Today Picture

सूखने लगे खेत, धान की बुवाई-रोपाई प्रभावित

Posted Date : 14-Jul-2017

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
रायपुर, 14 जुलाई। अच्छी बारिश के अभाव में प्रदेश में खेती पिछडऩे लगी है। बारिश नहीं होने से खेत सूखने लगे हैं और समय पर धान की रोपाई नहीं हो पा रही है। किसानों का कहना है कि आगामी कुछ दिनों में झमाझम बारिश नहीं होने से धान की बोनी-रोपाई प्रभावित हो सकती है। 
प्रदेश में करीब साढ़े 36 लाख हेक्टेयर में धान बोनी का लक्ष्य रखा गया है। करीब 35 फीसदी खेतों में धान की बोनी पूरी हो चुकी है।  वहां अंकुरण के साथ धान के पौधे तैयार हो रहे हैं। किसान बाकी खेतों की बोनी की तैयारी में लगे हैं, लेकिन अच्छी बारिश नहीं होने से वे सभी परेशान हैं। आगामी कुछ दिनों में दोबारा बोनी की नौबत भी आ सकती है।  
किसानों का कहना है कि करीब आठ-दस दिनों से प्रदेश में अच्छी बारिश नहीं हुई है। अधिकांश खेत सूख गए हैं। अंकुरित धान बीज सूख कर नष्ट होने की स्थिति में हैं। धान के  छोटे पौधे मुरझाने लगे हैं। वे धान की रोपाई करना चाहते हैं, पर उनके खेतों में पानी नहीं हैं। कई किसान तालाब-डबरी के आसपास थरहा को रखकर उसे मुरझाने से बचाने में लगे हैं। वहीं हजारों किसान बाकी खेतों की बोनी का इंतजार कर  रहे हैं। 


Related Post

Comments