सामान्य ज्ञान

भारत में समुद्री विमान सेवा
27-Feb-2021 2:39 PM 52
भारत में समुद्री विमान सेवा

मारीटाइम एनर्जी हेली सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड (मीहेयर) ने  वर्ष 2011 में  भारत में समुद्री विमान सेवा की शुरुआत की थी। यह सेवा फिलहाल अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में काम कर रही है।  हालांकि केरल में पहली समुद्री विमानसेवा का शुभारंभ किया गया था, लेकिन साल 2013 में इसे स्थानीय मछुआरों के विरोध के कारण बंद कर देना पड़ा।
अब मीहेयर ने महाराष्ट्र पर्यटन विकास निगम (एमटीडीसी) के साथ मिलकर इस राज्य में भी समुद्री विमान सेवा की शुरुआत 24 फरवरी 2014 को की है। भारत में यह अपनी तरह की पहली सेवा है जो मुंबई के जुहू एयरपोर्ट को राज्य के पर्यटन स्थलों से जोड़ेगी।  अपने पहले चरण में, मीहेयर की योजना एम्वे वैली लेक, मूला दम, पवन दम (लोनावला), वरसगांव डैंम (लवासा) और धूम डैम को जूहू एयरपोर्ट से जोडऩे की है। ये सभी जगहें मुंबई से 30 मिनट की उड़ान दूरी पर स्थित हैं। अपने दूसरे चरण में, मीहेयर की योजना महाराष्ट्र के पांच और जगहों को जोडऩे की है। अप्रैल 2014 में मीहेयर ने नौ सीटों वाली सेसना  208 एंफीबियन एयरक्राफ्ट के साथ पहले से मौजूद चार सीटों वाली सेसना  206 एंफीबियन एयरक्राफ्ट हासिल कर लेगा। समुद्री विमान सेवा का किराया नरीमन प्वांइट से 750 रुपये जबकि दूसरी जगहों से 4 हजार रुपयों से लेकर साढ़े चार हजार रुपयों के बीच होगा।
 

अन्य पोस्ट

Comments