऑटोपार्ट्स बाजार में सन्नाटा पसरा है, क्योंकि अधिकतर ऑटोपार्ट्स पर 28 फीसदी जीएसटी है, जिसके कारण व्यापार ठंडा है। लेकिन इस बाजार में दो तरह के व्यापारी है। एक व्यापारी जो जीएसटी के अंतर्गत रजिस्टर्ड हैं, जिन्हें हर माल 28 फीसदी जीएसटी लगा कर ही बेचना है और दूसरे वो व्यापारी हैं, जो बिना बिल दिये धड़ल्ले से माल बिना जीएसटी लिए बेच रहे हैं। बाजार में इस तरह के खरीद फरोख्त से जीएसटी के अंतर्गत रजिस्टर्ड व्यापारियों का काम बिल्कुल मंदा पड़ गया है। एनडीटीवी की टीम ने ऑटपार्ट्स के इस बाजार में जाकर दोनों तरह के व्यापारियों से मुलाकात की। बाजार में हम जीएसटी रजिस्टर्ड व्यापारी लोकेश से मिले और जाना कि वेगेनऑर के पांच पुर्जों हेडलाइट, टेल लाइट, साइड मिरर, बंपर और ग्रिल की कीमत जीएसटी लगने के बाद कितनी है।
    लोकेश ने बताया कि वो जीएसटी में रजिस्टर्ड व्यापारी हैं, इसलिए 28फीसदी टैक्स लगाकर माल बेचते हैं। उन्होंने बताया कि हेडलाइट की कीमत जीएसटी लगाकर 830 रुपये, टेललाइट 320 रुपये, साइड मिरर 160 रुपये, बंपर 1088 रुपये, और ग्रिल 450 रुपये में बेचते हैं। लोकेश कहते हैं, ग्राहक हमसे कहता है 28 फीसदी टैक्स नहीं दे सकता कच्चे में कर लो बिल ना बनाओ। पर हम ऐसा कर नहीं सकते। क्या करें पर थोड़ी दूर कुछ व्यापारी बिना बिल के माल बेच रहे हैं, इसलिए ग्राहक वहीं जा रहे हैं।
    हमारी टीम जब लोकेश की दुकान से सिर्फ 400 मीटर दूर एक और व्यापारी के पास पहुंची, जो बिना बिल और बिना जीएसटी लगाए माल बेच रहा हैं। उस व्यापारी ने अपनी पहचान ना बताने की शर्त पर हमसे बात करने को तैयार हो गया। हमने उनसे बिना जीएसटी के वेगेनार के पांचों पुर्जों के रेट जाने तो हमारे होश उड़ गए।
    बिना बिल दिए माल बेचने वाले व्यापारी ने हमें बताया, वो हेडलाइट 700 रुपये, टेललाइट 280 रुपये, साइड मिरर 125रुपये, बंपर 900 रुपये और ग्रिल 450 रुपये में बेचते हैं। उस व्यापारी ने बताया कि ग्राहकों से वो जीएसटी नहीं वसूलते और ग्राहक भी बिल नहीं मांगता, क्योंकि अगर हमने उसे बिल दिया तो उसे 28 फीसदी टैक्स देना पड़ेगा तो ऐसे में हमारा भी काम हो जाता है और ग्राहक भी खुश हो जाता है। अगर हम भी टैक्स वसूलेंगे तो ग्राहक माल ही नहीं लेंगे।
    पूरे खुलासे के बाद व्यापारी नेताओं का कहना है कि जीएसटी इतनी लगाई गई है कि ग्राहक बिना बिल माल खरीद रहा है सरकार या तो जीएसटी कम करे या फिर सारे व्यापारियों को जीएसटी के अंदर लाएं।  (एनडीटीवी)

     

सेहत/फिटनेस

  • रोजाना मेकअप, सावधान हो सकती है समस्याएं

    आजकल सभी लड़कियां अट्रेक्टिव और खूबसूरत दिखना चाहती हैं. ऐसे में वो रोजाना सुंदर दिखने के लिए मेकअप का सहारा लेती हैं. लेकिन रोजाना किया गया मेकअप कई बार नुकसान भी पहुंचा सकता है.  चेहरे को खूबसूरत बनाने, सुंदर दिखने के लिए लड़कियां रोजाना ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट का इस्तेमाल करने लगी हैं. मेकअप खूबसूरती में चार चांद लगाने में अहम भूमिका निभाता है. 

    खास मौके पर मेकअप करना आम बात है लेकिन अगर लड़कियां रोजाना मेकअप करती हैं तो उन्हें सावधान होने की जरूरत है क्योंकि रोजाना मेकअप करने से त्वचा की प्राकृतिक चमक कम हो जाती है. इसके अलावा भी रोजाना मेकअप करने से कई नुकसान भी होते हैं...

    त्वचा में बदलाव
    मेकअप से त्वचा के छिद्र बंद हो जाते हैं. इससे पसीना नहीं आता है. रोजाना मेकअप करने से और पसीना ना आने से त्वचा का प्रकार अचानक बदल सकता है. ऐसी स्थिति से बचने के लिए रोजाना मेकअप नहीं करना चाहिए.
     
