ताजा खबर

ब्रिटेन में नया सीक्रेट एक्ट, लीक डॉक्युमेंट्स हासिल करने पर पत्रकारों को 2 से 14 साल की सजा
21-Jul-2021 10:26 PM (25)
ब्रिटेन में नया सीक्रेट एक्ट, लीक डॉक्युमेंट्स हासिल करने पर पत्रकारों को 2 से 14 साल की सजा

लंदन. ब्रिटेन में ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट (Secret Act) में बदलाव की तैयारी की जा रही है. अब लीक डॉक्युमेंट के जरिए स्टोरी फाइल करने वाले पत्रकारों को 2 से 14 साल तक की जेल की सजा हो सकती है. नए कानून के तहत ऐसे पत्रकार के साथ विदेशी जासूस जैसा बर्ताव किया जाएगा.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, विदेशी जासूसों पर नकेल कसने के लिए बनाए गए नए कानून के तहत दोषी पाए गए ऐसे पत्रकार जो लीक डॉक्युमेंट्स को हैंडल करते हैं, वे अपना बचाव भी नहीं कर पाएंगे.


UK में खास तरह के चमगादड़ में मिला कोरोना के लिए जिम्मेदार सार्स-कोव-2 वायरस: रिसर्च

क्यों हो रहा है कानून में बदलाव?
इंटरनेट के असर और खासकर क्विक डेटा ट्रांसफर टेक्नीक के इस दौर को ध्यान में रखते हुए 1989 में बनाए गए इस कानून में जरूरी बदलाव किए जा रहे हैं. ह्यूमन राइट ऑर्गेनाइजेशन और लॉ कमीशन ने इसका खाका तैयार किया है.

क्या कहती है सरकार?
सरकार का कहना है कि जब यह कानून बनाए गए थे, तब कम्यूनिकेशन के साधन सीमित थे. आज के समय के किसी भी तरह डेटा से पलक झपकते ही किसी भी देश की सुरक्षा और संप्रभुता को चुनौती दी जा सकती है. ऐसे में इनमें संशोधन जरूरी हैं.

पेगासस विवाद से हिली है अन्य देशों की सरकारें
दरअसल, इजरायल के NSO ग्रुप द्वारा बनाए गए पेगासस स्पायवेयर को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. वॉशिंगटन पोस्ट, द गार्जियन, ले मोंडे और दूसरे मीडिया हाउस ने लीक हुए 50 हजार फोन नंबरों की लिस्ट के आधार पर दावा किया था कि पेगासस स्पायवेयर के जरिए 180 से ज्यादा रिपोर्टर्स और संपादकों की जासूसी की गई.

ब्रिटेन को 15 महीने बाद मिली कोरोना नियमों से मुक्ति, नाइट क्लबों का हुआ ऐसा हाल

करीब 16 मीडिया समूहों की साझा पड़ताल के बाद इस बात का दावा किया गया. इन देशों में भारत भी शामिल है, जहां सरकार और प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना करने वाले पत्रकार निगरानी के दायरे में थे. (एजेंसी इनपुट के साथ)  (hindi.news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments