विचार / लेख

ढाका में जनरल नियाज़ी ने हथियार डाले थे पर ‘गद्दार’ नेताओं को कहा जाता है-नवाज शरीफ
19-Oct-2020 7:24 PM 56
ढाका में जनरल नियाज़ी ने हथियार डाले थे पर ‘गद्दार’ नेताओं को कहा जाता है-नवाज शरीफ

इकबाल अहमद

पाकिस्तान से छपने वाले उर्दू अखबारों में इस हफ़्ते इमरान खान के खिलाफ विपक्षी महागठबंधन की पहली रैली, और कोरोना से जुड़ी खबरें सुर्खियों में थीं।

पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार के खिलाफ विपक्ष ने एक साथ मिलकर मोर्चा खोल दिया है।

20 सितंबर को पाकिस्तान की सभी विपक्षी पार्टियों ने इस्लामाबाद में मिलकर पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) का गठन किया था और इमरान खान की सरकार के खिलाफ पूरे पाकिस्तान में विरोध-प्रदर्शन करने की घोषणा की थी।

प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने विपक्षी पार्टियों की एकजुटता पर हमला करते हुए उन्हें ‘डाकुओं की एकता’ करार दिया था।

लेकिन विपक्षी पार्टियों ने शुक्रवार को (16 अक्टूबर) को पंजाब प्रांत के गुजरानवाला में एक शानदार रैली कर अपने सरकार विरोधी अभियान की शुरुआत की।

इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री और मुस्लिम लीग (नून) के नेता नवाज शरीफ ने भी वीडियो लिंक के जरिए रैली को संबोधित किया।

नवाज शरीफ भ्रष्टाचार के मामले में दोषी करार दिए जा चुके हैं लेकिन इन दिनों अपनी खराब सेहत का इलाज कराने के लिए लंदन में हैं।

इमरान खान और सेना प्रमुख

पर निशाना

एक्सप्रेस अखबार ने लिखा है, ‘विपक्षी महागठबंधन का सरकार विरोधी पहला पावर शो।’ नवाज शरीफ पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तानी सेना पर जमकर हमले कर रहे हैं। इस्लामाबाद के भाषण में भी उन्होंने कहा था, ‘मेरी लड़ाई इमरान खान से नहीं है, बल्कि उनको सत्ता में बिठाने वालों (सेना की तरफ इशारा करते हुए) से है।’

शुक्रवार को गुजरानवाला में भी उन्होंने सेना पर निशाना लगाना जारी रखा।

नवाज शरीफ ने पाकिस्तान के स्थानीय समयानुसार रात के साढ़े ग्यारह बजे अपने भाषण की शुरुआत की लेकिन उस वक़्त भी गुजरानवाला का जिन्ना स्टेडियम लोगों से भरा हुआ था।

अखबार के अनुसार नवाज शरीफ ने मौजूदा सेना प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा पर बाज़ाब्ता नाम लेकर निशाना साधा।

उनका कहना था, ‘हमारी अच्छी भली चलती सरकार को आपने रुखसत करवाया। मुल्क और कौम को अपनी इच्छाओं की भेंट चढ़ाया, सांसदों की खरीद-फरोख्त आपने दोबारा शुरू करवाई, जजों से जोर जबरदस्ती से आपने फैसले लिखवाए।’

जनरल बाजवा पर निशाना साधते हुए नवाज़ शरीफ़ ने कहा, ‘आप ने चुनाव में जनता के जनादेश को रद्द करके, अपनी मर्जी के निकम्मे गिरोह को देश पर थोप दिया।’

नवाज शरीफ ने मौजूदा सेना प्रमुख पर तो हमला किया ही, पूरी पाकिस्तानी सेना की संस्था और उसके इतिहास पर भी नवाज शरीफ जमकर बरसे।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में सिविल सरकारों को अपना कार्यकाल पूरा नहीं करने दिया जाता और जनता के ज़रिए चुने गए नेताओं को ‘गद्दार’ कहा जाता है।

इस पर नवाज शरीफ ने कहा, ‘ढाका में जनरल नियाज़ी ने दुनिया की तारीख में पहली मरतबा खुले आम अपमानजनक तरीके से हथियार डाले, लेकिन गद्दार कौन है? राजनेता। गद्दार कौन है? नवाज शरीफ। गद्दार कौन है? बेनज़ीर भुट्टो। पाकिस्तान में देशभक्त वो लोग कहलाते हैं जिन्होंने संविधान के खिलाफ काम किया और देश तोड़ा।’

इमरान खान ने नवाज शरीफ के पहले दिए गए बयान पर कहा था कि नवाज शरीफ के सेना के खिलाफ बयान पर भारत में खुशियां मनाई जा रहीं हैं।

विपक्षी गठबंधन के एक प्रमुख नेता मौलाना फजलुर्रहमान ने इमरान खान के इस बयान का जवाब गुजरानवाला में दिया।

रैली को संबोधित करते हुए मौलाना ने कहा, ‘भारत ने उस वक्त खुशियां मनाई थीं, जब पाकिस्तान के चुनाव में धांधली हुई थी, जब एक नकली प्रधानमंत्री को देश पर थोपा गया था। आप पाकिस्तान के एजेंडे पर सत्ता में नहीं आए हैं, आप इसराइल या अमरीका के एजेंडे पर सत्ता में आए हैं।’

इमरान खान ने भी किया पलटवार

सेना के बारे में मौलाना फजलुर्रहमान ने कहा, ‘सेना से हमारी कोई लड़ाई नहीं है। लेकिन अगर आप देश की सरहदों की सुरक्षा की जि़म्मेदारी से हटकर राजनीति में हस्तक्षेप करते हैं, संविधान के खिलाफ काम करते हैं, धांधलियां करवाते हैं तो फिर आपके खिलाफ आवाज उठाना हमारा नहीं तो फिर किसका काम है।’

पीडीएम का दूसरा जलसा पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर कराची में रविवार (18 अक्टूबर) को होगा।

अखबार जंग ने लिखा है, ‘पीडीएम का दूसरा पावर शो आज कराची में होगा।’

इसके लिए सारी तैयारियाँ कर ली गईं हैं। नवाज शरीफ इस रैली को भी वीडियो लिंक के जरिए संबोधित कर सकते हैं लेकिन पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के आसिफ अली जरदारी बीमार होने की वजह से रैली में शामिल नहीं होंगे। हालांकि उनकी पार्टी ही इस रैली की मेज़बानी कर रही है।

इमरान खान ने भी नवाज शरीफ़ पर पलटवार किया है।

उन्होंने कहा, ‘नवाज शरीफ एक गीदड़ की तरह दुम दबाकर भाग गया और वहां बैठकर सेना प्रुमख और आईएसआई (पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी) के खिलाफ बातें कर रहे हैं। नवाज शरीफ ने सिर्फ जनरल कमर जावेद बाजवा पर नहीं, पूरी पाकिस्तानी फौज पर हमला किया है।’

इमरान खान ने कहा कि नवाज शरीफ के इस भाषण के बाद आप एक नए इमरान खान को देखेंगे।

अख़बार नवा-ए-वक़्त के अनुसार इमरान ख़ान ने कहा कि ‘कभी-कभी सोचता हूं, विपक्षी नेताओं को माफ कर दूं, मेरी जि़ंदगी आसान हो जाएगी। लेकिन ये पाकिस्तान के लिए तबाही का रास्ता है। जिंदगी में कभी-कभी मुश्किल फैसले करने पड़ते हैं और वही फैसले आपको ऊपर ले जाते हैं।’ (बीबीसी)

अन्य पोस्ट

Comments