कारोबार

फोनपे पेमेंट गेटवे ने शुरू किया रेफरल प्रोग्राम
19-Jun-2024 11:34 AM
फोनपे पेमेंट गेटवे ने शुरू किया रेफरल प्रोग्राम

नई दिल्ली, 19 जून । फोनपे पेमेंट गेटवे (पीजी) ने 'फोनपे पीजी पार्टनर प्रोग्राम' के नाम से एक रेफरल कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा की है। इसे उन कारोबारियों के लिए डिजाइन किया गया है जो ऑनलाइन कारोबार को आगे बढ़ाने में अपने क्लाइंट की मदद करना चाहते हैं। रेफरल पार्टनर के रूप में वे अपने क्लाइंट के रेफरेंस दे सकते हैं ताकि वे ग्राहकों से ऑनलाइन भुगतान स्वीकार करना शुरू करें और अपने कारोबार को आगे बढ़ायें। इसके लिए उन्हें इंडस्ट्री के मानकों के हिसाब से अच्छे कमीशन की पेशकश की गई है। हर ट्रांजेक्शन के साथ उनकी रेफेरल से होने वाली आमदनी भी बढ़ती जाएगी। फोनपे पेमेंट्स गेटवे एंड ऑनलाइन मर्चेंट्स के प्रमुख अंकित गौड़ ने कहा, "फोनेपे पीजी पार्टनर प्रोग्राम की लॉन्चिंग के साथ हम अत्याधुनिक भुगतान समाधान और भागीदारी के लिए रिवॉर्ड देकर कारोबारियों को सशक्त बनाने की हमारी प्रतिबद्धता दोहराते हैं।" उन्होंने कहा, "हमने लॉन्चिंग के बाद से ही हमारे रेफरल प्रोग्राम को अपनाये जाने के मामले में 10 गुना वृद्धि देखी है।

इस पहल के साथ हम अत्याधुनिक फिनटेक समाधान के साथ मर्चेंट को सशक्त बनाने और उनके ऑनलाइन कारोबार की सफलता को और आगे बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं।" पीजी रेफरल प्रोग्राम की शुरुआत अहमदाबाद में एक भव्य कार्यक्रम में की गई। इसमें गौड़ ने कई सत्रों का नेतृत्व किया जो जानकारियों के आदान-प्रदान पर केंद्रित थे। संभावित रेफरल पार्टनरों ने चर्चा में सक्रिय रूप से भाग लिया और ऑनलाइन विकास को बढ़ावा देते समय कारोबारियों के सामने आने वाली चुनौतियों के समाधान के बारे में बताया। फोनपे पीजी पार्टनर प्रोग्राम से जुड़कर कारोबारी अपने मर्चेंट को श्रेणी विशेष में सबसे बेहतर भुगतान समाधान प्रदान कर सकते हैं।

इस सहयोग से विश्वसनीयता बढ़ती है और कारोबारी अपने क्लाइंट के पसंदीदा वेंडर बनकर विश्वास बना सकते हैं और कारोबार का विस्तार कर सकते हैं। विभिन्न क्षेत्र में कारोबार करने वाले इस कार्यक्रम से जुड़ सकते हैं। इनमें डेवलपर, ईआरपी, सीआरएम, और एसएएएस कंपनियों जैसे टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म शामिल हैं। इसमें पार्टनरों को हर महीने नियमित तौर पर कमीशन, फोनपे पीजी के कार्यक्रमों के लिए विशेष निमंत्रण और किसी भी क्वेरी के लिए समर्पित अकाउंट मैनेजर की सुविधा दी जाएगी। टेक्नोलॉजी पार्टनरों को अतिरिक्त सपोर्ट दिया जाएगा जिसमें अपने उत्पादों के निर्बाध इंटीग्रेशन के लिए तकनीकी सहायता भी शामिल है। इस कार्यक्रम से जुड़ने के लिए कारोबारियों को फोनपे पीजी पार्टनर पेज पर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण के बाद फोनपे का एक प्रतिनिधि उन्हें कॉल करके केवाईसी और कार्यक्रम से जुड़ने की औपचारिकताओं में मदद करेगा। प्रक्रिया पूरी होने के बाद उन्हें उनके पंजीकृत ईमेल पर एक रेफरल लिंक मिलेगा। इसके बाद वे क्लाइंट का रेफरेंस देना और कमीशन कमाना शुरू कर सकते हैं। --(आईएएनएस)

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news