सेहत / फिटनेस

आपकी सेहत को कई तरह से नुकसान पहुंचाती है ई-सिगरेट
आपकी सेहत को कई तरह से नुकसान पहुंचाती है ई-सिगरेट
Date : 19-Sep-2019

ई-सिगरेट यानी इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट को ड्रग्स मानते हुए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को इसे देशभर में बैन कर दिया। अब भारत के किसी भी हिस्से में ई-सिगरेट को बनाना, बेचना, इस्तेमाल करना, स्टोर करना और इनका विज्ञापन तक करना अपराध होगा। पहली बार पकड़े जाने पर 1 साल तक की सजा या 1 लाख रुपये जुर्माना या दोनों हो सकते हैं और दोबारा पकड़े गए तो 3 साल की सजा औऱ 5 लाख तक का जुर्माना हो सकता है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देशभर में खासकर युवाओं की सेहत पर ई सिगरेट के खतरनाक असर को देखते हुए इसे बैन करने का फैसला लिया है। तो आखिर ई-सिगरेट किस तरह से हमारी सेहत को नुकसान पहुंचाती है,  -सिगरेट बैटरी से चलने वाले ऐसी डिवाइस है जिनमें लिक्विड भरा रहता है। यह निकोटीन और दूसरे हानिकारक केमिकल्‍स का घोल होता है। जब कोई व्यक्ति ई-सिगरेट का कश खींचता है तो हीटिंग डिवाइस इसे गर्म करके भाप में बदल देती है। इसीलिए इसे स्‍मोकिंग की जगह vaping (वेपिंग) कहा जाता है।

दिल की बीमारी का खतरा
अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियॉलजी में छपे जर्नल के मुताबिक, ई-सिगरेट में निकोटिन की मात्रा भले ही कम हो लेकिन इसमें मौजूद फ्लेवरिंग से ब्लड वसेल के काम करने की क्षमता प्रभावित होती है जिसे दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।

निकोटीन की लत
ई-सिगरेट में निकोटीन और दूसरे हानिकारक केमिकल्स का घोल होता है। निकोटीन अपने आप में ऐसा नशीला पदार्थ है जिसकी लत लग जाती है। इसलिए विशेषकर हृदय रोगियों को ई-सिगरेट से दूर रहना चाहिए। वैज्ञानिक शोधों में यह कहा गया है कि यह दिल की धमनियों को कमजोर भी करता है। इसकी लत पड़ जाती है इसलिए इसे छोड़ने पर विदड्रॉल सिंड्रोम और डिप्रेशन की समस्‍या हो सकती है।गर्भवती के लिए नुकसानदायक
गर्भवती महिलाओं के लिए वेपिंग बहुत खतरनाक है इससे उनके गर्भस्‍थ शिशु पर बुरा असर पड़ता है। छाटे बच्‍चों के आसपास इसे पीना ठीक नहीं क्‍योंकि हानिकारक भाप उनके दिमागी विकास पर असर डालती है।

खुशबूदार केमिकल से कैंसर की आशंका
इसमें निकोटीन के अलावा जो खुशबूदार केमिकल भरा होता है वह गर्म होने पर सांस के साथ फेफड़ों में जाता है और फेफड़ों के कैंसर की आशंका बढ़ जाती है।

दिखावे के लिए पीते हैं ज्यादातर युवा
एक सर्वे के मुताबिक ज्यादातर युवा ई-सिगरेट का सेवन दिखावे के लिए करते हैं। कई लोगों को ऐसा लगता है कि ई-सिगरेट के नुकसान कम है इसलिए वे इसका इस्तेमाल करते हैं। लेकिन हकीकत ये है कि इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट भी सेहत के लिए कई तरह से नुकसानदेह है।

Related Post

Comments