दन्तेवाड़ा

विश्व बाल दिवस में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा
21-Nov-2021 10:13 PM (51)
विश्व बाल दिवस में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा

 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

दन्तेवाड़ा, 21 नवंबर । विश्व भर में बच्चों के बीच अंतरराष्ट्रीय एकजुटता, जागरूकता को बढ़ावा देने और बच्चों के कल्याण में सुधार के लिए प्रतिवर्ष 20 नवंबर को सार्वभौमिक/विश्व बाल दिवस मनाया जाता है। 20 नवंबर एक महत्वपूर्ण तारीख है, क्योंकि 20 नवम्बर 1959 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने बाल अधिकारों की घोषणा को अपनाया था।

सार्वभौमिक/विश्व बाल दिवस 2021 हेतु जिला दंतेवाड़ा के सभी शालाओं में एक थीम तैयार कर  प्रत्येक बच्चे के लिए एक बेहतर भविष्य का निर्माण किया जा रहा है। बच्चे ही हमारा भविष्य हैं, और हमें ही यह सुनिश्चित करना होगा कि वे आने वाले समय में स्वास्थ्य और शिक्षा के साथ बेहतर जीवन जी सकें और उन्हें ऐसे अधिकार मिल सकें, जिससे आने वाले जीवन में स्वस्थ समाज और स्वस्थ संसार का हिस्सा बने रहे। बच्चों को उनके अधिकार देकर बेहतर राष्ट्र का निर्माण किया जा सकता है। विगत दो वर्षों से दुनिया कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण कोविड-19 महामारी से जूझ रही है। महामारी के अलावा लॉकडाउन और अन्य आर्थिक समस्याओं के कारण लोगों को बहुत से मानसिक और आर्थिक परेशानियों को सामना करना पड़ा है। बच्चों पर भी इसका बहुत विपरीत असर हुआ है। इस साल संयुक्त राष्ट्र ने थीम ‘हर  बच्चे के लिए बेहतर भविष्य’ रखी है।

वेबसाइट संस्था ने कहा है कि बच्चे अपनी पीढ़ी के मुद्दों पर आवाज उठा रहे हैं और व्यस्कों से बेहतर भविष्य निर्माण की मांग कर रहे हैं। दुनिया के महामारी से उबरने के समय जरूरी है कि हम उनको सुनें। विश्व बाल दिवस के अवसर पर एक दिन के लिये बच्चों ने विभिन्न पात्रों जैसे जिला शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवम बाल विकास विभाग, प्राचार्य, अन्य अधिकारी का पद का निर्वहन कर अपने कर्तव्य से लोगों को जागरूकता का संदेश दिया। यह कार्यक्रम कलेक्ट दीपक सोनी के निर्देशन में तथा जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा के नेतृत्व में एवं उनकी टीम के समन्वय से सभी शालाओं में एक दिन के लिये अधिकारी का दायित्व का कार्य किया गया।

अन्य पोस्ट

Comments