ताजा खबर

बड़ा फैसला: यूपी में धार्मिक स्थलों पर एक साथ पांच लोगों से अधिक के प्रवेश पर बैन, जानें और क्या है निर्देश
11-Apr-2021 10:52 AM (44)
बड़ा फैसला: यूपी में धार्मिक स्थलों पर एक साथ पांच लोगों से अधिक के प्रवेश पर बैन, जानें और क्या है निर्देश

लखनऊ. प्रदेश में तेजी से फ़ैल रेक कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है. ब प्रदेश के किसी भी धार्मिक स्थलों पर एक साथ पांच से अधिक लोगों के प्रवेश की अनुमति नहीं होगी. मस्जिद, गुरुद्वारा या चर्च में अब एक साथ सिर्फ पांच लोग ही प्रवेश कर सकेंगे. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जनपद लखनऊ में कोविड-19 के उपचार के लिए एल-2 एवं एल-3 के पर्याप्त बेड की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये. उन्होंने कहा है कि लखनऊ में तत्काल कम से कम 2 हजार आईसीयू बेड की व्यवस्था की जाए, इसके बाद अगले एक सप्ताह में 02 हजार अतिरिक्त कोविड बेड का प्रबन्ध भी किया जाए.

जिलाधिकारी को जनपद लखनऊ के सभी कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की निरन्तर आपूर्ति सुनिश्चित कराने के भी निर्देश दिए. साथ ही एरा मेडिकल काॅलेज, टीएस मिश्रा मेडिकल काॅलेज तथा इण्टीग्रल मेडिकल काॅलेज को पूर्ण रूप से डेडीकेटेड कोविड अस्पताल के रूप में परिवर्तित किया गया है. बलरामपुर अस्पताल में 300 बेड का डेडीकेटेड कोविड अस्पताल 11 अप्रैल को सुबह से कार्यशील हो जाएगा. डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में परिवर्तित किये जा रहे तीनों मेडिकल काॅलेजों तथा बलरामपुर चिकित्सालय में ट्रेंड मैनपावर की व्यवस्था के साथ ही, वेंटीलेटर एवं एचएफएनसी की उपलब्धता सुनिश्चित किये जाने के निर्देश भी दिए गए हैं.

लखनऊ में व्यापक काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग के निर्देश

लखनऊ में व्यापक काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग करने को कहा गया है. संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आए हुए कम से कम 30 से 35 लोगों को टेस करते हुए इनका शत-प्रतिशत कोविड टेस्ट किया जाएगा. इसके साथ ही लखनऊ में प्रत्येक गांव तथा हर नगर निकाय के प्रत्येक वाॅर्ड में निगरानी समितियों को सक्रिय करने को कहा गया है. मण्डलायुक्त जनपद लखनऊ में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन तथा फाॅगिंग की कार्यवाही व्यापक पैमाने पर करायें. पुलिस आयुक्त लखनऊ में पब्लिक एड्रेस सिस्टम को प्रभावी ढंग से संचालित करायें. धर्म स्थलों में 05 से अधिक लोगों को एक साथ प्रवेश की अनुमति न दी जाए. बाजारों में व्यापारियों से संवाद बनाकर उनका सहयोग लेते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाए. मास्क का प्रयोग न करने वालों के विरुद्ध प्रवर्तन की कार्यवाही की जाए, यह कार्यवाही सद्भावपूर्ण एवं प्रेरक होनी चाहिए. लखनऊ में कंटेनमेन्ट जोन में आवागमन को प्रतिबन्धित किया जाए. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments