सेहत / फिटनेस

डिप्रेशन का कारण बन सकते हैं आपके फेवरिट पिज्जा-बर्गर: रिसर्च
डिप्रेशन का कारण बन सकते हैं आपके फेवरिट पिज्जा-बर्गर: रिसर्च
Date : 20-May-2019

यह रिसर्च यूनिवर्सिटी ऑफ ग्लासगो द्वारा किया गया है। खास बात यह है कि डिप्रेशन और मोटापे में भी कनेक्शन देखा गया है। मोटापे का शिकार लोगों पर ऐंटी डिप्रेसेन्ट का असर आम लोगों की तुलना में कम होता है। ऐसे में यह साफ है कि हाई फैट डायट डिप्रेशन को बढ़ाने का काम करते हैं। इस रिसर्च के बाद अब उम्मीद है कि डिप्रेशन की दवा बनाने में कुछ नई बातों को भी ध्यान रखा जाएगा। रिसर्चर्स का कहना है कि पिज्जा-बर्गर जैसी जीजें डिप्रेशन को बढ़ाने का काम कर सकती हैं। कई बार सैचुरेटेड फैट खून के जरिए दिमाग में चला जाता है। अगर यह दिमाग हाइपोथैलमस पर असर डाले तो आपमें डिप्रेशन के लक्षण आ सकते हैं। बता दें कि हाइपोथैसमस दिमाग का वह हिस्सा होता है जो भावनाओं पर नियंत्रण रखता है। 

कई बार लोग अपना मूड ठीक करने के लिए अपने फेवरेट फूड की ओर भागते हैं। किसी बात से परेशान होने पर लोग अच्छा खाना खाकर अपना मूड ठीक करना चाहते हैं। आपका मूड ठीक करने वाले इस खाने में अकसर जंक फूड शामिल होता है। आपको बता दें कि जंक फूड जैसे पिज्जा, बर्गर आदि आपके डिप्रेशन को और बढ़ा सकते हैं। यह बात एक रिसर्च में सामने आई है। 

Related Post

Comments