राजनीति

जेटलीजी लंबे-लंबे ब्लॉग लिखते हैं, पर कभी माल्या के बारे में नहीं लिखा-राहुल

Posted Date : 13-Sep-2018



नई दिल्ली, 13 सितंबर । वित्त मंत्री अरुण जेटली और अपनी मुलाकात को लेकर भगोड़े विजय माल्या के लंदन कोर्ट के बाहर दिये गये बयान के बाद भारत में सियासी माहौल गरमा गया है। विजय माल्या के बयान के बाद कि वह भागने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिला था, को लेकर कांग्रेस हमलावर हो गई है। विजय माल्या और अरुण जेटली की मुलाकात पर राहुल गांधी ने कहा कि कल अरुण जेटली ने कहा कि विजय माल्या से अनौपचारिक रुप से मिले। दरअसल, अरुण जेटली झूठ बोल रहे हैं, सरकार झूठ बोल रही है। राहुल गांधी ने अरुण जेटली पर पलटवार करते हुए कहा कि अरुण जेटली जी लंबे ब्लॉग लिखते हैं पर इसके बारे में कभी नहीं लिखा। मगर हम सबूत लाए हैं। पूनिया जी बताएंगे इस मुलाकात के बारे में, 15-20 मिनट की मीटिंग थी।
राहुल गांधी ने माल्या और जेटली की मुलाकात के सबूत के तौर पर पीएल-पुनिया पेश किया। इसके बाद पीएएल पुनिया ने कहा कि उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली और विजय माल्या को संसद के सेंट्रल हॉल में एक-दूसरे से बातचीत करते हुए देखा था। उन्होंने कहा कि यह बात उस दिन की सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद साबित हो सकती है। 
मीडिया से बातचीत करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वित्त मंत्री भगोड़े से मिलता है। पर एफएम न तो सीबीआई को बताता है न किसी एजेंसी को। अरुण जेटली बताएं कि अपने आप किया या फिर ऊपर से आदेश आया। ये ओपन एंड शट केस है। वे साफ बताएं और इस्तीफा दें। एक अपराधी बताता है कि वह भागने वाला है पर वित्त मंत्री सीबीआई को बताते नहीं।
राहुल ने कहा कि जेटली से ही मिलने आया था माल्या और जेटली के सलाह मशविरे के बाद ही वह विदेश भागा। राहुल ने कहा कि आखिर उन्होंने पुलिस को अलर्ट क्यों नहीं किया।  राहुल गांधी ने कहा कि अरुण जेटली ढाई साल तक चुप्पी साधे रहे, ढाई साल तक रहस्य बनाये रहे। संसद में बहस भी हुई लेकिन जेटली जी ने कहीं भी इसका जिक्र नहीं किया । 
राहुल ने कहा कि सवाल ये है कि वित्त मंत्री भगोड़ों से बात करते हैं। भगोड़ा, वित्त मंत्री से कहता है कि मैं अब लंदन जाने वाला हूं। लेकिन वित्त मंत्री ने सीबीआई, ईडी या पुलिस को नहीं बताया। क्यों?(एनडीटीवी)

 




Related Post

Comments