बीजापुर

फर्जी निवासी प्रमाण पत्र से नौकरी, विरोध में उतरे बेरोजगार युवा
28-Oct-2021 9:26 PM (49)
फर्जी निवासी प्रमाण पत्र से नौकरी, विरोध में उतरे बेरोजगार युवा

कलेक्टर से जांच की मांग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 28 अक्टूबर।
स्थानीय भर्तियों में बाहरी राज्य के अभ्यर्थियों द्वारा फर्जी निवास प्रमाण पत्र बनाकर शासकीय भर्तियों में शामिल होने को लेकर स्थानीय युवाओं ने आवाज बुलंद कर इसका विरोध किया है। साथ ही कलेक्टर से मिलकर युवाओं ने अपनी मांगें रखी।

फूलचंद गागड़ा व गोलू नाग के नेतृत्व में गुरुवार को सैकड़ों बेरोजगार युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय पहुंच स्थानीय भर्तियों में हो रही फर्जी निवास मामले को लेकर कलेक्टर को अवगत कराया, साथ ही विभागों की विभिन्न स्थानीय भर्तियों में प्रशासन की ओर से विशेष समिति बनाकर निवास प्रमाण पत्र की जांच करने की बात कही है।

युवाओं की ओर से कहा गया है कि जिले में होने वाली स्थानीय भर्तियों में बाहरी राज्य व जिले के लोग फर्जी तरीके से निवास बनाकर काम में लग जाते हैं। जहां स्थानीय युवा रोजगार से वंचित हो जाते हैं।

फूलचंद गागड़ा ने कलेक्टर से मांग रखी कि जिले में किसी भी प्रकार की शासकीय भर्तियां होती है, इसमें भर्ती से पूर्व प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की जाये। इस पर कलेक्टर राजेन्द्र कटारा ने किसी भी प्रकार की भर्तियों में प्रशिक्षण व्यवस्था जिला प्रशासन की ओर से किये जाने की बात कही है। साथ ही निवास प्रमाण पत्र जांच में पारदर्शिता लाये जाने की विषय पर संबंधित भर्ती विभागों से चर्चा कर ठीक करने की बात कही।

कलेक्टर राजेन्द्र कटारा ने युवाओं के साथ लंबे समय तक चर्चा की और अन्य विषयों को भी जाना। कलेक्टर को युवाओं ने धन्यवाद ज्ञापित कर अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा। इस दौरान युवाओं के माध्यम के रूप में मिनन्त कुरसम, हितेश साहनी सहित बड़ी संख्या में बेरोजगार युवा मौजूद रहे।

अन्य पोस्ट

Comments