कारोबार

भिलाई नगर, चेम्बर अध्यक्ष के खिलाफ विरोध प्रस्ताव पारित किया भिलाई इकाई ने
भिलाई नगर, चेम्बर अध्यक्ष के खिलाफ विरोध प्रस्ताव पारित किया भिलाई इकाई ने
Date : 09-Jul-2019

चेम्बर अध्यक्ष के खिलाफ विरोध प्रस्ताव पारित किया भिलाई इकाई ने 

भिलाई नगर, 9 जुलाई। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कामर्स एण्ड इण्डस्ट्रीज में चल रहा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। दो दिन पूर्व चेम्बर के संरक्षक श्रीचंद सुंदरानी के इस्तीफा देने के बाद प्रदेश युवा चेम्बर को भंग करने के विरोध में भिलाई इकाई ने मोर्चा खोल दिया है। 
चेम्बर की भिलाई इकाई ने युवा चेम्बर को भंग करने का विरोध करते हुए प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र बरलोटा का इस्तीफा मांगा है। सोमवार शाम को राजराजेश्वरी मंदिर पावर हाउस के हाल में भिलाई इकाई के अध्यक्ष भीमसेन सेतपाल की अध्यक्षता में कार्यकारिणी, पदाधिकारी एवं भिलाई के सभी अंचलों से आये व्यापारी बंन्धुओ की बैठक हुई। जिसमें सभी सदस्यों ने प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र जैन बरलोटा के अनीतिगत, असंवैधानिक एवं अव्यवहारिक फैसले का एक मत से विरोध प्रस्ताव पारित किया। चेंबर के प्रदेश उपाध्यक्ष गारगी शंकर मिश्रा ने बताया कि यह फैसला संवैधानिक नहीं था। प्रदेश चैंबर के सभी प्रतिनिधियों यहाँ तक प्रदेश कार्यकारिणी की राय इस फैसले पर नहीं ली गई, मेरे विचार में यह उनकी व्यक्तिगत सोच थी। युवा चैंबर विगत कई वर्षों से अच्छा कार्य करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा था। प्रदेश चैंबर की युवा टीम ने सदस्यता अभियान चलाकर संगठन को मजबूत करने में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की। बैठक को भिलाई चैंबर के महामंत्री शिरिष अग्रवाल, संरक्षक महिमानंद सिंह, भिलाई कार्यकारी अध्यक्ष विजय सिंह आदि ने संबोधित करते हुए अपने विचार रखे। चैंबर के संरक्षक प्रसिद्ध उघोग व्यवसायी केके झा ने कहा कि युवा ब्रिगेड अभी तक चैम्बर के पदाधिकारियो की आंख का तारा था अचानक कुछ लोगों के लिए गलत कैसे हो गया। चैंबर के सभी आयोजनों में  युवा चैंबर के कार्यों को सहारा गया है अभी हाल में युवा चैंबर द्वारा रायपुर चैंबर आफिस में आयोजित स्वास्थ्य शिविर में अंचल के जनमानस को स्वास्थ्य लाभ मिला। 
इस शिविर की पूरे प्रदेश में प्रंशसा की गई फिर अचानक युवा चैंबर अनुशासनहीन कैसे हो गया।

 

Related Post

Comments