Today Picture

Posted Date : 05-Aug-2017

Posted Date : 05-Aug-2017
  • -सत्यप्रकाश पांडेय
    एक वक्त था जब छत्तीसगढ़ के सरगुजा इलाके का लखनपुर इन (सारस क्रेन) पक्षियों की मेजबानी के लिए तैयार रहता था पर बीते दो बरस से मेहमान (सारस क्रेन) नहीं आये है। मैंने लखनपुर के कुछ लोगों और राजपरिवार के सदस्यों से मेहमान पक्षियों की बेरुखी का पता लगाया तो मालूम हुआ सारस क्रेन विकास की तेज हवाओं का शिकार बन गए। मतलब ये की लखनपुर में जिन मेहमान पक्षियों का पिछले छ: दशक से डेरा था वो जगह तालाब से खेत की शक्ल में तब्दील हो गई।
     60 बरस पुराना रिश्ता पिछले कुछ वर्षों में यूँ टूटा की अब सारस क्रेन उस इलाके में खोजे नहीं मिलते। सिंहदेव परिवार के सदस्य रणविजय सिंहदेव से बातचीत करने पर मालूम हुआ की लखनपुर में उनके खेत के समीप राजाखार नाम का एक तालाब था जहां उन पक्षियों के अनुकूल बड़ी-बड़ी घास और भोजन का माकूल इंतजाम था। उस जगह पर हर साल सारस क्रेन ब्रीडिंग भी करते थे लेकिन पिछले कुछ वर्षों में उस तालाब को पाटकर खेत बना दिया गया। यही वजह है की सारस क्रेन जैसा दुर्लभ खासकर छत्तीसगढ़ के लिए अब लखनपुर की ओर रुख नहीं करता। 
    सारस क्रेन उत्तर प्रदेश का राजकीय पक्षी है। छत्तीसगढ़ में समय-समय पर इसकी उपस्थिति के कई साक्ष्य मिले है लेकिन यहां की फिज़ा बदलते वक्त के साथ इन्हे रास नहीं आई और ये इस राज्य से रिश्ता तोड़कर हमेशा के लिए रुखसत हो गए। अगर हमारी सोच सकारात्मक होती, अगर हमको इन पक्षियों से मोह होता या फिर जंगल विभाग इनकी मौजूदगी को लेकर गंभीरता दिखाता तो शायद ये प्रवास सालों साल चलता रहता। अफ़सोस ऐसा कुछ हुआ नहीं और अब सारस क्रेन लखनपुर के किस्से कहानियों का हिस्सा बन गए।

     

    ...
  •  


Posted Date : 04-Aug-2017

Posted Date : 03-Aug-2017

Posted Date : 02-Aug-2017

Posted Date : 02-Aug-2017

Posted Date : 01-Aug-2017

Posted Date : 01-Aug-2017

Posted Date : 31-Jul-2017

Posted Date : 31-Jul-2017

Posted Date : 30-Jul-2017
  • फ्रांस में अभी हुए एक गुब्बारा-समारोह में 456 हॉट एयर बैलून ने एक साथ उड़ान भरकर एक नया विश्व कीर्तिमान बनाया। इसके पहले कभी एक साथ इतने गुब्बारे नहीं उड़े थे। इन सभी गुब्बारों के नीचे लगी बास्केट में लोग भी बैठे हुए थे। 

    ...
  •  


Posted Date : 30-Jul-2017
  • मेरठ में योगीराज के चलते एक मजार को भगवा रंग से रंगकर उस पर हनुमान प्रतिमा रख दी गई है। इसके बाद इस काम को करने का दावा करते हुए हिंदू स्वाभिमान संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भारद्वाज ने यह काम करने का दावा करते हुए टीवी कैमरों के सामने कहा कि कश्मीर में सेना पर होने वाली पत्थरबाजी और अमरनाथ पर हमले के जवाब में उत्तरप्रदेश में सभी मजारों पर भगवा रंग लगाया जाएगा। उन्होंने पुलिस को चेतावनी दी है कि अगर मजार को फिर हरा किया गया तो इसे तोड़ दिया जाएगा। 

    ...
  •  


Posted Date : 30-Jul-2017
  • चीन में बीस सड़कों का एक ऐसा फ्लाईओवर बनाया है जिस पर गाड़ी चलाते अगर लोग इसकी दूसरी सड़कों को देखते रहें तो चक्कर खा जाएंगे। हुआंगजुएवान का यह फ्लाईओवर पिछले महीने ही शुरू हुआ और उसमें 5 अलग-अलग लेबल पर 20 लेन बनी हुई हैं। सबसे ऊंची सड़क 12 मंजिल इमारत जितनी ऊंची है।

