सेहत-फिटनेस

सर्दी में छाछ पीने से इम्यूनिटी होती है बूस्ट, जानिए और भी कई फायदे
24-Nov-2021 10:45 AM (67)
सर्दी में छाछ पीने से इम्यूनिटी होती है बूस्ट, जानिए और भी कई फायदे

 

Health benefits of Buttermilk: छाछ डेयरी प्रोडक्ट है जिसे क्रीम से निकाला जाता है. इसका नाम ही बटरमिल्क है लेकिन इसमें बटर नहीं होता है. इसलिए इससे घबराने की जरूरत नहीं है. छाछ बहुत पतली और एसिडिक नेचर की होती है. छाछ को लोग आमतौर पर काला नमक, जीरा के साथ पीते हैं. पीने में यह बेहद स्वादिष्ट होती है. छाछ अगर परंपरागत तरीके से बनाया जाए, तो इसके ज्यादा फायदे हैं. हालांकि आजकल छाछ मशीन से निकाली जाती है जिसमें गुड बैक्टीरिया की कमी हो जाती है. छाछ में मौजूद हेल्दी बैक्टीरिया, कार्बोहाइड्रेट और लेक्टोज इम्यूनिटी को मजबूत करते हैं. खाली पेट छाछ का सेवन करने से शरीर को क्या फायदे मिलते हैं.

हालांकि फेमिना डॉट इन की खबर के मुताबिक छाछ कैसे भी तैयार हो, इसके अनेक फायदे हैं. छाछ को नियमित रूप से भोजन के साथ सेवन करने से डाइजेस्टिव सिस्टम दुरुस्त रहता है. छाछ एसिडिटी की समस्या से छुटकारा दिलाती है और हड्डियों को मजबूत करती है. जो लोग वजन कम करने की प्लानिंग कर रहे हैं, उनके लिए छाछ बहुत ज्यादा फायदेमंद है. तो आइए जानते हैं कि छाछ के क्या-क्या फायदे हैं-

छाछ के फायदे

पाचन शक्ति को मजबूत करती है
छाछ प्रोबायोटिक है जिसका मतलब है कि छाछ में हेल्दी बैक्टीरिया पाए जाते हैं. पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने में हेल्दी बैक्टीरिया की महत्वपूर्ण भूमिका है. इसलिए खाने को पचाने और कब्ज़, अपच जैसी दिक्कतों को दूर करने में भी छाछ काफी मदद करती है.

एसिडिटी में कारगर
गुड बैक्टीरिया पेट में गैस बनने से रोकते हैं जिसके कारण एसिड रिफलेक्शन की प्रोब्लम नहीं होती. छाछ में मौजूद गुण के कारण पेट में पोषक तत्वों का पाचन जल्दी होता है. इस तरह छाछ का सेवन करने से एसिडिटी से राहत मिलती है.

हड्डियों की मजबूती देती
छाछ में विटामिन डी मौजूद रहता है जो कैल्शियम के अवशोषण को आसाना बनाता है. छाछ का सेवन करने से हड्डियों को मजबूती मिलती है. महिलाओं में मेनोपॉज के बाद छाछ का सेवन फायदेमंद माना जाता है. रोज़ाना इसका खाली पेट सेवन करने से ऑस्टियोपोरोसिस बीमारी होने का खतरा कम होता है.

कोलेस्ट्रॉल कम करती
ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक छाछ में खास प्रकार के बायो मॉलिक्यूल पाए जाते हैं जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हैं. इसके अलावा छाछ में मौजूद सक्रिय प्रोटीन में एंटी-कैंसर, जीवाणुरोधी और एंटी-वायरस का प्रभाव होता है जो कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में मदद करता है.

वजन कम करने में मदद करती
बटरमिल्क में नाम मात्र का फैट होता है. इसलिए छाछ वजन कम करने का बहुत ही आसान नुस्खा है. इसका नियमित तौर पर सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती है. ये फैट बर्नर के रूप में काम करती है और वजन कंट्रोल करने का काम आसानी के साथ करती है. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments