खेल

दक्षिण अफ्रीका के 2 अंजान हीरो, जिनका दिया दर्द बरसों नहीं भूलेगा भारत
14-Jan-2022 7:14 PM (56)
दक्षिण अफ्रीका के 2 अंजान हीरो, जिनका दिया दर्द बरसों नहीं भूलेगा भारत

 

केपटाउन. टीम इंडिया एक बार फिर साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज नहीं जीत सकी. तीसरे टेस्ट में साउथ अफ्रीका ने भारत को 7 विकेट से हराया. 212 रन के लक्ष्य को मेजबान टीम ने 3 विकेट खोकर हासिल कर लिया. हालांकि सीरीज में विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने अच्छी शुरुआत की थी. सेंचुरियन में खेले गए पहले टेस्ट को टीम ने 113 रन के अंतर से जीता था. लेकिन जोहानिसबर्ग में खेला गया दूसरा टेस्ट साउथ अफ्रीका ने 7 विकेट से जीता था. अब टीम ने तीसरा टेस्ट जीतकर सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया. कीगन पीटरसन और मार्को यान्सिन सीरीज से 2 सबसे बड़े सितारे बनकर उभरे हैं.

21 साल के बाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज मार्को यान्सिन ने सीरीज से टेस्ट करियर की शुरुआत की. उन्होंने पहली ही सीरीज में अपना दम दिखाया. उन्होंने 103.3 ओवर में 16 की औसत से 19 विकेट झटके. वे सीरीज के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज रहे. 31 रन देकर 4 विकेट उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा. वे भारत के सीनियर गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी से भी अधिक विकेट लेने में सफल रहे. बुमराह ने सीरीज में 12 जबकि शमी ने 14 विकेट झटके. अंतिम टेस्ट में यान्सिन ने 7 विकेट झटके और जीत में अहम योगदान दिया.

फर्स्ट क्लास में कर चुके हैं कमाल

मार्को यान्सिन ने टेस्ट सीरीज में उतरने से पहले फर्स्ट क्लास क्रिकेट में भी शानदार प्रदर्शन किया था. वे इस मैच से पहले तक 21 मैच में 22 की औसत से 82 विकेट ले चुके हैं. 5 बार 4 और 3 बार 5 विकेट लेने का कारनामा किया है. 38 रन देकर 6 विकेट उनका बेस्ट प्रदर्शन है. वे बल्ले से भी कमाल कर चुके हैं. 23 की औसत से 686 रन बनाए. 5 अर्धशतक जड़ा है. 87 रन की सबसे बड़ी पारी खेली.

पीटरसन सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी

28 साल के कीगन पीटरसन टेस्ट सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वाले रहे. उनके अलावा अन्य कोई बल्लेबाज 250 रन के आंकड़े तक नहीं पहुंच सका. उन्होंने 3 मैच की 6 पारियों में 46 की औसत से 276 रन बनाए. 3 अर्धशतक लगाया. यह उनके करियर का सिर्फ 5वां ही टेस्ट है. तीसरे टेस्ट की दोनों पारियों में उन्होंने अर्धशतक लगाया. पहली पारी में उन्होंने 72 और दूसरी पारी में 82 रन बनाए. उन्होंने पिछले साल जून में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया था. हालांकि करियर की पहली 5 पारियों में से वे एक में भी 30 रन का आंकड़ा नहीं छू सके थे. लेकिन अंतिम 4 पारियों में से 3 में 50 से अधिक का स्कोर बनाया. वे 9 पारियों में 36 की औसत से 320 रन बना चुके हैं.

46 बार 50 से अधिक का स्कोर

कीगन पीटरसन ने बतौर बल्लेबाज फर्स्ट क्लास क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है. उन्होंने इस मैच से पहले तक 105 मैच की 175 पारियों में 40 की औसत से 6436 रन बनाए थे. 16 शतक और 30 अर्धशतक लगाया था. यानी 46 बार 50 से अधिक रन बनाए. नाबाद 225 रन की बड़ी पारी भी खेली. लेकिन भारत के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करके उन्होंने खुद को भविष्य को स्टार के रूप में खुद को तैयार कर लिया है.(news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments