Today Picture

Posted Date : 24-Aug-2017
  • भारत का पिकासो कहलाने वाले मकबूल फिदा हुसैन की आखिरी नौ पेंटिंग की लंदन में प्रदर्शनी लगी है। साल 2011 में उनका निधन हो गया था।
    थ्री सिटीज-हुसैन ने इस पेंटिंग को टेल्स ऑफ थ्री सिटीज का नाम दिया है। यहां दिल्ली, वाराणसी और कोलकाता के जीवन की झांकी प्रस्तुत की गई है। पहले पैनल में जहां नेहरू का भारत, संसद, इंदिरा और राजीव गांधी के साथ-साथ आजादी की लड़ाई का भी चित्र है, वहीं दूसरे पैनल में वाराणसी नगर, विवेकानंद, हनुमान और बिस्मिल्लाह खान नजर आ रहे हैं। तीसरा पैनल कोलकाता को समर्पित है जहां सुभाष चंद्र बोस, मदर टेरेसा, सत्यजीत रे, रवींद्र नाथ टैगोर और देवी काली के चित्र देखे जा सकते हैं। (आज से इसी जगह पर एक-एक करके सभी नौ पेंटिंग्स और उनकी जानकारी देखें -संपादक)

     

    ...
  •  


Posted Date : 23-Aug-2017
  • भारत का पिकासो कहलाने वाले मकबूल फिदा हुसैन की आखिरी नौ पेंटिंग की लंदन में प्रदर्शनी लगी है। साल 2011 में उनका निधन हो गया था।
    त्रिमूर्ति- इस परियोजना को पूरा करने से पहले ही साल 2011 में हुसैन का इंतकाल हो गया था। उद्योगपति लक्ष्मी निवास मित्तल की पत्नी उषा मित्तल ने हुसैन को ये पेंटिंग्स कमीशन की थी। नौ में से आठ पेंटिंग ट्रिप्टिक यानी त्रिभंग शैली में है। हुसैन ऐसी 32 पेंटिंग बनाना चाहते थे। त्रिमूर्ति नामक इस पेंटिंग में हिंदू मान्यताओं के अनुसार सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा, पालनहार विष्णु और संहारक महेश की छवि नजर आ रही है। महेश के साथ गंगा को भी यहां देखा जा सकता है। (आज से इसी जगह पर एक-एक करके सभी नौ पेंटिंग्स और उनकी जानकारी देखें -संपादक)

    ...
  •  


Posted Date : 23-Aug-2017
  • लंदन की पहचान, वहां संसद के करीब एक टॉवर पर लगी बिग बेन नाम की घड़ी के घंटों की आवाज रखरखाव और मरम्मत के लिए चार बरस तक बंद कर दी गई है। इसके बंद होने के बाद की पहली मौन रात पर एक इतिहास दर्ज करते हुए एक जोड़ा उसके सामने टेम्स नदी की दूसरी ओर सोते हुए।

    ...
  •  


Posted Date : 22-Aug-2017
  • ब्राजील में समंदर के किनारे 11सौ फीट ऊंची एक पहाड़ी चट्टान से लटके हुए खींची गई यह तस्वीर लोगों का दिल दहला देती है। यहां ऐसा करते हुए तस्वीर खिंचवाने दूर-दूर से लोग आते हैं। लेकिन आंखों से दिखता सब कुछ सच नहीं होता। यह चट्टान समंदर से तो बहुत ऊंची है, लेकिन इसके ठीक नीचे जमीन है, और मानो यह दुस्साहस और रोमांच की गढ़ी हुई तस्वीरों के लिए ही बनी हुई है। एक एंगल से यहां तस्वीरें ऐसी दिखती हैं कि लोग जान पर खेलकर लटके हुए हैं।

    ...
  •  


Posted Date : 22-Aug-2017
  • केरल का यह एक अनोखा जोड़ा है जिसकी मुलाकात मुंबई के एक बड़े सर्जन के वेटिंगरूम में हुई थी। उस वक्त इस तस्वीर महिला, सुकन्या कृष्णन, चंदू नाम का एक युवक थी, और इस तस्वीर में पुरूष आरव अप्पुकुट्टन, उस समय बिंदू नाम की युवती था। वे दोनों  अपनी प्रकृति के विरूद्ध शरीर में कैद थे, और दोनों ही सेक्स चेंज ऑपरेशन के लिए इस सर्जन के पास पहुंचे हुए थे। वहीं पर दोनों की मुलाकात हुई और फिर मोहब्बत हो गई। अब अगले महीने ये शादी करने जा रहे हैं। दोनों ही अपने-आपको गलत शरीर में फंसा हुआ पाते थे, और अपनी इच्छा के हिसाब से सेक्स पाने के लिए वे इस सर्जन के पास पहुंचे थे। उनकी बातचीत की शुरुआत सर्जरी की चर्चा से हुई, और फिर आपस में बात बढ़ते-बढ़ते पे्रम तक पहुंच गई। (मिड डे)

