विशेष रिपोर्ट

जीएसटी लागू, पर प्रदेश के कॉलेजों में जीएसटी के पहले के नियमों से पढ़ाई

Posted Date : 01-Aug-2018



विशेषज्ञों के सुझाव आते  रहे, पर बदलाव नहीं

तिलक देवांगन

रायपुर, 1 अगस्त (छत्तीसगढ़)। देश में जीएसटी लागू हो गया है, पर प्रदेश के कॉलेजों में अभी भी सेल्स टैक्स की पढ़ाई हो रही है। बैकिंग, कानून की पढ़ाई भी नहीं बदल पायी है। खास बात यह है कि पिछले शिक्षा सत्र में विशेषज्ञों ने पाठ्यक्रमों को बदलने का सुझाव दिया था, पर उस पर अभी तक अमल नहीं हो पाया है। 
प्रदेश में बीकॉम तीसरे वर्ष में सेल्स टैक्स, बैंकिंग का विषय है। इसी तरह एलएलबी में इन विषयों से जुड़े कानून(लॉ)की पढ़ाई होती है। देश में जीएसटी लागू होने के बाद भी इन कक्षाओं में चल रहे पुराने पाठ्यक्रम नहीं बदले गए हैं। वहां पढऩे वाले हजारों बच्चे पुराने पाठ्यक्रमों से ही सेल्स टैक्स, बैंकिंग और कानून की पढ़ाई कर रहे हैं। उनकी शिक्षकों से मांग है कि समय के हिसाब से उनके पाठ्यक्रमों में बदलाव हो। 
रविवि के कुलपति डॉ. केसरी लाल वर्मा ने 'छत्तीसगढ़Ó से चर्चा में कहना है कि पाठ्यक्रमों में बदलाव करना विवि का काम नहीं है। शासन स्तर पर विशेषज्ञों की एक कमेटी बनती है, जो यह सब कुछ काम करती है। उनके विवि से समय-समय पर विशेषज्ञों के सुझाव वहां भेजे जाते हैं। किसी भी कक्षा के पाठ्यक्रम में बदलाव करना उच्च शिक्षा विभाग का काम है। कमेटी के सुझाव पर शासन स्तर पर निर्णय लिया जाता है, तब जाकर एक साथ सभी विश्वविद्यालयों में पाठ्यक्रमों में बदलाव होता है। फिलहाल इन विषयों के पाठ्यक्रम में बदलाव को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया गया है। कॉलेजों में पुराने पाठ्यक्रम से ही पढ़ाई हो रही है। 
सचिव उच्च शिक्षा एसके जायसवाल से इस संबंध में पूछे जाने पर उनका कहना है कि उन्हें इसकी ज्यादा जानकारी नहीं है। वे दफ्तर में उन विषयों से जुड़े अफसरों से चर्चा कर आगे बता पाएंगे। 
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में जीएसटी लागू होने के बाद से सेल्स टैक्स  खत्म कर दिए गए हैं। बैंकिंग, कानून में भी कई बदलाव आ गए हैं। 




Related Post

Comments