सामान्य ज्ञान

चेंचु

Posted Date : 14-Sep-2018



चेंचु, दक्षिण भारत में पाई जानी वाली एक जनजाति है।  इनकी जनसंख्या लगभग 24 हजार। चेंचु मूल रूप से आंध्रप्रदेश राज्य के निवासी हैं। ये लोग क्षेत्र की द्रविड़ भाषा तेलुगु की एक भिन्न बोली बोलते हैं। इनके घासफूस से बने गोल घर, क्षेत्र में रहने वाले अन्य लोगों के घरों से अलग होते हैं। कुछ चेंचु अपना भोजन शिकार द्वारा और जंगलों से खाद्य पदार्थ, विशेषकर कंद एकत्र करके प्राप्त करते हैं। धनुष और बाण, धातु के शीर्ष वाली खुदाई की छड़, कुल्हाड़ी और साधारण चाकू उनके हथियार हैं। चेंचु भारत के मूल निवासियों में से है, जो प्रभावशाली हिंदू सभ्यता से सबसे ज्यादा अलग-थलग है। इनके रीति रिवाज बहुत कम और साधारण हैं। धार्मिक और राजनीतिक विशिष्टïताएं भी नगण्य हैं, छोटे संयुग्मी परिवारों का बाहुल्य है, जिनमें महिलाओं को पुरुषों के बराबर दर्जा हासिल है और वे परिपक्वता के बाद ही विवाह करती हैं। अधिकांश चेंचु बढ़ते कृषक समुदाय के कारण कृषि तथा वन मजदूर बन गए हैं और अपनी घुमंतू, भोजन एकत्र करने वाली जीवन शैली से बाहर आ गए हैं। अधिकांश लोगों ने हिंदू देवताओं और प्रथाओं को अपना लिया है और उन्हें अपेक्षाकृत ऊंची जातीय हैसियत प्राप्त है।
कारोबार सलाहकार समिति
संसद की कारोबार सलाहकार समिति में लोकसभा  अध्यक्ष व 14 अन्य सदस्य होते हैं। लोकसभा अध्यक्ष समिति का पदेन अध्यक्ष होता है तथा वहीं अन्य सदस्यों की नियुक्ति भी करता है। सदन के लिए समय सारणी तैयार करना तथा सदन का कार्य सुचारु रूप से संचालित करना इस समिति के मुख्य कार्य हैं। कभी-कभी समिति अपने विवेक से विशेष सार्वजनिक महत्व के विषय पर सदन में चर्चा कराने के लिए सरकार को परामर्श भी देती है।




Related Post

Comments