    ...
  •  


Posted Date : 22-Aug-2017
  • भारत का पिकासो कहलाने वाले मकबूल फिदा हुसैन की आखिरी नौ पेंटिंग की लंदन में प्रदर्शनी लगी है। साल 2011 में उनका निधन हो गया था।
    गणेश- भारत के पिकासो के नाम से मशहूर मकबूल फिदा हुसैन की आखिरी नौ कलाकृतियों की प्रदर्शनी लंदन के विक्टोरिया एंड एल्बर्ट म्यूजियम में लगी है। भारतीय सभ्यता नामक श्रृंखला की इन पेंटिंग्स में हुसैन साहब ने भगवान गणेश का चित्र बनाया। इससे पहले भारतीय देवी-देवताओं की कथित विवादास्पद पेंटिंग की वजह से हुसैन को देश के बाहर रहने को बाध्य होना पड़ा था। 

    ...
  •  


Posted Date : 21-Aug-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 21 अगस्त। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव एवं विकास समिति द्वारा पोला पर्व के अवसर पर रावणभाठा मैदान में इस वर्ष बैल दौड़ एवं बैल सजाओ प्रतियोगिता किसान सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। 
    श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव एवं विकास समिति संयोजन माधवलाल यादव ने बताया कि पारम्परिक पर्व के संरक्षण के मद्देनजर आयोजित बैल दौड़ स्पर्धा में विजेता को 2100 रुपए नकद शील्ड, उपविजेता को 1500 रुपए तथा तीसरा स्थान पाने वाले को 1000 रुपए पुरस्कार दिया जाएगा। 
    बैल सजावट स्पर्धा के विजेता को 1000 रुपए, उपविजेता को 700 रुपए तथा तृतीय स्थान पाने वाले को पुरस्कार स्वरूप 500 रुपए दिया जाएगा। इस अवसर पर महिलाओं द्वारा पोरा पटकने की परम्परा का निर्वहन भी किया जाएगा। 

    ...
  •  


Posted Date : 20-Aug-2017

Posted Date : 20-Aug-2017
  • अमरीका के साऊथ डकोटा राज्य में अभी 50 फीट ऊंची एक प्रतिमा बनाई गई। इस स्थाई प्रतिमा को इस प्रदेश के लकोटा और डकोटा जातियों के मूलनिवासियों (आदिवासियों) के सम्मान में स्थापित किया गया है।

    ...
  •  


Posted Date : 20-Aug-2017
  • प्रदेश के पारंपरिक त्यौहार तीजा-पोला के लिए रायपुर में मिट्टी के खिलौनों का बाजार सज गया है और वहां नादिया बैल 50 से 100 रूपए  जोड़ी की दर से बेचे जा रहे हैं। अन्य खिलौनों की मांग भी बनी हुई है।  बच्चे त्यौहार में इन खिलौनों के साथ दिनभर खेलने में मस्त रहते हैं।  तस्वीर / छत्तीसगढ़ 

    ...
  •  


Posted Date : 19-Aug-2017
  • -सत्यप्रकाश पाण्डेय
    मैं शुक्रवार की रात सिर्फ अपने साथ अफसोस लेकर घर लौटा, ऐसा लगा जैसे अचानक मेरी दुनिया ही उजड़ हो गई। ये मलाल उस लम्हे को तस्वीर की शक्ल नहीं दे पाने का है जिसके लिए मैं पिछले दो दिन से धर्मजयगढ़ वन मंडल की छाल रेंज की खाक छान रहा था। एक ऐसा मौका जो शायद बड़ी चुनौती के रूप में सामने था, एक ऐसा पल जिसे दोबारा देख पाना शायद मुमकिन नहीं। वो 55 हाथी कैसे मेरे कैमरे से बिना आँख मिलाये निकल गए। शायद मैं एक साथ 55 जंगली हाथी देखकर अवाक रह गया। जंगली हाथियों के करीब जाकर उनकी तस्वीरें उतार लाने का साहस कहिये या मेरा दु:साहस, पर इस बार कहीं कोई कमी रह गई। 
    छत्तीसगढ़ के कुछ इलाके हाथी प्रभावित हैं जिनमें रायगढ़ जिले का धरमजयगढ़ वन मंडल भी शामिल है। मुझे खबर मिली कि धर्मजयगढ़ वन मण्डल के छाल रेंज में करीब 60 हाथियों का दल मौजूद है तो मैं एक बार फिर गुरुवार की सुबह जंगली हाथियों से नजर मिलाने घर से निकल पड़ा। इस बार सिवाय अफसोस के जो मेरे साथ आया वो ये है ..., पंद्रह हाथी के दल की कुछ तस्वीर मेरे हिस्से है जिसे आज विश्व फोटोग्राफी दिवस पर आपके बीच रख रहा हूँ। 