    संक्रमण का खतरा
    रोजाना मेकअप का इस्तेमाल करने से चेहरे के छिद्र बंद हो जाने का खतरा रहता है. इससे संक्रमण का खतरा रहता है और कई बार इस कारण चेहरे पर मुंहासे भी निकल जाते हैं.
    आंखों में जलन
    लड़कियां आई मेकअप का भी काफी इस्तेमाल करती हैं. आई मेकअप के रोजाना इस्तेमाल से आंखें जल्द ड्राई हो जाती हैं. इससे आंखों में जलन, खुजली और भारीपन की समस्या हर वक्त रहती है. ऐसी समस्या से बचने के लिए मेकअप का इस्तेमाल रोजाना नहीं करना चाहिए.
    एलर्जी

    रोजाना मेकअप करने से कई तरह की एलर्जी भी हो सकती है. जिसके कारण चेहरा लाल भी पड़ सकता है. इससे बचने के लिए भी रोजाना मेकअप नहीं करना चाहिए.

    पलकों को नुकसान
    कई लड़कियां रोजाना काजल का इस्तेमाल करती हैं. काजल के रोजाना इस्तेमाल से उनकी पलकें कम होने लगती हैं. इसलिए काजल का रोज इस्तेमाल करना पलकों को काफी नुकसान पहुंचाता है.

सामान्य ज्ञान

  • पोषक पदार्थ

    वे पदार्थ, जो जीवों में विभिन्न प्रकार के जैविक कार्यों के संचालन एवं संपादन के लिए आवश्यक होते हैं, पोषक पदार्थ कहलाते हैं। उपयोगिता के आधार पर ये पोषक पदार्थ चार प्रकार के होते हैं-
    ऊर्जा उत्पादक- वे पदार्थ, जो ऊर्जा उत्पन्न करते हैं। जैसे- वसा एवं कार्बोहाइड्रेट।
    उपापचययी नियंत्रक- ये पोषक पदार्थ, जो शरीर की विभिन्न उपापचयी क्रियाओं का नियंत्रण करते हैं। जैसे-विटामिन्स, लवण एवं जल।
    वृद्घि तथा निर्माण पदार्थ- वे पोषक पदार्थ, जो शरीर की वृद्घि एवं शरीर की टूट-फूट की मरम्मत का कार्य करते हैं। जैसे-प्रोटीन।
    आनुवंशिक पदार्थ- वे पोषक पदार्थ, जो आनुवंशिक गुणों को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ले जाते हैं। जैसे- न्यूक्लिक अम्ल।
    कोयला व लिग्नाइट
    कोयला हमारा सबसे बड़ा खनिज संसाधन है और नवीनतम स्थिति के अनुसार विश्व में कोयला उत्पादन के मामले में चीन और अमरीका के बाद भारत का तीसरा स्थान है। गोंडवाना संरचना वाले कोयला के विशाल भंडार पश्चिम बंगाल, झारखंड, उड़ीसा, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और महाराष्टï्र में है।  देश में कोयला का कुल भंडार 234.114 अरब टन होने का अनुमान है। कोयला भंडार की तुलना में लिग्नाइट के भंडार केवल 34. 763 अरब टन है, जिसमें से अधिकांश भंडार तमिलनाडु के नेवेली क्षेत्र में और उसके आस-पास हंै।

अंग्रेज़ी

  • The English Corner 23 sep

    Proverbs
     bird in hand is worth two in a bush
    It's better to keep what you have than to risk losing it by searching for something else.
    Honey catches more flies than vinegar
    You can obtain more cooperation from others by being nice.
    Liars need good memories
    People who do not tell the truth must be careful to remember what they say.
    Marry in haste, repent as leisure
    If you get married too quickly, you may spend your whole life regretting it.

     Phrasal Verbs
    A phrasal verb is a verb followed by a preposition or an adverb; the combination creates a meaning different from the original verb. Below you will find a list of phrasal verbs in alphabetical order with their meaning and an example of use.
    break off- 1) Stop, discontinue 2) Stop speaking    
    1) It was decided to break off diplomatic   relations with that country. 2) She broke off in the middle of a sentence.

    Tongue Twister
    Toy phone, Toy phone, Toy phone..
    (Repeat it loudly a few times to check   if you could say it fast, without a slip)

    Common Mistakes and 

    Confusing Words in English
    driving test / test drive
    A driving test (also known as a driving exam) is a procedure designed to test a person's ability to drive a motor vehicle.
    For example:- Ash passed his driving test.
    A test drive is when you drive an automobile to assess it, usually before buying it.
    For example:- It's good fun going on a test drive.
    Note - This sentence might help you to remember:-
    You need to have passed your driving test in order to take a test drive.
    except / expect
    Except is usually used as a preposition or conjunction, which means not including.
    For example: "I teach every day except Sundays."
    Expect is a verb, which we use when we think something is likely to happen, or someone is likely to do or be something in particular.
    For example: "No one expects the Spanish Inquisition."
    Note - except is usually a preposition, but in rare circumstances except can be used as a verb.
    For example: On a road sign: "No entry, buses excepted."

फोटो गैलरी