खेल

65 लाख की लूट का खुलासा, राष्ट्रीय स्तर का रेसलर निकला मास्टरमाइंड

Posted Date : 13-Sep-2018



नई दिल्ली, 13 सितंबर। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने सरिता विहार इलाके में हुई 65 लाख की लूट का मामला सुलझा लिया है। पुलिस ने इस मामले में लूट के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिनमें से एक राष्ट्रीय स्तर का रेसलर है।
दरअसल, सरिता विहार में विदेशी करेंसी बदलने का काम करने वाले मोहम्मद शाजेब अपने भाई के साथ सरिता विहार से बाइक पर घर के लिए निकले थे। शाजेब ने अपने बैकपैक में 65 लाख कैश रुपया रखा था। रात 9 बजे के करीब जब शाजेब अपने घर पहुंचने वाले थे, तभी दो बाइक पर सवार चार बदमाशों ने शाजेब को घेर लिया।
बदमाशों ने उन पर रिवाल्वर तान दी और बैग छीनने लगे। जब शाजेब ने इसका विरोध किया तो बदमाशों ने गोली चला दी और बैग लूटकर फरार हो गए। किस्मत से गोली शाजेब को नहीं लगी। लेकिन बदमाश 65 लाख कैश लूटकर वहां से भाग निकले।
इस केस की जांच स्पेशल सेल को दो दी गई थी। पुलिस की टीम जांच में जुट गई। जांच में पुलिस को पता लगा कि शाहाबाद डेयरी का रहने वाला योगेंद्र नाम का एक लड़का लूट में शामिल था। पुलिस ने योगेंद्र को धर दबोचा, योगेंद्र के पास से पुलिस ने एक देशी कट्टा बरामद किया। योगेंद्र ने पूछताछ में अपने दो साथियों के नाम पुलिस को बता दिए।
पुलिस को पता लगा कि लूट का मास्टरमाइंड सुनील और राजेश नरेला के हरिशचंद्र अस्पताल के पास अपनी मारूती जिप्सी से आने वाले हैं। इसके बाद पुलिस ने वहां से दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों के पास से साढ़े सात लाख कैश बरामद किया है। पूछताछ में दोनों ने बताया कि लूट के पैसों से एक मारूती अर्टिगा और एक जिप्सी खरीदी थी।
लूट का मास्टरमाइंड सुनील कुमार राष्ट्रीय स्तर का रेसलर है। सुनील ने 2008 में दिल्ली में हुई चैम्पियनशिप में सिल्वर मेडल हासिल किया था, लेकिन जल्द और ज्यादा पैसा कमाने के लालच में वह लुटेरा बन बैठा।
पुलिस का कहना है कि इनके पास इस बात की जानकारी थी कि शाजेब हर रोज बड़ी रकम लेकर अपने दफ्तर से घर जाते हैं, जिसके बाद सुनील ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर लूट की ये साजिश रची थी।
लूट के बाद ये लोग गोवा गए और वहां जाकर 4 लाख रुपये खर्च कर दिए। पुलिस ने अर्टिगा कार और जिप्सी जब्त कर ली है। अब पुलिस लूट की बाकी की रकम का पता लगाने की कोशिश कर रही है। (आज तक)

 




Related Post

Comments