खेल

मोहम्मद सिराज की ये आग कब बनेगी शोले
22-Oct-2020 3:47 PM 25
मोहम्मद सिराज की ये आग कब बनेगी शोले

आईपीएल में बुधवार को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच मुक़ाबला था. कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम इस मैच में बुरी फँसी. इस आईपीएल में टीम की ये सबसे बुरी हार थी. और उनकी ज़ख़्मों पर सबसे ज़्यादा नमक लगाया मोहम्मद सिराज ने.

आईपीएल के सबसे महंगे गेंदबाज़ों में से एक रहे सिराज के लिए ये मैच एक सपने की तरह था. किसी भी गेंदबाज़ के लिए ये सपना ही हो सकता है, जब वो दो ओवर में बिना कोई रन दिए तीन विकेट झटक ले.

सिराज एक के बाद एक रिकॉर्ड बना रहे थे और उनके कप्तान विराट कोहली की ख़ुशी देखते ही बन रही थी. दूसरी ओर कोलकाता नाइट राइडर्स के कैंप में हाहाकार मचा हुआ है. एक एक विकेट बचाने को तरस रही टीम ने इस आईपीएल के पॉवर प्ले में सबसे कम स्कोर किया.

तीन ओवर में दो रन, दो मेडन, तीन विकेट
पॉवर प्ले जब ख़त्म हुआ तो कोलकाता का स्कोर था चार विकेट पर 17 रन. इनमें से तीन विकेट सिराज ने चटकाए थे. आईपीएल के इतिहास में अभी तक किसी गेंदबाज़ ने एक मैच के दौरान दो मेडन ओवर नहीं फेंके थे. सिराज ने जब अपना पहला स्पेल ख़त्म किया था, तो उन्होंने तीन ओवर में दो रन देकर तीन विकेट झटके थे.

कप्तान विराट कोहली के लिए इससे बड़ी बात क्या हो सकती थी. इस आईपीएल में दिल्ली के साथ ख़िताब की तगड़ी दावेदार विराट की टीम के लिए ये मैच बहुत ही आसान साबित हुआ. विराट कोहली ने आबूधाबी की विकेट को देखते हुए गुरकीरत मान सिंह की जगह सिराज को मौक़ा दिया.

क्रिस मॉरिस के साथ उन्होंने गेंदबाज़ी का मोर्चा संभाला. नई गेंद से बॉलिंग करने की उनकी उम्मीद कप्तान कोहली ने पूरी की, जब उन्होंने मैच का दूसरा ओवर उन्हें थमाया. हालाँकि विराट कोहली ने स्वीकार किया कि वे दूसरा ओवर वॉशिंगटन सुंदर को देना चाहते थे, लेकिन आख़िरी समय में उन्होंने अपना फ़ैसला बदला और सिराज को गेंद थमाई. शायद कोहली का ये फ़ैसला विकेट में स्विंग को देखते हुए था.

"मियाँ रेडी हो जाओ"
मैच के बाद सिराज ने कप्तान कोहली का शुक्रिया अदा किया और कहा कि नई गेंद से काफ़ी प्रैक्टिस कर रहे थे. दूसरे ओवर के लिए गेंद थमाते हुए कप्तान कोहली ने उनसे कहा- मियाँ रेडी हो जाओ.

और सिराज ने अपने कप्तान को निराश नहीं किया. सिराज ने अपने पहले ओवर की तीसरी गेंद पर राहुल त्रिपाठी को आउट किया और अगली ही गेंद पर नीतीश राणा को बोल्ड कर दिया. सिराज का ये ओवर डबल विकेट मेडन रहा और उस समय कोलकाता का स्कोर था दो विकेट पर तीन रन.

