साहित्य/मीडिया

जयंती रंगनाथन की ऑडियो स्टोरी ‘कुछ लव जैसा’ स्टोरीटेल पर
14-Dec-2021 7:09 PM
 जयंती रंगनाथन की ऑडियो स्टोरी ‘कुछ लव जैसा’ स्टोरीटेल पर

Hindi Sahitya News: चर्चित कथाकार और पत्रकार जयंती रंगनाथन की ऑडियो स्टोरी ‘कुछ लव जैसा’ ‘स्टोरीटेल’ प्लेटफॉर्म पर सुनी जा सकती है. यह स्टोरी 10 एपिसोड में है.

‘कुछ लव जैसा’ के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए जयंती रंगनाथन ने बताया कि छोटे शहर की नैना एक बेहद खुशमिजाज और सपनों की दुनिया में रहने वाली लड़की है. वह मुंबई की एक विज्ञापन एजेंसी में बतौर कॉपी राइटर काम करती है. परिवार के दवाब में आकर नैना अपने बचपन के दोस्त अश्विन से एंगेजमेंट तो कर लेती है. लेकिन वह इस रिश्ते से पूरी तरह खुश नहीं है. अचानक एक दिन नैना की मुलाकात बॉलीवुड के अपकमिंग सिंगर और कॉलेज के दोस्त नीरज से होती है. उससे मिलकर नैना को लगता है कि नीरज ही है उसका सपनों का राजकुमार है. नैना को गंभीर और केयरिंग अश्विन के बजाय रोमांटिक, रोमांचकारी और अजनबी नीरज अपनी ओर आकर्षित करता है. नीरज को भी नैना पसंद आती है. वो उसके सपनों में रंग भरने का वादा करता है. नैना अश्विन से ब्रेकअप कर के नीरज के साथ लिव-इन में रहने लगती है. उसके इस फैसले से उसकी मां, दोस्त, कोई खुश नहीं है.

जयंती बताती हैं कि इस सीरिज में पच्चीस साल की नैना चुपके-चुपके कविताएं और नज्म लिखती है. अपने सपनों का जिक्र किसी से नहीं करती. अपने बचपन के दोस्त और मंगेतर अश्विन से भी नहीं.

जयंती रंगनाथन बताती हैं कि ‘कुछ लव जैसा’ में श्रेताओं को एक अलग ही अनुभव होगा. इस सीरीज में रोमांच भी है तो रोमांच भी. जीवन के तमाम उतार-चढ़ाव हैं. इस सीरीज में श्रेता खुद को जीवन की तमाम यात्राओं से गुजरने का अनुभव करेंगे.

जयंती रंगनाथन हिंदी की प्रसिद्ध पत्रकार, लेखक और संपादक हैं. ‘धर्मयुग’ पत्रिका के सम्पादकीय विभाग में उन्होंने लंबे समय तक अपनी सेवाएं दीं. सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविज़न के कई कार्यक्रमों में उन्होंने सक्रिय भूमिका निभाई. जयंती ‘वनिता’ की लॉन्चिंग सम्पादक, अमर उजाला की फीचर एडिटर, बच्चों की पत्रिका ‘नंदन’ की संपादक भी रही हैं. वर्तमान में वे ‘दैनिक हिन्दुस्तान’ की एक्सिक्यूटिव एडिटर हैं.

उनके द्वारा लिखी 200 से अधिक बाल कहानियां रेडियो, टीवी और पत्रिकाओं में प्रकाशित-प्रसारित हो चुकी हैं. ‘बॉम्बे मेरी जान’, ‘एफ़ ओ ज़िन्दगी’, ‘रूह की प्यास’ और ‘कामुकता का उत्सव’ (सम्पादन) उनकी चर्चित कृतियां हैं.

जयंती की ‘आसपास से गुजरते हुए’, ‘खानाबदोश ख्वाहिशें’, ‘औरतें रोती नहीं’; कहानी संग्रह ‘एक लड़की दस मुखौटे’, गीली छतरी’, ‘रूह की प्यास’, फेसबुक धारावाहिक नॉवेल ’30 शेड्स ऑफ बेला’ जैसी कृतियां भी काफी चर्चित रही हैं. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news