कोण्डागांव

राज्य में कानून व्यवस्था ध्वस्त, सरकार मौन-लता उसेंडी
21-Oct-2021 9:19 PM (34)
   राज्य में कानून व्यवस्था ध्वस्त, सरकार मौन-लता उसेंडी

कोण्डागांव, 21 अक्टूबर। स्थानीय नगर  विश्राम गृह में प्रेस वार्ता के दौरान पत्रकारों से रूबरू होकर भाजपा राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य व छत्तीसगढ़ प्रदेश उपाध्यक्ष लता उसेंडी ने राज्य सरकार को आड़े हाथों लेते कई गंभीर आरोप लगाए ।

 उन्होंने कहा कि पत्थलगांव की हृदयविदारक घटना इस बात की तस्दीक कर रही है कि यह घटना राज्य में सरकारी संरक्षण में पूरी तरह बेलगाम हो चुके नशे के कारोबार की वजह से हुआ है। शराब व मादक पदार्थों की तस्करी और गोरखधंधे में कई हिस्ट्रीशीटर्स की खुली संलिप्तता छत्तीसगढ़ में बढ़ते अपराध और नशे के क़ारोबार में चोली.दामन के रिश्ते को रेखांकित करने के लिए पर्याप्त है और प्रदेश सरकार इसे अनदेखा कर रही है। नशे के इन क़ारोबारियों का नेटवर्क फैला हुआ है और तमाम क़ारोबारी सत्ता.संरक्षण में बेख़ौफ़ छत्तीसगढ़ की किशोर व युवा पीढ़ी को नशाखोरी की साजिशों का शिकार बना रहे हैं। नशाखोरी और मादक पदार्थों के इस खुलेआम चल रहे गोरखधंधे ने प्रदेश की क़ानून.व्यवस्था को ध्वस्त कर अपराधों का ग्राफ़ बढ़ाया है, लेकिन प्रदेश सरकार और कांग्रेस के लोग आँखें मूंदे बैठे हैं।  तमाम मादक पदार्थ अब छत्तीसगढ़ में आसानी से सुलभ होना और प्रदेश की राजधानी में इनकी सबसे अधिक खपत बेहद चिंताजनक है ।

 लता उसेंडी ने प्रेसवार्ता के माध्यम से मांग की है कि पत्थलगांव और कवर्धा आदि मामले की निष्पक्ष न्यायिक जांच हो। प्रदेश में कांग्रेस के सहयोग और संरक्षण मे चल रही तस्करी गतिविधियों पर तुरंत लगाम लगाई जाए। तस्करों के खिलाफ विशेष अभियान चलाते हुए एसआईटी- एसटीएफ का गठन हो। इसके अलावा सिलगेर के प्रकरण सहित किसानों मजदूरों आदि की आत्महत्या के हर मामले में लखीमपुर की तर्ज पर तुरंत सहायता राशि दी जाए।

प्रेसवार्ता में भाजपा जिला अध्यक्ष दिपेश अरोरा नगर पालिका अध्यक्ष हेम कुवर पटेल, जितेंद्र सुराना, जसकेतु उसेंडी, रौनक दीवान, सोनामणि पोयाम, ललित देवांगन, नागेश देवांगन, विकास दुआ, विक्की रवानी, महेंद्र पारख, बंटी नाग व अन्य मौजूद रहे ।

अन्य पोस्ट

Comments