सामान्य ज्ञान

एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय
18-Sep-2020 1:16 PM 9
एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय

एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय (इएमआरएस)अनुसूचित जनजातियों के बच्चों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए शुरू किए  गए हैं। 
केन्द्रीय जनजातीय कार्य मंत्रालय भारतीय संविधान की धारा 275(1) के अधीन अनुदान से संबंधित विशेष क्षेत्र कार्यक्रम के अंतर्गत एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय की स्थापना के लिए राज्य सरकारों को अनुदान देता है। इसका उद्देश्य अनुसूचित जनजातियों के छठी से लेकर बारहवीं कक्षा के छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना है ताकि वे उच्चतर और व्यावसायिक शैक्षिक पाठ्यक्रमों के साथ-साथ सरकारी और सावर्जनिक उपक्रमों में उच्चतर स्तरों की नौकरियों में आरक्षण की सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकें। केंद्र ने 23 राज्यों में जनजातीय छात्रों हेतु 158 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों की स्थापना के प्रस्ताव को मंजूरी 16 सितम्बर 2013 को प्रदान की। इन 158 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों में से 111 में पढ़ाई शुरू हो गई है।
 इसके तहत सबसे अधिक 22 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय गुजरात के लिए मंजूर किए गए हैं। मध्य प्रदेश के लिए 20, राजस्थान के लिए 17 और छत्तीसगढ़ तथा ओडि़शा के 16-16 विद्यालय स्वीकृत किए गए हैं। विकलांग बच्चों के लिए विशेष व्यवस्था की गई है।
 

अन्य पोस्ट

Comments