सरगुजा

गंगापुर शराब दुकान का शटर गिराकर महिलाओं ने किया तालाबंदी
11-Sep-2021 10:02 PM (63)
गंगापुर शराब दुकान का शटर गिराकर महिलाओं ने किया तालाबंदी

  प्रशासन ने नवंबर तक मोहलत मांगी   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अंबिकापुर, 11 सितंबर। नगर के गंगापुर स्थित शासकीय शराब दुकान को हटाए जाने को लेकर एक बार फिर क्षेत्र की महिलाओं ने हल्ला बोल दिया है। वार्ड की बड़ी संख्या में महिलाएं शराब दुकान हटाए जाने की मांग को लेकर समाज सेवी संस्था के साथ शनिवार को शराब दुकान के सामने रैली की शक्ल में पहुंची और शराब दुकान का शटर गिराकर तालाबंदी कर दिया। महिलाएं शराब दुकान के सामने बैठकर जमकर नारेबाजी करने लगी। काफी देर तक शराब दुकान बंद रही। सूचना पर एसडीएम और तहसीलदार मौके पर पहुंचे थे महिलाओं ने प्रशासन के सामने शराब दुकान के वहां से हटाने की मांग की। एसडीएम ने महिलाओं की मांग को शांति समिति की बैठक में रखने की बात कही। उन्होंने नवंबर तक का समय मांगा। आश्वासन के बाद आंदोलन समाप्त किया गया।

गौरतलब है कि नगर के गंगापुर में भाजपा शासन के दौरान शराब दुकान स्थापित करने प्रशासन और पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी थी। लोगों ने विरोध शुरु किया तो डंडे के बल पर रातोंरात मकान बना शराब दुकान खोल दी गई। शराब दुकान खुलने के बाद गंगापुर क्षेत्र में अशांति का वातावरण निर्मित हो गया है। पास में ही रोजगार दफ्तर होने के कारण बड़ी संख्या में युवक-युवतियां पहुंचते हैं जिन्हें खुलेआम शराब दुकान के आसपास शराब पीने वाले लोगों के द्वारा परेशान भी किया जाता है। शराब दुकान में सिर्फ शराब बिक्री होती है, किन्तु यहां खुलेआम बैठकर लोग शराब सेवन कर रहे हैं। और तो और बड़ी संख्या में चखना की दुकान भी यहां खुल गयी है यहां भी बैठकर लोग शराब पीने लगे हैं। कुल मिलाकर पूरा इलाका अशांत हो गया है।

महिलाओं ने बताया कि लगभग ढाई सौ घरों में रहने वाले लोगों के लिए पिछले कुछ वर्षों से शासकीय शराब दुकान मुसीबत बन गई है। लगातार विरोध के बाद भी शराब दुकान को अन्यत्र स्थापित नहीं किया जा रहा है। मोहल्ले में शराब दुकान संचालित होने से आए दिन असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है। लोग गाली-गलौज करते रहते हैं। महिलाओं का घर से निकलना मुश्किल हो गया है। महिलाओं ने अतिशीघ्र उक्त शराब दुकान हटाए जाने की मांग की है इसे लेकर कुछ दिन पूर्व गंगापुर के महिलाओं ने कलेक्टोरेट में ज्ञापन भी सौंपा था यही नहीं घड़ी चौक पर महिला के द्वारा आंदोलन भी किया गया था। स्थानीय महिलाओं और समाजसेवी संस्था ने 11 सितंबर को शराब दुकान के सामने आंदोलन और तालाबंदी किए जाने की बात कही थी। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शनिवार को भारी संख्या में क्षेत्र की महिलाएं और समाजसेवी संस्था के लोग गंगापुर शराब दुकान रैली निकालते हुए पहुंचे और जमकर नारेबाजी की महिलाओं ने शराब दुकान का शटर बंद कर ताला लगा दिया। शराब दुकान वहां से हटाने को लेकर महिलाएं डटी रही शराब दुकान के सामने महिलाएं घंटों बैठी रही।

पूर्व में ही दी थी आंदोलन की चेतावनी

गंगापुर के शासकीय शराब दुकान को अन्यत्र हटाए जाने की मांग स्थानीय महिलाओं और समाजसेवी संस्थाओं ने पूर्व में ही आंदोलन की चेतावनी दी थी।

महिलाओं ने यह भी कहा था कि यदि शराब दुकान जल्द से जल्द स्थानांतरित नहीं किया गया तो आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। कई ज्ञापन और विरोध के बाद शराब दुकान हटाने की कार्यवाही नहीं हुई जिस पर आक्रोशित महिलाओं ने आज शराब दुकान का शटर बंद करने का काम किया।

अन्य पोस्ट

Comments