राष्ट्रीय

रामलला के वकील सुप्रीम कोर्ट में बोले- सभी मामलों में पूर्ण न्याय करना चाहिए
रामलला के वकील सुप्रीम कोर्ट में बोले- सभी मामलों में पूर्ण न्याय करना चाहिए
Date : 13-Aug-2019

नई दिल्ली, 13 अगस्त। सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले पर पांचवें दिन सुनवाई शुरू हो गई। राम लला के वकील बहस जारी रखेंगे। राम लला विराजमान के लिए वरिष्ठ वकील के परासरन ने पीठ से कहा कि न्यायालय को सभी मामलों में पूर्ण न्याय करना चाहिए। इससे पहले शुक्रवार को मुस्लिम पक्ष की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने मामले में पांच दिन सुनवाई किए जाने पर आपत्ति जताई थी।
अयोध्या मामले की सुनवाई कर रहे सुप्रीम कोर्ट को बताया गया कि वहां 16 जनवरी 1949 तक नमाज अदा की गई और अंदर कोई मूर्ति नहीं थी ।
राम लला के लिए एक अन्य वरिष्ठ अधिवक्ता सी एस वैद्यनाथन ने न्यायालय को बताया कि वह इस मुद्दे पर बहस करेंगे कि क्या उस जगह पर कोई मंदिर था जिस जगह पर मस्जिद बनाई गई ।
धवन ने पीठ को बताया, अगर सप्ताह के सभी दिनों में सुनवाई होती है तो न्यायालय की सहायता करना संभव नहीं होगा। यह पहली अपील है और इतनी जल्दबाजी में सुनवाई नहीं हो सकती और यह मेरे लिए प्रताडऩा है। इस पर पीठ ने धवन से कहा कि उसने दलीलों पर गौर किया है और वह जल्द से जल्द जवाब देगी।
वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने एक पक्षकार राम लला विराजमान से जानना चाहा कि देवता के जन्मस्थान को इस मामले में दावेदार के रूप में कैसे कानूनी व्यक्ति माना जा सकता है। शीर्ष अदालत ने अयोध्या प्रकरण में तीसरे दिन की सुनवाई में कहा कि जहां तक हिन्दू देवताओं का संबंध है तो उन्हें कानूनी व्यक्ति माना गया है जो संपत्ति और संस्थाओं के स्वामी हो सकता हैं और किसी वाद में अपना बचाव और हस्तक्षेप भी कर सकते हैं।(लाइव हिन्दुस्तान)
 

Related Post

Comments