विशेष रिपोर्ट

वेलेंटाइन-डे पर हथियार छोड़ दलम से भागा नक्सल प्रेमीजोड़ा, मोहला दलम के हार्डकोर नक्सली गैंदसिंग और प्रेमिका आसमां की तलाश में पुलिस
वेलेंटाइन-डे पर हथियार छोड़ दलम से भागा नक्सल प्रेमीजोड़ा, मोहला दलम के हार्डकोर नक्सली गैंदसिंग और प्रेमिका आसमां की तलाश में पुलिस
Date : 15-Feb-2020

वेलेंटाइन-डे पर हथियार छोड़ दलम से भागा नक्सल प्रेमीजोड़ा, मोहला दलम के हार्डकोर नक्सली गैंदसिंग और प्रेमिका आसमां की तलाश में पुलिस

राजनांदगांव, 15 फरवरी (छत्तीसगढ़)। वैलेंटाइन-डे पर राजनांदगांव जिले के मोहला दलम के एक प्रेमी नक्सल जोड़ा अपनी नई जिंदगी की शुरूआत करने के लिए हथियार छोडऩे की खबर है।

वैलेंटाइन-डे से दो दिन पहले मिली सूचना से पुलिस को इस प्रेमी जोड़े को मुख्यधारा में लाने के लिए अच्छा मौका हाथ लग गया है। बताया गया है कि जंगल में साथ रहे जोड़े ने दबाव और डर की दुनिया को छोडक़र नैसर्गिक जीवन जीने का इरादा लेकर हिंसक रास्ता को अलविदा कह दिया। पुलिस के पास इस बात की पुख्ता जानकारी है कि मोहला दलम कमांडर गैंदसिंग कोवाची अपनी नक्सल प्रेमिका आसमां धुरवा के साथ हथियार छोडक़र दलम से निकल गया है।

इस संबंध में एसपी बीएस ध्रुव ने  ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि पुलिस के पास ऐसी जानकारी है कि दोनों ने दलम छोड़ दिया है। दोनों की तलाश की जा रही है।

बताया गया है कि गैंदसिंग कोवाची पर करीब 8 लाख रुपए का ईनाम भी है। वह कांकेर जिले के कोडेखुरसे थाना के भुरके गांव का रहने वाला है। 2005-06 में नक्सली बना गैंदसिंग लंबे समय से राजनांदगांव के मोहला-मानपुर और औंधी इलाके में सक्रिय रहा है। उसकी प्रेमिका आसमां धुरवा भी कांकेर जिले के ओटेकसा की रहने वाली है। दोनों का प्यार  धीरे-धीरे परवान चढ़ता गया और मौके की तलाश में बैठा यह जोड़ा वैलेंटाइन-डे से दो दिन पहले ही दलम को चकमा देकर बाहर निकल गया।

 बताया जा रहा है कि इस खबर के बाद कांकेर, राजनांदगांव और गढ़चिरौली की पुलिस भी दोनों की तलाश कर रही है। सूत्रों का कहना है कि कांकेर पुलिस ने सूचना मिलने के बाद कवाची के पैतृक गांव में रिश्तेदारों और नजदीकी लोगों से संपर्क बढ़ाया है।

सूत्र बता रहे हैं कि दोनों का लंबे समय से नक्सल दलम से मोह भंग होने लगा था। यह भी खबर है कि गैंदसिंग और उसकी प्रेमिका आसमां को नक्सलियों का शीर्ष नेतृत्व को दोनों के 

रिश्ते को लेकर आपत्ति थी। दलम छोडऩे का मन बना चुके इस जोड़े ने आखिरकार वैलेंटाइन-डे के खास मौके को चुना। दो दिन पहले इस जोड़े ने दलम से बाहर निकलने की हिम्मत दिखाई।

सूत्रों का कहना है कि गैंदसिंग एसएलआर से लैस था। यह भी खबर है कि दलम से निकलने के दौरान भी उसके पास उक्त हथियार मौजूद था। हालांकि अब खबर आ रही है कि उसने हथियार कहीं छोड़ दिया है। बताया जा रहा है कि दोनों को घेरने के लिए पुलिस सर्चिंग में जुट गई है।

इधर हार्डकोर नक्सली गैंदसिंग की गैरमौजूदगी से नक्सलियों को जोरदार झटका लगा है। राजनांदगांव जिले का दक्षिण इलाका मोहला-मानपुर कभी नक्सलियों के लिए पनाहगाह था।

बताया जाता है कि गैंदसिंग कोवाची के दलम छोडऩे से नक्सलियों को स्वभाविक तौर पर झटका लगना तय है। बहरहाल इस नक्सल जोड़े की खोजबीन में पुलिस के अलावा नक्सली जमीन-आसमान एक कर रहे हैं।

 

 

Related Post

Comments