राजनीति

यूपीए सरकार में बैंकों पर माल्या को लोन देने का दबाव था-पीयूष गोयल

Posted Date : 14-Sep-2018



नई दिल्ली, 14 सितंबर। विजय माल्या को लेकर छिड़ी सियासी जंग में बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर निशाना साधा है। पार्टी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली का बचाव करते हुए कहा कि भगोड़ा बिजनेसमैन माल्या एक अपराधी है और उसकी बातों को गंभीरता से नहीं लिया जा सकता है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में कैबिनेट मंत्री पीयूष गोयल ने जेटली से इस्तीफा मांगने के राहुल के सवाल पर कहा कि माल्या को लोन देने के लिए नियमों के विरुद्ध जाकर पूर्व की यूपीए सरकार द्वारा दबाव बनाया गया।
गोयल ने सवाल किया, माल्या को इस तरह से लाभ क्यों पहुंचाया गया राहुल गांधी को इसका जवाब देना चाहिए। आखिर माल्या को किन संबंधों का लाभ दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि माल्या को नियम-कानूनों को दरकिनार कर लोन दिया गया। गोयल ने कहा कि राहुल गांधी को पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा देना चाहिए।  
भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिलने के दावे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को जेटली पर माल्या के साथ मिलीभगत का आरोप लगाया और कहा कि जेटली को यह बताना चाहिए कि यह सब उन्होंने खुद से किया या इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ऑर्डर आया था।
जेटली के इस्तीफे की मांग दोहराते हुए गांधी ने यह भी दावा किया कि इस मामले में वित्त मंत्री और सरकार झूठ बोल रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया संसद के केंद्रीय कक्ष में हुई जेटली माल्या की 15-20 मिनट की मुलाकात के साक्षी हैं और जेटली को देश को बताना चाहिए कि माल्या को भगाने के लिए क्या डील हुई थी।  (एजेंसी)

 




Related Post

Comments