धमतरी

सीएम भूपेश बघेल की न्यायप्रियता अनुकरणीय और वंदनीय-पत्रकार ज्याउल हुसैनी
11-Sep-2021 6:12 PM (72)
सीएम भूपेश बघेल की न्यायप्रियता अनुकरणीय  और वंदनीय-पत्रकार ज्याउल हुसैनी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
धमतरी, 11 सितंबर। 
अपने पिता नंद कुमार बघेल द्वारा एक वर्ग विशेष के संदर्भ में कथित विवादित बयान के प्रकरण में और उनकी गिरफ्तारी के संबंध में प्रारंभ से लेकर अब तक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिस स्पष्टवादिता और बिना किसी लाग- लपेट के निष्पक्षता पूर्वक मीडिया के माध्यम से अपनी बात कही है वह इस तथ्य को सिद्ध करती है कि मुख्यमंत्री बघेल न्याय प्रिय एवं न्याय के पक्षधर हैं।

 प्रेस को जारी विज्ञप्ति के माध्यम से वरिष्ठ पत्रकार ज्याउल हुसैनी ने कहा कि अपने पिताश्री के कथित विवादित बयान के बाद सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से यह जानकारी मुख्यमंत्री बघेल को हुई कि उनके पिता द्वारा एक वर्ग विशेष के खिलाफ कुछ विवादित टिप्पणी की गई है उस दिन से ही न्याय पर मुख्यमंत्री बघेल ने बड़े संयमित और निष्पक्ष रुप से यह कहा कि एक पुत्र के रूप में मैं उनका सम्मान करता हूं लेकिन एक मुख्यमंत्री के रूप में उनकी किसी भी गलती को मैं माफ नहीं कर सकता जो सार्वजनिक व्यवस्था समरसता को बिगाडऩे वाली हो उनकी सरकार सभी को एक दृष्टि से देखती है उनकी सरकार में कोई भी कानून से ऊपर नहीं है फिर चाहे उनके वयोवृद्ध पिता ही क्यों ना हो वरिष्ठ पत्रकार हुसैनी ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का उपरोक्त कथन उस समय चरितार्थ हो गया जब छत्तीसगढ़ के पुलिस प्रशासन ने डीडी नगर थाने में पंजीबद्ध किए गए मामले के आधार पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता श्री नंद कुमार बघेल की गिरफ्तारी की मुख्यमंत्री के पिता श्री की गिरफ्तारी के पहले सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से यह कहा जा रहा था कि नंद कुमार बघेल पर इसलिए कोई कार्यवाही नहीं होगी क्योंकि वह मुख्यमंत्री के पिता हैं पत्रकार हुसैनी ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि मुख्यमंत्री अपने उच्च संस्कारों और न्याय प्रियता के चलते उन तमाम बातों को निर्मूल साबित कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि उनके पिता के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं होगी क्योंकि उनके पुत्र मुख्यमंत्री हैं मुख्यमंत्री बघेल की न्याय प्रियता स्पष्ट वादीता और पारदर्शिता प्रदेश और देश के नेताओं और नागरिकों के लिए एक अनुकरणीय और वंदनीय है7मुख्यमंत्री ने एक मिसाल कायम कर अपनी और अपने शासन की सोच को स्पष्ट तौर पर उजागर कर दिया है अपने पिताश्री के प्रकरण में ना तो मुख्यमंत्री ने और ना उनकी सरकार ने किसी प्रकार का कोई हस्तक्षेप नहीं किया या महत्वपूर्ण और प्रशंसनीय है प्रत्येक मुख्यमंत्री और उनकी सरकार को छत्तीसगढ़ की बघेल सरकार का अनुसरण करना चाहिए7राजनीति के इतिहास में यह अमिट अक्षरों में दर्ज होगा कि छत्तीसगढ़ का एक न्याय प्रिय और कानून की नजर में सबको सबको एक मानने वाला मुख्यमंत्री सत्ता की ताकत होने के बावजूद अपने वायोवृध्द पिता को गिरफ्तारी से बचाने रंज मात्र भी किसी स्तर पर कोई हस्तक्षेप नहीं किया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की न्यायप्रियता और स्पष्ट वादिता को नमन करते हुए वरिष्ठ पत्रकार ने उन्हें निम्न पंक्तियां समर्पित की हैं.... यूं ही दुनिया में कोई इज्जत और शोहरत नहीं पाता.....
 बशर को खिदमते मुल्कों मुमताज करती है ....
भूपेश बघेल इंसाफ के वो नमूने हैं ....
कि जिस इंसान पर इंसानियत भी नाज़ करती हैं7
 

अन्य पोस्ट

Comments