    ...
  •  


Posted Date : 17-Aug-2017
  • बांग्लादेश के एक गरीब परिवार के 19 बरस के नौजवान राजीब के एक हाथ में 5 किलो से अधिक की ऐसी गठान हो गई है जिससे उसका कुछ भी काम करना नामुमकिन हो गया है। इससे उसके उस हाथ की हथेली एक पंजे जैसी हो गई है। और यह उसकी 3 महीने की उम्र से  ही शुरू हुआ है। अब बढ़ते-बढ़ते यह ट्यूमर उसकी पीठ और उसके पैर तक पहुंच गया है, और वह न सो सकता, न चल सकता। कई बार उसे खड़े रहने के लिए भी कोई सहारा लगता है क्योंकि उसका बदन इस तरफ झुक जाता है। अभी उसके सामने पहाड़ सी जिंदगी पड़ी हुई है, और सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीरें देखकर सरकारी डॉक्टरों ने इलाज का भरोसा दिलाया है। जब वह कुछ महीने का था तबसे ही मां-बाप उसे लेकर आसपास के डॉक्टरों के पास जाते रहे, लेकिन बाद में इलाज के लिए दूर जाने की नौबत आई, उसे हिंदुस्तान के कोलकाता ले जाने को कहा गया, और इतना कर्ज पाना भी उसके परिवार की क्षमता से बाहर का था। (केटर्स न्यूज एजेंसी / मेलऑनलाईन)

    ...
  •  


Posted Date : 17-Aug-2017
  • इस शनिवार ब्रिटेन में ऐसी पहली महिला-समलैंगिक शादी हुई जिसमें एक भारतवंशी हिंदू महिला (48 वर्ष) है, और दूसरी एक यहूदी। इसे ब्रिटेन की पहली अंतरधर्मीय लेस्बियन शादी कहा जा रहा है। कलावती मिस्त्री और मिरियम जेफरसन के बीच 20 बरस पहले पे्रम हुआ, और अब जाकर इन्होंने हिंदू रीति-रिवाज से शादी की, माला और मंगलसूत्र पहनाए। परिवार की मंजूरी मिलने के बाद उन्हें एक हिंदू पुजारी ढूंढने की मशक्कत करनी पड़ी जो कि इस शादी को करवाने के लिए तैयार हो। 

    ...
  •  


Posted Date : 16-Aug-2017
  • ब्रिटेन में अभी एक शराबखाने के मालिक ने लॉटरी में 10 लाख पाउंड जीते। लेकिन यह भी एक अजीब संयोग है कि इस पब से जुड़े लोगों में वे यह जैकपॉट जीतने वाले तीसरे व्यक्ति हैं। उनके पहले दो लोग इसे जीत चुके हैं जो कि यहां पर नियमित पीने के लिए आते रहते हैं। लेकिन इस पब मालिक, इयान बु्रक (नीली टी-शर्ट में) ने पहले ही अपने दो नियमित ग्राहकों से यह वायदा किया था कि अगर उसकी लॉटरी खुली, तो वह  इन दोनों के साथ रकम बांटेगा। अब वह इन दोनों को सवा-सवा लाख पाउंड दे रहा है। मजे की बात यह है कि इयान बु्रक खुद शराब नहीं पीते हैं और इस मौके की खुशी बांटने के लिए भी वे फलों का रस पीते रहे। उनके दो और नियमित ग्राहक जो पहले लॉटरी जीत चुके हैं, वे भी इस तस्वीर में हैं। और यह एक बहुत ही दुर्लभ और अजीब संयोग रहा कि एक ही पब के तीन लोगों की इस तरह लॉटरी खुली। 

