राजनीति

 सच्चाई छिपाना 'देशद्रोह' और उसे बाहर लाना 'देशभक्ति' है: राहुल
सच्चाई छिपाना 'देशद्रोह' और उसे बाहर लाना 'देशभक्ति' है: राहुल
27-Jul-2020 1:17 PM

नई दिल्ली, 27 जुलाई (आईएएनएस)| पूर्व कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने सोमवार को लद्दाख में चीनी घुसपैठ को लेकर मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि "सच्चाई को छुपाना" और चीन को भारतीय भूमि पर कब्जा करने की अनुमति देना "राष्ट्रविरोधी" है जबकि लोगों का ध्यान इस ओर खींचना "देशभक्ति" है। गांधी ने श्रृंखला में अपना चौथा वीडियो संलग्न करते हुए एक ट्वीट में कहा, "चीनी लोगों ने भारतीय भूमि पर कब्जा कर लिया है। इस सच्चाई को छिपाना और उन्हें इसे लेने की अनुमति देना देशद्रोह है। जबकि लोगों का ध्यान इस ओर आकर्षित कराना देशभक्ति है।"

'चीन पर कठिन सवाल' शीर्षक वाले वीडियो में केरल के वायनाड से कांग्रेस सांसद ने कहा, "एक भारतीय के रूप में, मेरी पहली प्राथमिकता देश और उसके लोग हैं।"

सरकार पर हमला करते हुए गांधी ने कहा, "आप ऐसे लोगों पर कैसी प्रतिक्रिया देते हैं जो चीन पर प्रधानमंत्री से आपके सवाल कहते हैं?"

कांग्रेस नेता ने कहा, "अब, यह बहुत स्पष्ट है कि चीनी हमारे क्षेत्र में प्रवेश कर चुके हैं। यह चीज मुझे परेशान करती है। यह मेरे खून को उबालता है कि कुछ अन्य देश हमारे क्षेत्र में कैसे आ सकते हैं?"

उन्होंने कहा, "अब यदि आप एक राजनेता के रूप में चाहते हैं कि मैं चुप रहूं और अपने लोगों से झूठ बोलूं, जबकि मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं क्योंकि मैंने सैटेलाइन तस्वीरें देखी हैं।"

राहुल ने आगे कहा, "मैंने सेना के पूर्व अधिकारियों से बात की है। यदि आप चाहते हैं कि मैं झूठ बोलूं कि चीनियों ने इस देश में प्रवेश नहीं किया है तो मैं झूठ नहीं बोलूंगा। मैं ऐसा नहीं करूंगा। मुझे परवाह नहीं है कि इससे मेरा पूरा करियर नरक में चला जाए पर मैं झूठ नहीं बोलूंगा। मुझे लगता है कि जो लोग हमारे देश में चीनियों के घुसने के बारे में झूठ बोल रहे हैं, वे लोग राष्ट्रवादी नहीं हैं।"

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि जो लोग झूठ बोल रहे हैं और कह रहे हैं कि चीनी, भारत में नहीं हैं, वे देशभक्त नहीं हैं। इसलिए मुझे परवाह नहीं है इसकी कीमत मुझे राजनेता के तौर पर चुकानी पड़े।"

बता दें कि सर्वदलीय बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि चीन ने भारत की भूमि में प्रवेश नहीं किया है। इसके बाद 17 जुलाई को, गांधी ने अपना पहला वीडियो जारी किया था और सरकार की विदेश नीति पर सवाल उठाया।

 

 

अन्य पोस्ट

Comments