खेल

भारतीय क्रिकेट का भविष्य उज्जवल : यूएई के पूर्व कप्तान
23-Sep-2020 3:54 PM 4
भारतीय क्रिकेट का भविष्य उज्जवल : यूएई के पूर्व कप्तान

दुबई, 23 सितंबर (आईएएनएस/ग्लोफैंस)। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में शानदार शुरुआत करने वाले देवदत्त पडिकल भारतीय क्रिकेट में न सिर्फ चर्चा का विषय बन गए हैं बल्कि विदेशों के कई पूर्व और मौजूदा खिलाड़ियों ने 20 साल के इस युवा बल्लेबाज की सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेली गई पारी की जमकर प्रशंसा की है। अपने पहले आईपीएल मैच में सोमवार को पडिकल ने आत्मविश्वास से भरी पारी खेलते हुए 42 गेंदों पर 56 रन बनाए थे और बेंगलोर को 10 रनों से जीत दिलाने में मदद की थी।

यूएई के पूर्व कप्तान मोहम्मद तौकीर ने पडिकल को बड़ा खिलाड़ी बताया है। तौकीर ने कहा है कि पडिकल, शिवम मावी, शुभमन गिल क्रिकेट को प्यार करने वाले भारत के उज्जवल भविष्य हैं।

2015 विश्व कप में यूएई की कप्तानी करने वाले तौकीर ने कहा, "यह भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छी बात है और पहले भी भारत के पास सफल कहानियां रही हैं। मावी, गिल जैसे खिलाडियों ने घरेलू और अंडर-19 क्रिकेट में अच्छा किया है।"

48 साल के तौकीर ने कहा, "इस संस्करण में (आईपीएल)। बिश्नोई (रवि), पडिकल और कई युवा आए हैं। युवाओं की बात है तो भारत का भविष्य सुनहरा है।"

तौकीर इस बात से निराश हैं कि लीग का 13वां संस्करण दर्शकविहीन मैदानों में खेला जा रहा है। उनको हालांकि लगता है कि यूएई में इतने बड़े टूर्नार्मेंट की मेजबानी करना सफलता की बात है और लंबे समय से अपने स्टार खिलाड़ियों को न देख पाने वाले उनके फैंस के पास अपने खिलाड़ियों को टीवी पर देखना का मौका तो है।

तौकीर ने कहा, "इस समय जारी महामारी के कारण लीग का आयोजन भारत में नहीं हो सका था, जहां खिलाड़ी कम से कम 15-20 हजार फैंस से भरे हुए मैदानों में खेलने के आदि हैं।"

उन्होंने कहा, "लेकिन यूएई में, यह दर्शकविहीन मैदानों में खेल रहे हैं। यह देखना दुर्भाग्यपूर्ण है कि इतनी बड़ी लीग बिना फैंस के खेली जा रही है। यह अच्छा नहीं है, अच्छी स्थिति नहीं है लेकिन विश्व स्तर के इस टूनार्मेंट का यूएई में होना बड़ी सफलता है और फैंस कम से कम घरों में अपने स्टार खिलाड़ियों को लाइव तो देख रहे हैं।"

48 साल के तौकीर ने अपने देश के लिए सिर्फ 11 वनडे खेले हैं लेकिन उनके पास कुछ अच्छी यादें हैं जिनमें से एक भारत के पूर्व बल्लेबाज वी.वी.एस. लक्ष्मण का विकेट लेना।

अपने पुराने दिनों की याद करते हुए तौकीर ने कहा, "सचिन (तेंदुलकर), सौरव (गांगुली), राहुल (द्रविड़) और बाकी लोगों के साथ खेलने का अनुभव लाजवाब था। मुझे 2004 में डाम्बुला (श्रीलंका) में भारत के खिलाफ खेला गया मैच साफ याद है। मैंने भारत के खिलाफ अर्धशतक भी लगाया था।"

उन्होंने कहा, "वो टीम स्टार खिलाड़ियों से भरी हुई थी। भारत के टॉप खिलाड़ियों के सामने परफॉर्म करना मेरे लिए अच्छा एहसास था जिसे मैं अपने जीवन में हमेशा याद रखूंगा।"

अपने छोटे से वनडे करियर में तौकीर ने नौ विकेट लिए हैं जिसमें से एक वीवीएस लक्ष्मण का है और यह उनकी यादों में सर्वश्रेष्ठ विकेट है।

यूएई के पूर्व कप्तान ने अपनी बात खत्म करते हुए कहा, "मैंने 2004 में लक्ष्मण का विकेट लिया था। इसके बाद पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कुछ और विकेट लिए थे, लेकिन लक्ष्मण का विकेट मेरा सबसे बड़ा विकेट है।"

तौकीर ने 2015 में आस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में खेले गए विश्व कप में टीम की कप्तानी की थी। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय पदार्पण 2004 में किया था और 11 साल तक देश का प्रतिनिधित्व किया।

अन्य पोस्ट

Comments