राष्ट्रीय

केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल, एल मुरुगन और TMC की सुष्मिता देव राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित
27-Sep-2021 8:31 PM (44)
केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल, एल मुरुगन और TMC की सुष्मिता देव राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित

केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल, केंद्रीय मंत्री एल मुरुगन, बीजेपी के एस सेल्वागणपति और तृणमूल कांग्रेस की सुष्मिता देव को राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुना गया.

केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल सोमवार को असम से राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए. असम से इस सीट के लिए सोनोवाल एकमात्र उम्मीदवार थे और नाम वापस लेने के आखिरी दिन निर्वाचन अधिकारी ने उन्हें संसद के उच्च सदन के लिए निर्वाचित घोषित किया. एल मुरुगन को मध्य प्रदेश से राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुना गया. वहीं पिछले महीने कांग्रेस से टीएमसी में शामिल हुईं सुष्मिता देव को पश्चिम बंगाल से राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुना गया. सेल्वागणपति पुदुचेरी से राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए.

असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने जिस सीट के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था, वह असम विधानसभा अध्यक्ष बिस्वजीत डेमरी के उच्च सदन से इस्तीफा देने के कारण खाली हुयी थी. डेमरी ने विधानसभा चुनाव में निर्वाचित होने के बाद उच्च सदन से इस्तीफा दिया था.

मध्य प्रदेश की राज्यसभा की सीट थावरचंद गहलोत के इस्तीफे के कारण इस साल जुलाई में खाली हुई थी. गहलोत को जुलाई में कर्नाटक का राज्यपाल बनाया गया, जिसके कारण उन्होंने केन्द्रीय मंत्री के पद से भी इस्तीफा दिया था. मुरुगन तमिलनाडु के रहने वाले हैं और हाल ही में उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रिपरिषद में शामिल किया था.

टीएमसी ने पिछले हफ्ते सुष्मिता देव को उपचुनाव के लिए अपना उम्मीदवार बनाया था जो हाल ही में कांग्रेस छोड़ने के बाद पार्टी में शामिल हुई थीं. पश्चिम मेदिनीपुर के सबांग से विधानसभा चुनाव जीतने के बाद टीएमसी के मानस भूइयां ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. इस कारण उपचुनाव कराना पड़ा.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के उम्मीदवार एस सेल्वागणपति सोमवार को पुदुचेरी से राज्यसभा की एकमात्र सीट पर निर्विरोध निर्वाचित हुए. केंद्र शासित प्रदेश के सचिव आर मौनीसामी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि सेल्वागणपति को सीट से निर्विरोध निर्वाचित कर लिया गया, जो छह अक्टूबर को खाली हुई थी. (abplive)

अन्य पोस्ट

Comments