राष्ट्रीय

यूपी में 6 माह हड़ताल पर रोक, भत्ते समाप्त होने से भी नाराजगी
यूपी में 6 माह हड़ताल पर रोक, भत्ते समाप्त होने से भी नाराजगी
23-May-2020

लखनऊ, 23 मई। भत्तों को समाप्त करने के खिलाफ प्रतीकात्मक विरोध दर्ज करा रहे कर्मचारियों के खिलाफ प्रदेश सरकार की नाराजगी सामने आई है। सरकार ने तत्काल प्रभाव से आवश्यक सेवा अनुरक्षण कानून (एस्मा) लागू करते हुए सभी विभागों में अगले छह महीने के लिए हड़ताल पर रोक लगा दी है। 
अपर मुख्य सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक मुकुल सिंघल ने कहा कि हड़ताल पर रोक के बावजूद यदि कर्मचारी आंदोलन आदि करते हैं तो सरकार सख्त कार्रवाई कर सकेगी। प्रदेश सरकार ने कर्मचारियों के कई भत्तों का भुगतान एक वर्ष के लिए स्थगित करने के बाद अचानक पूरी तरह समाप्त कर दिया था।  
तमाम सेवा संगठनों से जुड़े कर्मचारी काली पट्टी बांधकर इसके प्रति विरोध जता रहे हैं। उन्होंने आगे आंदोलन की चेतावनी भी दे रखी है। सरकार ने इन विरोध-प्रदर्शनों पर पूरी तरह से रोक के लिए अत्यावश्यक सेवाओं का अनुरक्षण अधिनियम, 1966 के अंतर्गत प्राप्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए हड़ताल पर रोक लगाई है।
अपर मुख्य सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक मुकुल सिंघल ने कहा है कि प्रदेश सरकार के कार्यकलापों से संबंधित किसी लोक सेवा, राज्य सरकार के स्वामित्व व नियंत्रण वाले किसी निगम के अधीन सेवाओं तथा किसी स्थानीय प्राधिकरण के अधीन सेवाओं के लिए छह महीने के लिए हड़ताल निषिद्ध की गई है।

मजदूरों से भरी बस पलटी, 35 घायल, 9 गंभीर
प्रयागराज, 23 मई (हिन्दुस्तान)। राजस्थान से प्रवासी मजदूरों को लेकर जा रही रोडवेज बस प्रयागराज के नवाबगंज थाना अंतर्गत शहाबपुर गांव के सामने अनियंत्रित होकर पलट गई। बस में सवार 35 मजदूर घायल हो गए। हादसे के दौरान बस के अंदर झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल के लगभग 45 लोग सवार थे। दुर्घटना की सूचना मिलते ही एसडीएम, सीओ और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। सभी घायलों को उपचार के लिए सीएचसी कौडि़हार ले जाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद नौ मजदूरों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।
राजस्थान के जयपुर से एक प्राइवेट लग्जरी बस से 45 प्रवासी मजदूर बिहार और झारखंड के अपने-अपने गांव जा रहे थे। शुक्रवार रात करीब साढ़े नौ बजे बस दिल्ली नेशनल हाईवे पर नवाबगंज थाना क्षेत्र के शहावपुर गांव के सामने पहुंची थी कि अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराई और कई पलटा खाते हुए हाईवे के नीचे सर्विस रोड पर आ गई। हादसे में बस पर सवार करीब पैंतीस प्रवासी मजदूर घायल हो गए। सूचना पाकर इंस्पेक्टर नवाबगंज सुरेश सिंह, सीओ व एसडीएम सोरांव मौके पर पहुंए गए। आनन फानन में घायलों को सीएचसी कौडि़हार भेजा गया, जहां प्रथम उपचार के बाद नौ प्रवासी मजदूरों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। अन्य का इलाज सीएचसी कौड्हिार में देर रात तक चल रहा था।
चालक को झपकी आने से अनियंत्रित हुई बस
बस पर सवार यात्री मुकेश कुमार ने बताया कि हाईवे पर बस तेज रफ्तार चल रही थी। बस चालक को अचानक झपकी आ गई और बस अनियंत्रित होकर पहले डिवाइडर से टकराई, हाईवे के किनारे लगे लोहे की रॉड को तोड़ बस पलटते हुए नीचे सर्विस रोड के नाले में चली गई।
प्रयागराज, एसडीएम सोरांव सुनील चतुर्वेदी ने बताया कि प्रवासी मजदूर निजी बस लेकर राजस्थान से बिहार जा रहे थे। बस में बिहार और झारखंड प्रांत के मजदूर हैं। नाजुक हालत में रहे नौ मजदूरों को तेज बहादुर सप्रू अस्पताल भेजा गया है। शेष सभी 26 मजदूरों का सीएचसी कौडि़हार में इलाज चल रहा है। (अमर उजाला) (https://www.amarujala.com)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

0
 

अन्य खबरें

Comments