    ...
  •  


Posted Date : 16-Aug-2017

Posted Date : 16-Aug-2017
  • स्वतंत्रता दिवस के दिन असम के ढुबरी जिले के एक सरकारी स्कूल में तिरंगे को सलाम करते अध्यापक और छात्रों की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई है। ये रिपोर्ट लिखे जाने तक इस तस्वीर को 60 हजार से अधिक बार शेयर किया जा चुका है। 
    दरअसल यह फोटो असम के ढुबरी जिले की है। मिजानूर रहमान ने अपने पोस्ट पर अपलोड की है और कहा-  मैं इस स्कूल में टीचर हूं देखिए किस परिस्थिति में ये लोग तिरंगे को सलामी देने के लिए आए है। इसके बाद मिजानूर ने अपने स्कूल के बारे में जानकारी दी है और सब कुछ बताया। पोस्ट होने के 2 मिनट बाद ही यह फोटो वायरल हो गई। 
    मिजानुर ने लिखा है कि सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं। मैं इस स्कूल में टीचर हूं। स्कूल का नाम है नसकारा एलपी स्कूल और ये असम के ढुबरी जिले में है। कहने की जरूरत नहीं है कि हम लोग यहां किस हालात में हैं, तस्वीर सारी कहानी खुद बयां कर रही है।

    ...
  •  


Posted Date : 14-Aug-2017
  • 15 अगस्त आते ही एक अजब सी खुशी सा अहसास होता है. हर तरफ राष्ट्रीय गीत बजते रहते हैं. स्कूलों में बच्चे रंग-बिरंगे प्रोग्राम पेश करते हैं. हर किसी के हाथ में झंडा होता है. लोग अपने उन मासूम बच्चों के हाथ में भी तिरंगा थमा कर खुद भी खुश होते हैं और उसे भी खुशी का अहसास दिलाते हैं, जो ठीक से तिरंगा को संभाल भी नहीं पाता. यह सब देखकर जो खुशी मिलती है उसे लफ्जों में बयां नहीं किया जा सकता. हमें आजाद होने का अहसास होता है.

    ...
  •  


Posted Date : 14-Aug-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    रायपुर, 14 अगस्त। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने कार्यकाल के 5 हजार दिन पूरे करने पर सोमवार को कमल विहार स्थित वनौषधि उद्यान का लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि उनके मुख्यमंत्री के रूप में 5 हजार दिन पूरे होने का श्रेय प्रदेश की जनता और कार्यकर्ताओं को जाता है। अब यहीं रुकना नहीं हैं बल्कि आने वाले कई सालों तक सरकार बनाना है। 
    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने चंदन का पौधा लगाकर वनौषधि उद्यान का शुभारंभ किया। 
    लोकनिर्माण मंत्री राजेश मूणत, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, सीएसआईडीसी अध्यक्ष छगन मूंदड़ा एवं आरडीए अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव सहित सैकड़ों स्कूली बच्चों ने भी वहां औषधि पौधों का रोपण किया। वहां करीब 5 हजार औषधि पौधे रोपे गए। इसके अलावा वहां फूलदार पौधे भी लगाए गए। 

    ...
  •  


Posted Date : 13-Aug-2017
  • उत्तरप्रदेश के 12 बरस के एक लड़के तारीक के अंगूठे और हथेलियों का आकार बढ़ते-बढ़ते ऐसा दानवाकार हो गया है कि उसे स्कूल में दाखिले से मना कर दिया गया कि बाकी बच्चे उससे डर जाएंगे। अब एक-एक करके उसके दोस्त भी खत्म हो गए, क्योंकि उनका मानना है कि वह कभी ठीक नहीं हो पाएगा, और उसे कोई श्राप लगा हुआ है। घर का हाल ऐसा नहीं है कि उसे किसी इलाज के लिए ले जा सकें। अभी तक उसकी पूरी डॉक्टरी जांच नहीं हुई है, लेकिन 12 इंच के हो चुके उसके हाथों को देखकर स्थानीय डॉक्टरों का अंदाज है कि उसे हाथी पांव की बीमारी है। स्थानीय ग्रामीण उसे राक्षस कहते हैं, और उसके सामने दिक्कतों से भरी हुई जिंदगी ही बची है, जो कि खासी लंबी है। पिता गुजर चुके हैं, घर की हालत इलाज के लायक है नहीं, और वह नहाने तक के लिए भाई का मोहताज रहता है। (तस्वीरें और जानकारी बारक्रॉफ्ट मीडिया द्वारा)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Aug-2017
  • दंतेवाड़ा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के कार्यकाल के पांच हजार दिन पूरे होने के उपलक्ष्य पर स्कूली छात्रों ने यह श्रृंखला बनाई और खूब पढ़ाई करने, और अपने परिवेश को भी बेहतर रखने का संकल्प लिया। तस्वीर /छत्तीसगढ़

    ...
  •