    ...
  •  


Posted Date : 30-Jul-2017
  • ब्रिटेन में अभी एक इलाज को लेकर हंगामा चल रहा है जिसमें करीब 800 बच्चों को जिनमें दस बरस के बच्चे भी थे, उन्हें सेक्स चेंज करने की दवाईयां दी गई। इसका खुलासा तब हुआ जब 17 बरस की एक ट्रांसजेंडर ने यह बताया कि वह पैदा हुई तब एक लड़का थी, और अगर उसे सरकारी इलाज में यह दवाई नहीं मिलती, और वह लड़के के रूप में रहने को मजबूर होती, तो खुदकुशी ही कर लेती। जो लोग जन्म के समय उन्हें मिले सेक्स से बेचैन रहते हैं, उन्हें सरकारी अस्पतालों में सेक्स चेंज करने के लिए दवाईयां दी जाती हैं। कुछ बड़े डॉक्टरों का यह मानना है कि यह इलाज विवादास्पद है और इससे किशोरावस्था में होने वाले फेरबदलों को रोका जाता है। इस इलाज में हर महीने हार्मोन के ऐसे इंजेक्शन दिए जाते हैं जिनसे शरीर का सेक्स संबंधी विकास रूकता है, और फिर ऑपरेशन से इन लोगों को इनके मनचाहे सेक्स दिए जाते हैं। इन दवाईयों को किशोरावस्था रोक देने की दवा कहते हैं। तस्वीर में ऐसी एक लड़की जो अब 17 बरस की है, और जब वह 5 बरस का लड़का थी।

    ...
  •  


Posted Date : 30-Jul-2017
  • इंडोनेशिया के एक समुदाय में यह रिवाज है कि लोग साल में एक बार अपने पुरखों को कब्र से निकालकर उनके कपड़े बदलते हैं, उन पर से धूल-मिट्टी झड़ाते हैं, और उन्हें फिर ताबूत में रखकर दफना देते हैं। तीन बरस पहले गुजर चुके एक बुजुर्ग को जब निकाला गया, तो परिवार की लड़की उस लाश के साथ अपनी सेल्फी लेना नहीं भूली। लाश को एक कपड़े से बांधकर खड़ा किया गया है। फोटोग्राफर / ब्रायन लेहमैन 

    ...
  •  


Posted Date : 30-Jul-2017
  • न्यूयॉर्क में हर बरस जुलाई और अगस्त के सुहाने मौसम के महीनों के हर गुरुवार को खुले में इस तरह फिल्म दिखाई जाती है ताकि लोग बगीचे में बैठकर न्यूयॉर्क की रौशन गगनचुंबी इमारतों के सामने विशाल स्क्रीन पर फिल्में देख सकें।

    ...
  •  


Posted Date : 30-Jul-2017
  • स्विटजरलैंड में एक दुस्साहसी नौजवान ने पहाड़ी खाई के हजारों फीट ऊपर केबल कार के तार पर चलकर लोगों का दिल दहला दिया। सैम वोलेरी नाम का यह नौजवान बरसों से इस स्टंट की कल्पना कर रहा था। आखिर में स्विस आल्प पर्वतमाला के इस हिस्से के प्रशासन ने उसे इजाजत दी। जब ऐसी दो केबल कार अगल-बगल कुछ दूरी पर साथ-साथ चल रही थीं, तो उनके बीच बंधे हुए एक तार पर 35 बरस का सैम चल रहा था। बाद में उसने कहा कि ऐसे तार पर चलना साधारण बंधे हुए तार पर चलने के मुकाबले अधिक मुश्किल था। इस तार के नीचे 6 हजार फीट दूरी पर जमीन थी।

     

    ...
  •  


Posted Date : 29-Jul-2017
  • अंतरराष्ट्रीय टाईगर दिवस पर ओडिशा के विश्वविख्यात रेत कलाकार सुदर्शन पटनायक ने पुरी के समुद्र तट पर यह कलाकृति बनाई है।

    ...
  •  


Posted Date : 29-Jul-2017
  • ऑस्ट्रिया में बीसवीं सालाना बॉडी पेंटिंग स्पर्धा चल रही है। इसके लिए दुनिया भर से एक से एक कलाकार इंसानी शरीर को कैनवास बनाकर पहुंचे हुए हैं। इनका मानना है कि यह कार्यक्रम दुनिया का सबसे रंगारंग कार्यक्रम होता है।

    ...
  •  


Posted Date : 29-Jul-2017
  • चार महीने के एक बच्चे के कानों में जन्म से खराबी है, और वह कुछ भी नहीं सुन पाता। फिर डॉक्टरों ने उसके कान में सुनने की एक मशीन लगाई, तो पहले तो वह उससे कुछ हड़बड़ा गया। लेकिन फिर बाद में जब उसने पहली बार अपनी मां की आवाज सुनी, तो उसकी मुस्कुराहट देखते ही बनती थी। 

    ...
  •