ताजा खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने अपने ख़िलाफ़ सीबीआई जांच की मांग की
23-Jun-2024 9:32 AM
पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने अपने ख़िलाफ़ सीबीआई जांच की मांग की

-अमित सैनी

भारत सरकार में मंत्री रहे पूर्व सांसद संजीव बालियान ने एक पत्र लिखकर अपने ख़िलाफ़ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की सीबीआई जांच कराने की मांग की है.

संजीव बालियान इस बार पश्चिमी उत्तर प्रदेश की मुज़फ़्फ़रनगर सीट से समाजवादी पार्टी उम्मीदवार हरेंद्र मलिक से चुनाव हार गए हैं.

बीजेपी की हार को लेकर संजीव बालियान और सरधना विधानसभा सीट से पूर्व बीजेपी विधायक संगीत सोम के बीच ज़ुबानी जंग भी छिड़ी हुई है. मेरठ ज़िले के सरधना विधानसभा सीट का क्षेत्र मुज़फ़्फ़रनगर लोकसभा सीट में शामिल है.

संजीव बालियान ने ये पत्र अपने लेटर हेड पर गृह मंत्री अमित शाह को लिखा है. जिसमें उन्होंने बीजेपी के पूर्व विधायक संगीत सोम का नाम लिए बगैर लिखा, "हाल ही के दिनों में मीडिया के माध्यम से एक महत्वपूर्ण बात प्रकाश में आई है. पश्चिम उत्तर प्रदेश के एक पूर्व विधायक के लेटर हैड पर एक पत्र पत्रकारों को वितरित किया गया है, जिसमें मुझ पर भ्रष्टाचार के निराधार आरोप लगाए गए है."

लेटर में संजीव बालियान ने सभी आरोपों का खंडन करते हुए लिखा, "पत्र में लगाए गए सभी आरोपों का खंडन करता हूं और उन सभी आरोपों की सीबीआई से या अन्य किसी उच्च स्तरीय संस्था से जांच कराई जाए ताकि मुझ पर लगाए गए उन सभी आरोपों की सच्चाई देश के समक्ष आ सके और इसके पीछे के षड्यंत्रकारियों का चेहरा भी बेनकाब हो सके."

पूर्व मंत्री संजीव बालियान ने अपने इस पत्र में ये भी लिखा, "क्योंकि मैं विगत दोनों सरकारों में मंत्री रहा हूँ, इसलिए मुझ पर ऐसे आरोप लगाए गए. ऐसे आरोपों की निष्पक्ष जांच कराना मेरा दायित्व बनता है."

हालांकि पूरे पत्र में ना तो किसी का नाम लिखा गया है और ना ही आरोपों के बारे में ज़िक्र किया गया है, लेकिन मुज़फ़्फ़रनगर लोकसभा सीट पर बीजेपी की हार के बाद संजीव बालियान और संगीत सोम के बीच चल रही राजनीतिक कलह खुलकर सामने आ गई है.

हार के बाद संजीव बालियान ने संगीत सोम का नाम लिए बिना कहा था, "शिखंडी ने छिपकर वार किया."

संजीव बालियान ने संगीत सोम की तरफ इशारा करते हुए ये भी कहा था, "सपा प्रत्याशी को चुनाव लड़ाया गया."

संजीव बालियान के इन आरोपों के बाद संगीत सोम ने मेरठ में प्रेस वार्ता की थी. जिसमें उन्होंने मुज़फ़्फ़रनगर हार के लिए संजीव बालियान को ही ज़िम्मेदार ठहराया था.

कथित तौर पर इसी प्रेसवार्ता में संगीत सोम के लेटर हैड पर एक पत्र पत्रकारों को वितरित किया गया, जिसमें संजीव बालियान पर कई गंभीर आरोप लगाए गए.

पत्र में संजीव सहरावत उर्फ संजीव खरडू के नाम का ज़िक्र करते हुए आरोप लगाया गया कि संजीव बालियान को उन्होंने करोड़ों की क़ीमत की ऑस्ट्रेलिया में ज़मीन दिलवाई.

हालांकि इस मामले में संजीव सहरावत ने सामने आकर सभी आरोपों का खंडन करते हुए संगीत सोम को मानहानि का दस करोड़ का लीगल नोटिस भेजा.

उधर, मामले के तूल पकड़ते ही संगीत सोम ने बैकफुट पर आते हुए प्रेस वार्ता में वितरित किए गए कथित लेटर हैड के संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. शिकायत में कहा गया कि "अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनके लेटर हैड का ग़लत तरीके से इस्तेमाल करते हुए पत्र को वितरित किया गया.

इस कथित पत्र को वितरित किए जाने की जांच अब मेरठ पुलिस कर रही है. (bbc.com/hindi)

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news