खेल

झोपड़ी में प्रतिभा : पिता की मौत, मां झाड़ू-पोंछा करती है, बेटी खेलेगी जूनियर नेशनल हॉकी चैंपियनशिप
21-Oct-2021 10:01 AM (60)
झोपड़ी में प्रतिभा : पिता की मौत, मां झाड़ू-पोंछा करती है, बेटी खेलेगी जूनियर नेशनल हॉकी चैंपियनशिप

-नरेन्द्र धनौटिया

मंदसौर. झारखंड में खेली जा रही नेशनल जूनियर महिला हॉकी चैंपियनशिप में मध्य प्रदेश के मंदसौर की भी एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी शामिल है.  खबर इसलिए भी महत्वपूर्ण हो जाती है क्योंकि वो बिन बाप की बेटी है और बेहद गरीब परिवार से है. रहने के लिए पक्की झोपड़ी तक नहीं है. इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी का नाम है सागू डाबर.

मंदसौर की हॉकी खिलाड़ी सागू डाबर जूनियर हॉकी चैंपियनशिप के लिए चुनी गयी है. ये चैंपियनशिप 21 से 30 अक्टूबर तक सिमडेगा, रांची में हो रही है. सागू मध्य प्रदेश की हॉकी टीम में शामिल की गयी हैं.

पिता की मौत, मां दूसरों के घर में झाड़ू पोंछा करती हैं
सागू बेहद गरीब परिवार से हैं. उनके पिता का 18 साल पहले निधन हो गया था. मां दूसरे के घरों में झाड़ू-पोंछा और बर्तन करके बच्चों को पाल रही है. इनके पास अपना खुद का मकान तो क्या पक्की झोपड़ी तक नहीं है.

कच्ची झोपड़ी में हीरा
सागू इस समय मंदसौर में नहीं है. वो ट्रेनिंग के बाद सीधे रांची के लिए रवाना हो चुकी हैं. सागू के टीम में चयन की खबर जैसे ही उनकी मां को मिली. खुशी में उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े. वो बेटी को और आगे बढ़ते देखना चाहती हैं. लेकिन साधन-सुविधाएं उनके पास कुछ भी नहीं हैं. मां का कहना है मेरे पास पक्की झोपड़ी तक नहीं. इस कच्ची झोपड़ी को भी नगर पालिका वाले हटा रहे हैं.

कोच को बहुत उम्मीद
सागू डाबर के कोच अविनाश उपाध्याय का कहना है कि सागू में बहुत टैलेंट है. ऐसे लोग ही बहुत आगे जाते हैं, जिनके पास संसाधनों की भले ही बहुत कमी हो लेकिन टैलेंट के धनी हों. कोच कहते हैं कि सागू का भविष्य भी उज्जवल है. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments