खेल

भारत की अंडर-19 का स्टार, अब अमेरिकी क्रिकेट टीम का कप्तान

Posted Date : 04-Nov-2018




नई दिल्ली, 4 नवंबर । मुंबई का क्रिकेट से गहरा नाता रहा है। भारतीय क्रिकेट को शीर्ष पर पहुंचाने मुंबई के कई नामचीन क्रिकेटरों का योगदान रहा है। लेकिन अब मुंबई अमेरिका में भी क्रिकेट में अपना जलवा बिखरने को तैयार है। भारत की अंडर-19 टीम में खेल चुके मुंबई के स्टार खिलाड़ी सौरभ नेत्रावलकर अब अमेरिका की राष्ट्रीय टीम कप्तानी करते नजर आएंगे। 
इससे पहले साल 2010 में अंडर-19 वल्र्ड कप में भारत के लिए खेल चुके नेत्रावलकर स्टार परफॉर्मर रहे थे। मुंबई का यह लेफ्ट आर्म पेसर इस वल्र्ड कप में भारत की ओर से सर्वाधिक विकेट लेने वाले बोलर थे। तीन साल बाद रणजी ट्रोफी में मुंबई की ओर से कर्नाटक के खिलाफ उन्होंने अपना डेब्यू किया और इस मैच में 3 विकेट अपने नाम किए। हालांकि रणजी ट्रोफी में यह उनका इकलौता मैच ही साबित हुआ। इसके बाद 2015 में वह कंप्यूटर इंजिनियर बनने के लिए अमेरिका चले गए। 
नेत्रावलकर क्रिकेट में अपने भविष्य को लेकर संतुष्ट नहीं थे। सैन फ्रांसिस्को बात करते हुए उन्होंने बताया मैंने अपने दो साल क्रिकेट को दिया और खूब मन लगाकर खेला लेकिन मुझे अहसास हुआ कि मैं अपने खेल को अगले स्तर पर नहीं ले जा पा रहा हूं। इसके बाद मैंने पढ़ाई पर फोकस किया और मुंबई की सरदार पटेल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से इंजिनियरिंग में ग्रेजुएट करने के बाद मैंने यहां (अमेरिका) की कोरनेल यूनिवर्सिटी में मास्टर करने लिए एडमिशन ले लिया। 
अमेरीका में अपनी मास्टर डिग्री के दौरान उन्हें एक बार फिर क्रिकेट खेलना का मौका मिला, तो वह खुद को रोक नहीं पाए। पढ़ाई के दौरान उन्होंने क्रिकेट जारी रखा और ओराकल में नौकरी जॉइन करने के बावजूद भी क्रिकेट के प्रति अपने जुनून को कायम रखा। 27 वर्षीय नेत्रावलकर हर सप्ताह सैन फ्रांसिस्को से लॉस एंजिल्स क्रिकेट खेलने आया करते थे। 
नेत्रावलकर बताते हैं, प्रत्येक शुक्रवार को मैं ऑफिस से जल्दी निकलकर अपने साथी क्रिकेटर्स के साथ 6 घंटे की ड्राइव करके लॉस एंजिल्स आता हूं और यहां शनिवार को 50 ओवर का मैच खेलता हूं। इसके बाद रात में फिर ड्राइव कर वापस लौटते हैं और रविवार को यहां भी 50 ओवर का एक मैच खेलते हैं। सोमवार को फिर से ऑफिस जॉइन करता हूं। मैंने इस खेल के लिए कड़ी मेहनत की है, जो सिलेक्टर्स के भी दिमाग मे थी। इसके बाद जनवरी में मुझे अमेरिका की राष्ट्रीय टीम में चुन लिया गया।
अब नेत्रावलकर अमेरिकी टीम के कप्तान हैं और अगले सप्ताह यह टीम ओमान में आईसीसी वल्र्ड क्रिकेट लीग डिविजन 3 में खेलने के लिए जाएगी। यह 2023 वनडे वल्र्ड कप के लिए क्वॉलिफायर टूर्नामेंट होंगे। नेत्रावलकर मानते हैं कि मेन टूर्नमेंट में खेलने का मौका मिलना किसी सपने के सच होने जैसा है। (टाईम्स न्यूज)




Related Post

Comments