सेहत-फिटनेस

Dietetics Day विशेष: आहार विविधीकरण से बीमारियों से बचें और स्वस्थ रहें, क्वांटिटी के साथ गुणवत्ता पर भी दें ध्यान-डॉ. छाबड़ा
10-Jan-2022 12:24 PM (149)
Dietetics Day विशेष: आहार विविधीकरण से बीमारियों से बचें और स्वस्थ रहें, क्वांटिटी के साथ गुणवत्ता पर भी दें ध्यान-डॉ. छाबड़ा

रायपुर, 10 जनवरी। शहर की प्रख्यात न्यूट्रिशनिस्ट, मधुमेह शिक्षिका एवं प्रमाणित जीन प्रेक्टिश्नर डॉ. श्वेता छाबड़ा ने बताया कि हर साल 10 जनवरी को वल्र्ड डाइटेटिक्स दिवस मनाया जाता है। इस साल की थीम है आहार विविधीकरण। समय की मांग आहार विविधीकरण सुनने में नया या अजीब लगता है परंतु इससे ही हमारे शरीर में पोषक तत्वों की पर्याप्त मात्रा भोजन से मिल पाएगी।

डॉ. छाबड़ा ने बताया कि इस करोना काल में यह बहुत जरूरी है कि हम अपने भोजन को ऐसे लें जिससे हमें दवाइयों की जरूरत न हो। वर्षों से हम सब इम्यूनिटी बढ़ाने की बातें कर रहे हैं परंतु अब समय आ गया है आहार विविधीकरण कर आप अपने शरीर के भोजन द्वारा बीमारियों से बचाएं व स्वस्थ रहें। भिन्न-भिन्न भोजन भिन्न-भिन्न तरीकों से लेना होगा, जैसे सभी प्रकार के अनाज-बाजरा, ज्वार, गेहूं, मक्का, कोदो, मिलेट, रागी, दालों में कुलथी, मसूर, मूंग साबुत दालें, सब्जियों में सभी हरी पत्तेदार सब्जियां, सभी प्रकार के फल, सीड्स, तिल, अलसी, सनफ्लावर, पंपकिन।

डॉ. छाबड़ा ने बताया कि अक्सर लोग सालों से एक ही प्रकार की दाल, अनाज व सब्जियां खाते हैं और वह एक ही प्रकार से बनाते हैं, तो अब आपको अपने रोजमर्रा के जीवन में यह सभी इस्तेमाल करने होंगे और बनाने की विधि को बदलना होगा ज्यादा पकाना नहीं है और अनाज जयादा नहीं पीसना है। यह सब बदलाव से आपको आपके भोजन से अधिक व सभी प्रकार के पोषक तत्व मिलेंगे और यह बदलाव आप बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सबके भोजन में करें। बच्चों में आहार विविधीकरण के सबसे ज्यादा लाभ होते हैं। उनमें मानसिक शारीरिक विकास में फायदा मिलता है।

डॉ. छाबड़ा ने बताया कि अर्थात अपने भोजन में पांचों फूड ग्रुप शामिल करिए अनाज, दालें, फल, सब्जियां दूध व दूध से बनी चीजें, अंडा और जो सबसे कम इस्तेमाल करना है वह है मीठा और वसा। इन फूड ग्रुप के अलग-अलग प्रकार के कॉन्बिनेशन अपने भोजन में लें जैसे कि बाजरे और दाल की खिचाई, कोदो व अन्य की मिलेट की खिचड़ी, चना और गेहूं का रोटी, पनीर की रोटी, जितने फूड रूप में मिलाकर अपने भोजन में इस्तेमाल करेंगे उतने ज्यादा आपको पोषक तत्व मिलेंगे।

डॉ. छाबड़ा ने बताया कि अब समय आ गया है कि आप अपने भोजन की क्वांटिटी के साथ-साथ उसकी गुणवत्ता पर भी ध्यान दें। आपके भोजन में प्रोटीन की मात्रा तभी बढ़ेगी जब आप अलग-अलग दालों का इस्तेमाल मिलेट के साथ करेंगे और इन सब के साथ-साथ फल सब्जियां और पानी का सेवन करना न भूलें।

अन्य पोस्ट

Comments