सोशल मीडिया

प्रकाश राज को घेर लोगों ने लगाए मोदी-मोदी के नारे, चिल्लाने लगे- भारत हिंदुओं का है

Posted Date : 14-Apr-2018



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अक्सर हमलावर रहने वाले अभिनेता प्रकाश राज को असहज स्थितियों का सामना करना पड़ा। प्रकाश 12 अप्रैल को गुलबर्ग (कर्नाटक) गए हुए थे, जहां कुछ लोगों ने उनकी कार को घेर कर मोदी-मोदी के नारे लगाने लगे थे। अभिनेता ने ट्वीट किया, देखिए गुरुवार रात को भाजपा और मोदी भक्त गुलबर्ग में किस तरह उपद्रवियों की तरह व्यवहार कर रहे थे। जोकरों का पूरा समूह इक_ा था। क्या आपलोग बातचीत में विश्वास नहीं करते हैं आपलोग सोचते हैं कि आप मुझे आतंकित कर सकते हैं क्या आप जानते हैं कि इस तरह आप सही मायनों में मुझे और मजबूत कर रहे हैं। भीड़ में शामिल लोग 'भारत हिंदुओं का है, भारत हिंदुओं का हैÓ भी चिल्लाने लगे थे। 
प्रकाश राज मोदी सरकार की योजनाओं और कार्यशैली की कड़ी आलोचना करते रहे हैं। दक्षिण के बाद बॉलीवुड में भी सफलता के झंडे गाडऩे वाले प्रकाश राज ने जनवरी में कहा था कि वह देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को हिंदू नहीं मानते हैं। उन्होंने एक टीवी कार्यक्रम में कहा था कि जो कोई भी हत्या और हिंसा की बात करता है, उन्हें वह हिंदू नहीं मानते हैं। वह भाजपा सांसद प्रताप सिम्हा को कानूनी नोटिस तक भिजवा चुके हैं।
प्रकाश राज के साथ इस व्यवहार की लोगों ने कड़ी आलोचना की है। एक व्यक्ति ने ट्वीट किया, यह हमारे देश में बेरोजगारी की इंतहा को दिखाता है। संदीप मिश्रा ने लिखा, जैसी करनी वैसी भरनी। अभीजित ने ट्वीट किया, यह बेहद शर्मनाक है। अपने विचारों के लिए आपको जिन कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है उसको लेकर मुझे बहुत दुख होता है। शम्मी भगत ने लिखा, विनाश काले विपरीत बुद्धि। पुष्पेंद्र शुक्ला ने लिखा, डरना नहीं है सर। हमलोग हमेशा आपको प्यार करते रहेंगे। संतोष ने ट्वीट किया, क्या आपको पता है कि आप वास्तव में भाजपा को मजबूत कर रहे हैं।
पिछले कुछ महीनों में प्रकाश राज पीएम मोदी की नीतियों के मुखर विरोधी रहे हैं। पीएम मोदी का विरोध करने के लिए प्रकाश राज पर बीजेपी सांसदों ने हमले किये हैं। प्रकाश राज ने जब गौरी लंकेश मर्डर पर पीएम मोदी की चुप्पी को लेकर सवाल उठाया तो प्रताप सिम्हा ने कहा कि प्रकाश राज तब कहां थे जब हिन्दू संगठनों से जुड़े 12 लोगों की हत्या कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि वे कर्नाटक का हितैषी बनने का दावा करते हैं, क्या उन्होंने कावेरी विवाद पर एक भी शब्द कहा है। (जनसत्ता)




Related Post

Comments