बीजापुर

मांगों को ले किसानों ने निकाली रैली राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन
20-Oct-2021 8:56 PM (43)
  मांगों को ले किसानों ने निकाली रैली राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भोपालपटनम, 20 अक्टूबर। आज भोपालपटनम तहसील के किसान मोर्चा के अध्यक्ष अल्वा मदनैया के नेतृत्व में 20 सूत्रीय मांगों को लेकर विशाल किसान रैली का आयोजन किया गया।

इस रैली के लिए भोपालपटनम के पुराना बाँस डिपो में क्षेत्र के किसान और ब्लॉक के 36 पंचायत के सरपंच, पंच, ग्रामीण एकत्रित होकर सभा का आयोजन किया। किसान संघ के पदाधिकारियों ने क्षेत्र के किसानों को होने वाली समस्याओं को लेकर केंद्र व राज्य सरकार पर हमला बोला और सभा के बाद रैली के रूप में नेशनल हाइवे- 63 से निकलते हुए हाईस्कूल तक  नारे लगाते हुए पहुँचे।

किसान एकता जिंदाबाद, कृषि कानून वापस लो,  जल जंगल जमीन हमारा है,  पेट्रोल-डीजल की महंगाई को कम करो  जैसे नारे लगाते हुए राज्यपाल के नाम 20 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) को सौंपा गया।

 रैली में भोपालपटनम तहसील के तिमेड़ क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य बसंत राव टाटी, जिला सांसद प्रतिनिधि कामेश्वर राव गौतम, जनपद पंचायत के अध्यक्ष निर्मला मरपल्ली, तिमेड़ क्षेत्र के जनपद सदस्य सुनील गुरला, सरपंच संघ के ब्लाक अध्यक्ष अशोक मढ़े, हजारों की संख्या में ग्रामीण किसान उपस्थित थे।

 किसान संघ ने अपने 20 सूत्रीय मांगों में उल्लेख किया है कि  तीन कृषि कानूनों को निरस्त किया जाए,  जल- जंगल  जमीन पर हम आदिवासियों का हक व अधिकार है।

कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों को दिया जाने वाला धान का समर्थन मूल्य प्रति क्विंटल 2500 रुपये नगद दिया जाए,  जिला प्रशासन द्वारा 7 अगस्त 2021 को उसूर तहसील के अन्तर्गत ग्राम लँकापल्ली जलप्रपात को पर्यटन स्थल घोषित किया गया, जिसे तत्काल बंद किया जाए,  भोपालपटनम तहसील के अंतर्गत ग्राम कुचनूर एवं धनगोल खदानों से बहुमूल्य खनिज कोरण्डम को बचाये जाए,  भोपालपटनम तहसील के अंतर्गत ग्राम पोषड़पल्ली सकलनारायन गुफा  पहाड़ तथा तारुड नदी पर चिन्ना बोई एवं पेद्दा बोई जलप्रपात को पर्यटन स्थल घोषित न किया जाए, बेगुनाह ग्रामीणों को वारंटी नक्सली बताकर जबरन कर जेल भेजना बन्द किया जाए, ग्रामीणों को गिरफ्तार करने वाले दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किया जाए,  भोपालपटनम तहसील के अंतर्गत इंद्रावती नदी व चिंतावागु नदी से रेत टेंडर लेकर जनता को लूटने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाए, भोपालपटनम तहसील के अंतर्गत नए पुलिस कैम्प न खोला जाए, स्थानीय युवाओं को बस्तर बटालियन महिला पेंथर्स में भर्ती न किया जाए, शिक्षित बेरोजगार युवक य युवतियों को शिक्षक, डॉक्टर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जैसे नौकरियों को दिया जाए,  डीजल पेट्रोल सहित आवश्यक वस्तुओं पर लगातार बढ़ती महंगाई को कम किया जाए , किसानों को समय पर खाद-बीज की आपूर्ति किया जाए,  किसानों की आकस्मिक मृत्य को बाद बीमा राशि 25 लाख रुपये भुगतान किया जाए, दन्तेवाड़ा जिले के बैलाडीला पहाड़ खदान तथा बीजापुर जिले के भोपालपटनम तहसील अन्तर्गत कुचनूर एवं धनगोल में स्थित बहुमूल्य खनिज संपदा के उत्खनन पर रोक लगाए जाए, एड़समेटा एवं सिलगेर फर्जी मुठभेड़ों में हुए नरसंहार में शामिल दोषी पुलिस अधिकारियों व जवानों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई किया जाए, बंद समस्त स्कूल आश्रम शालाओं को पुन: प्रारम्भ किया जाए,  कोरोना पीडि़तों को मुफ्त में इलाज किया जाए आदि मांगें हैं।

अन्य पोस्ट

Comments