राजनीति

कर्नाटक: कांग्रेस, जद-एस के पांच विधायक लापता, भाजपा ने कहा- राजनीति संभावनाओं की कला है

Posted Date : 16-May-2018



नई दिल्ली, 16 मई । कर्नाटक के सियासी घटनाक्रम से ताजातरीन दो खबरें निकलकर आई हैं। पहली ये कि कांग्रेस और जनता दल-सेकुलर (जद-एस) गठबंधन के पांच विधायक 'लापताÓ हैं। दूसरी- चुनाव में सबसे बड़ा दल बनकर उभरी भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येद्दियुरप्पा को विधायक दल का नेता चुन लिया है।
बेंगलुरु के एक होटल में बुधवार को जद-एस विधायक दल की बैठक हुई। इसमें दो विधायक राजा वेंकटप्पा नायक और वेंकट राव नादगौड़ा शामिल नहीं हुए। इन दोनों के अलावा कांग्रेस के विधायक- राजशेखर पाटिल, नागेंद्र और आनंद सिंह का भी अब तक कोई पता नहीं चला है। हालांकि कांग्रेस के नेता एमबी पाटिल ने कहा है, हम सब साथ हैं। हमारे विधायकों के बारे में आ रही खबरें भ्रामक हैं। जबकि कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा, भाजपा हमारे विधायकों को ललचाने की कोशिश कर रही है। लेकिन हमारे पास उन्हें सुरक्षित रखने की पुख्ता योजना है। जद-एस के नेता सर्वन्ना ने भी कहा, मुझे नहीं पता वे (भाजपा) क्या पेशकश कर रहे हैं। लेकिन वे हमारे लोगों से संपर्क जरूर साध रहे हैं।
उधर भाजपा के बासवराज बोम्मई (जनता पार्टी के पूर्व नेता और राज्य के मुख्यमंत्री रहे एसआर बोम्मई के पुत्र) का कहना है, हमारी पार्टी किसी से संपर्क नहीं कर रही है। लेकिन राजनीति तो संभावनाओं की कला है।
वहीं भाजपा ने भी राज्यपाल वजूभाई वाला से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा किया है। पार्टी विधायकों ने बुधवार को बीएस येद्दियुरप्पा को औपचारिक तौर पर विधायक दल का नेता भी चुन लिया। इसके बाद येद्दियुरप्पा ने फिर राज्यपाल से मुलाकात की। उन्होंने उनसे आग्रह किया कि चूंकि भाजपा के पास सबसे ज़्यादा सीटें हैं इसलिए उसे सरकार बनाने के लिए पहले बुलाया जाना चाहिए। इसके बाद अब सभी की निगाहें राज्यपाल के फैसले की तरफ टिकी हैं। (हिंदुस्तान टाईम्स)




Related Post

Comments