अपने अगले ओवर में सिराज ने टॉम बैंटन को चलता किया और कोलकाता के बल्लेबाज़ों को एक रन भी नहीं लेने दिया. यानी दो ओवर के बाद वे बिना कोई रन दिए तीन विकेट ले चुके थे.
मैच के शुरू में ही बैक फ़ुट पर आ चुकी कोलकाता की टीम संकट से उबर नहीं पाई और 20 ओवर में आठ विकेट पर 84 रन ही बना पाई. बैंगलौर ने ये मैच आसानी से आठ विकेट से जीत लिया. पिछले सप्ताह भी बैंगलौर ने कोलकाता को 82 रनों के बड़े अंतर से मात दी थी.

सिराज का करियर
मोहम्मद सिराज ने अपने इस प्रदर्शन से राष्ट्रीय टीम के चयनकर्ताओं के सामने अपनी दावेदारी मज़बूती से पेश की है. भारत को अगले महीने ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जाना है. मोहम्मद सिराज आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के सबसे महंगे गेंदबाज़ों में से एक रहे हैं.

इस मैच से पहले आईपीएल में सिराज की इकॉनोमी रेट 9.29 थी. लेकिन कोलकाता के ख़िलाफ़ मैच ने सब धो दिया. 26 साल के हैदराबाद के रहने वाले मोहम्मद सिराज अब चयनकर्ताओं का दरवाज़ा खटखटा रहे हैं.

सिराज का जन्म हैदराबाद में हुआ था और उनके पिता एक ऑटोरिक्शा ड्राइवर थे. 2015 में उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट से अपने करियर की शुरुआत की थी. उस साल वे हैदराबाद की ओर से रणजी ट्रॉफ़ी मैच में खेले थे.

रणजी ट्रॉफ़ी के 2016-17 के सीज़न में वे हैदराबाद की ओर से सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ थे. उन्होंने उस सीज़न में 41 विकेट लिए थे.
वर्ष 2017 में उनकी एंट्री आईपीएल में हुई, जब सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें 2.6 करोड़ में ख़रीदा. लेकिन 2018 में वे रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर की टीम में आ गए और तब से वे बैंगलौर टीम का हिस्सा हैं.

अक्तूबर 2017 में उन्हें राष्ट्रीय टीम में जगह मिली. उन्हें न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ टी-20 मैचों की सिरीज़ के लिए टीम में जगह दी गई. उन्होंने अपना पहला टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ खेला और उस मैच में उन्होंने केन विलियम्सन का विकेट लिया. लेकिन मैच में वे काफ़ी महंगे साबित हुए और चार ओवर में कुल 53 रन देकर एक विकेट लिया.
2018 में उन्हें वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ टेस्ट टीम में जगह मिली, लेकिन टेस्ट खेलने का मौक़ा नहीं मिला. इसी साल उन्हें ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ वनडे सिरीज़ में टीम में जगह मिली. उन्होंने एक मैच भी खेला.

ये उनका एकमात्र एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच है. एडिलेड में हुए इस मैच में कप्तान विराट कोहली के शतक की बदौलत भारत ये मैच जीत तो गया, लेकिन सिराज काफ़ी महंगे साबित हुए और उन्हें कोई विकेट भी नहीं मिल पाया. उन्होंने 10 ओवर में 76 रन दिए. वे उस मैच में भारतीय गेंदबाज़ों में सबसे महंगे साबित हुए थे.

सराहना और उम्मीद
अब आईपीएल में कोलकाता के ख़िलाफ़ मैच में बेहतरीन प्रदर्शन करके सिराज ने भारतीय टीम में जगह बनाने की उम्मीद बढ़ाई है. इस मैच के बाद सोशल मीडिया पर उनकी जम कर सराहना हो रही है.

जानकार बता रहे हैं कि सिराज अपने पुराने प्रदर्शन की नाकामी को भुला कर भारतीय टीम में ज़रूर जगह बनाना चाहेंगे.
सिराज की ख़ासियत है उनकी स्विंग बॉलिंग. ऑस्ट्रेलिया की तेज़ पिच पर सिराज भारतीय टीम के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं. (bbc.com/hindi)

अन्य पोस्ट

Comments