सोशल मीडिया

भारत का तो कहना मुश्किल है, लेकिन आज राज्यसभा कांग्रेस मुक्त जरूर हो गई है!

Posted Date : 10-Aug-2018



राज्यसभा में उपसभापति के पद के लिए गुरुवार को हुआ चुनाव और इसमें एनडीए उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह की जीत आज सोशल मीडिया पर खासी चर्चा में रही. राज्यसभा का उपसभापति बनने पर हरिवंश सिंह को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा और अन्य पार्टियों कई नेताओं ने बधाई दी है.
जदयू की तरफ से राज्यसभा सांसद बनने से पहले हरिवंश सिंह झारखंड-बिहार के लोकप्रिय अखबार प्रभात खबर के संपादक थे. इस हवाले से वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने उन्हें बधाई देते हुए चुटकी ली है, ‘...बहुत ही बढ़िया आदमी, एक अखबार के संपादक जो राजनेता बने... वे इस पद का सम्मान बढ़ाएंगे! पत्रकार बहुत अच्छे नेता बन सकते हैं!’
इस चुनाव में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बीके हरिप्रसाद विपक्ष के उम्मीदवार थे. चुनाव के पहले माना जा रहा था कि अगर कांग्रेस सभी विपक्षी पार्टियों को अपने साथ लाने में कामयाब हो पाई तो काफी नजदीकी मुकाबला देखने को मिल सकता है. हालांकि ऐसा नहीं हो पाया और हरिवंश सिंह आसानी से चुनाव जीत गए. इसके साथ ही बीते चार दशक में यह पहली बार है जब सदन के उपसभापति के पद पर कांग्रेस का नेता नहीं होगा. सोशल मीडिया में इस बात का जिक्र करते हुए कई लोगों ने प्रतिक्रियाएं दी हैं. ऊषा का ट्वीट है, ‘40 साल के बाद राज्यसभा में कोई गैरकांग्रेसी उपसभापति बना है. अब संसद के सभी पद कांग्रेस मुक्त हो गए हैं!’
सोशल मीडिया में राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए हुए चुनाव पर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :
अवधूत वाघ- एनडीए उम्मीदवार ने राज्यसभा के उपसभापति पद के चुनाव में यूपीए उम्मीदवार को मिले 105 वोटों के मुकाबले 125 वोट हासिल कर जीत दर्ज की है. यूपीए को नैतिक जीत मिलने की बधाई.
मंजुल-‘राज्यसभा के उपसभापति चुनाव में अनुपस्थित रही – विपक्ष की एकता’
अनुराग मुस्कान-राज्यसभा के उपसभापति चुनाव में जिस तरह आज कई विपक्षी पार्टियों ने कांग्रेस का साथ नहीं दिया, उससे यह बात तो साफ़ हो गई कि ये ‘महागठबंधन’ नहीं बल्कि ‘महागांठबंधन’ है.
पराग भंडारी-नीतीश कुमार इस दौर में सबसे बढ़िया मोलभाव करने वाले नेता हैं. राज्यसभा में सिर्फ छह सांसद होने के बावजूद उनकी पार्टी को उपसभापति जैसा बड़ा पद मिल गया है.
जयंत जिज्ञासू-पूरे प्रभात ख़बर अख़बार को नीतीश जी को समर्पित कर देने वाले यशस्वी सम्पादक हरिवंश जी को राज्यसभा का उपसभापति बनने पर मुबारकबाद! (सत्याग्रह)




Related Post

Comments