सामान्य ज्ञान

दुनिया में बाल विवाह
21-Oct-2020 1:40 PM 30
दुनिया में बाल विवाह

भारत में बाल विवाह को रोकने के लिए कानून बनाए गए हैं, लेकिन इसके बाद भी हर साल बड़ी संख्या में बाल विवाह होते हैं। दुनिया के कई देशों में यही स्थिति है।  आंकड़ों के अनुसार दुनिया भर में 70 करोड़ महिलाएं ऐसी हैं जिनकी शादी 18 साल से कम उम्र में हो गई थी। करीब 25 करोड़ की 15 साल से भी पहले?
यूनिसेफ की सूची में बाव विवाह के मामले में बांग्लादेश का नंबर चौथा और भारत का 12वां है। भारत में बाल विवाह गैर कानूनी होने के बावजूद अभी भी लड़कियों की शादी 18 से कम उम्र में कर दी जाती है। अगर अभी की गति बनी रही तो 2011 से 2020 के बीच 14 करोड़ से ज्यादा लड़कियों की 18 से कम उम्र में शादी हो जाएगी।    अधिकतर अफ्रीकी देशों में लड़कियों की हालत बहुत खराब है। गरीबी के कारण अक्सर लड़कियों की शादी कर दी जाती है, वह भी अपने से दुगने तिगुने बड़े पुरुष से।
यूनिसेफ के 2013 के आंकड़ों के मुताबिक बाल विवाह का सबसे ज्यादा प्रतिशत नाइजर में है, जहां 75 फीसदी लड़कियों की शादी 18 से कम उम्र में हो जाती है। यमन में हाल ही में एक बच्ची का नादा अल अहद का मामला सुर्खियों में आया था जो बूढ़े व्यक्ति से शादी होने की आशंका से घर से भाग गई थी और मां बाप से कहा कि शादी करने की बजाय वह जान देना पसंद करेगी। जिन लड़कियों की बचपन में शादी हो जाती है वह स्कूल नहीं जा पाती। अल्पायु में गर्भ धारण करने पर प्रसव के दौरान होने वाली जटिलताओं के कारण वे जान खो देती हैं।
भारत में बाल विवाह प्रथा रोकने के प्रयास में राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक एवं हिमाचल प्रदेश राज्यों ने क़ानून पारित किए हैं जो प्रत्येक विवाह को वैध मानने के लिए उसका पंजीकरण आवश्यक बनाते हैं।  बच्चों के लिए राष्ट्रीय कार्य योजना 2005 के अनुसार (भारत के महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्रकाशित) 2010 तक बाल विवाह को पूर्ण रूप से समाप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
 

अन्य पोस्ट

Comments